मेडिकल कालेज बनने से पूरे दोआबा के लोगों को मिलेंगी सेहत सुविधाएं : शारदा

भाजपा की प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य एवं इंप्रूवमेंट ट्रस्ट कपूरथला के पूर्व चेयरमैन उमेश शारदा तथा भाजपा नेताओं ने विरासती शहर में मेडिकल कालेज बनाने सपना साकार होने पर खुशी जताई।

JagranPublish: Fri, 31 Dec 2021 01:54 AM (IST)Updated: Fri, 31 Dec 2021 01:54 AM (IST)
मेडिकल कालेज बनने से पूरे दोआबा के लोगों को मिलेंगी सेहत सुविधाएं : शारदा

संवाद सहयोगी, कपूरथला : भाजपा की प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य एवं इंप्रूवमेंट ट्रस्ट कपूरथला के पूर्व चेयरमैन उमेश शारदा तथा भाजपा नेताओं ने विरासती शहर में मेडिकल कालेज बनाने सपना साकार होने पर खुशी जताई। कहा, इस मेडिकल कालेज के बनने से अकेले कपूरथला ही नहीं बल्कि पूरे दोआबा क्षेत्र के लोगों को सेहत सुविधाओं का लाभ मिलेगा।

स्थानीय ग्रीन पार्क स्थित अपने आवास पर वीरवार को प्रेस कांफ्रेस में शारदा ने कहा कि कपूरथला वासियों की तरफ से लंबे समय से मेडिकल कालेज का देखा जा रहा सपना पांच जनवरी को पूरा होने जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पांच जनवरी को अपने फिरोजपुर आगमन के अवसर पर कपूरथला के मेडिकल कालेज का आनलाइन नींव पत्थर रखेंगे। इसके लिए उमेश शारदा ने प्रधानमंत्री के साथ-साथ भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख माडविया, केंद्रीय राज्यमंत्री सोम प्रकाश व भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अश्वनी कुमार का धन्यवाद किया। और कहा कि पांच जनवरी को प्रधानमंत्री का धन्यवाद करने के लिए कपूरथला से एक विशेष जत्था फिरोजपुर की रैली में शामिल होने के लिए जाएगा।इस अवसर पर भाजपा के लोकसभा विस्तारक मनु धीर, प्रदेश कार्यकारणी सदस्य शाम सुंदर अग्रवाल, जिला महासचिव एडवोकेट चंदर शेखर आदि खास तौर पर उपस्थित थे।

325 करोड़ रुपये होंगे खर्च

उमेश शारदा कहा कि 325 करोड़ की कुल लागत से बनने वाले इस मेडिकल कालेज के लिए केंद्र द्वारा 60 फीसदी व राज्य सरकार द्वारा 40 फीसद राशि खर्च की जानी है। इसके मद्देनजर केंद्र सरकार पहली किश्त के तौर पर 33 करोड़ रुपये भेज चुका है। इस मेडिकल कालेज में एमबीबीएस की डिग्री व डिप्लोमा के अलावा 500 बिस्तरों का अस्पताल भी होगा। शारदा कहा कि केंद्र सरकार द्वारा दो साल पहले घोषणा के बाद मेडिकल कालेज के लिए जिला प्रशासन को 33 करोड़ रुपये के फंड भेज दिया था, लेकिन पंजाब सरकार की उदासीनता के चलते अभी तक इस कालेज का नींव पत्थर भी नही रखा जा सका था।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept