लुधियाना के विधायक सिमरजीत बैंस के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी, अगस्त 2020 में किया था कोविड-19 नियमों का उल्लंघन

अतिरिक्त चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट हरसिमरनजीत सिंह की अदालत ने कोविड-19 नियमों के उल्लंघन मामले में लोक इंसाफ पार्टी (लिप) के विधायक सिमरजीत सिंह बैंस के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किए हैं। विधायक बैंस और उनके समर्थकों ने अगस्त 2020 में पुलिस आयुक्त कार्यालय के बाहर धरना दिया था।

Vinay KumarPublish: Tue, 18 Jan 2022 10:20 AM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 11:04 AM (IST)
लुधियाना के विधायक सिमरजीत बैंस के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी, अगस्त 2020 में किया था कोविड-19 नियमों का उल्लंघन

लुधियाना [रजनीश लखनपाल]। अतिरिक्त चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट हरसिमरनजीत सिंह की अदालत ने कोविड-19 नियमों के उल्लंघन मामले में लोक इंसाफ पार्टी (लिप) के विधायक सिमरजीत सिंह बैंस के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किए हैं। विधायक और उनके भाई सुनवाई के दौरान पेश नहीं हो रहे थे। इस पर अदातल ने संज्ञान लिया है। विधायक बैंस और उनके समर्थकों ने अगस्त 2020 में पुलिस आयुक्त कार्यालय के बाहर धरना दिया था। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने कथित तौर पर मास्क नहीं पहना और शारीरिक दूरी का पालन नहीं किया था। जिला प्रशासन के आदेशों की कथित तौर पर सरेआम धज्जियां उड़ाई गईं थी। सुनवाई के दौरान विधायक बैंस और उनके भाई उपस्थित नहीं हुए। उनके वकील की ओर से दोनों की हाजिरी माफ करवाने के लिए अर्जी भी दायर की गई थी।

इसमें बताया था कि बैंस चंडीगढ़ गए हुए हैं इसलिए वह अदालत में पेश नहीं हो सकते हैं। इस दौरान अदालत के संज्ञान में यह बात भी लाई गई कि एक अन्य अदालत ने दुष्कर्म के केस में विधायक बैंस को भगोड़ा घोषित करने की कार्रवाई शुरू कर रखी है। वह उस अदालत में भी पेश नहीं हो रहे हैं। इस कारण अदालत ने विधायक की ओर से दायर हाजरी माफ की अर्जी कार खारिज कर दिया और उनकी जमानत को भी रद कर दिया। विधायक बैंस के खिलाफ 28 जनवरी के लिए गिरफ्तारी वारंट भी जारी करने के आदेश दिए हैं। हालांकि अदालत ने उनके भाई की अर्जी को स्वीकार कर लिया और उन्हें पेशी पर व्यक्तिगत रूप से छूट दे दी।

आचार संहिता व कोविड गाइडलाइन का उल्लंघन 200 अज्ञात लोगों पर केस

लुधियाना में चुनाव आचार संहिता और कोविड गाइडलाइन का उल्लंघन करने के आरोप में थाना जमालपुर की पुलिस ने मुंडियां इलाके के करीब 200 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। एएसआइ दलवीर सिंह ने बताया कि साहनेवाल क्षेत्र के चुनाव निर्वाचन अधिकारी एवं एसडीएम डा. विनीत कुमार के निर्देश पर यह केस दर्ज किया गया है। नौ जनवरी को मुंडियां कलां के 33 फुटा रोड इलाके में एक नुक्कड़ बैठक की गई थी।

Edited By Vinay Kumar

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept