धालीवाल के खिलाफ विरोधी खेमां हुआ लामबंद, प्रत्याशी बदलने की मांग

हलके से विधायक बलविदर सिंह को दोबारा पार्टी हाईकमान ने प्रत्याशी घोर्षित किया।

JagranPublish: Thu, 20 Jan 2022 10:12 PM (IST)Updated: Thu, 20 Jan 2022 10:19 PM (IST)
धालीवाल के खिलाफ विरोधी खेमां हुआ लामबंद, प्रत्याशी बदलने की मांग

अमित ओहरी, फगवाड़ा

हलके से विधायक बलविदर सिंह को दोबारा पार्टी हाईकमान ने प्रत्याशी बनाया है, जिससे नाराज कांग्रेस पार्टी के एक धड़े ने फगवाड़ा कांग्रेस बचाओ मंच के बैनर तले पलाही रोड पर स्थित एक होटल में जिला कांग्रेस समिति के कार्यकारी प्रधान दलजीत राजू दरवेश पिड की अगुआई में वीरवार को बैठक हुई। इसमें पंजाब प्रदेश कांग्रेस समिति के पूर्व महासचिव हरजीत सिंह परमार और डा. सुखवीर सिंह मानांवाली विशेष तौर पर शामिल हुए। इस मौके पर विधायक पर सवाल उठाते हुए प्रत्याशी बदलने की मांग की। वक्ताओं ने कहा कि वे पार्टी हाईकमान तक अपनी बात पहुंचाने के लिए बैठक रखी है। बयोवृद्ध नेता हरजीत सिंह परमार, डा. मानांवाली और दलजीत राजू ने कहा कि 2019 के उप चुनाव में जिन कांग्रेसी वर्करों ने 17 साल बाद हलके में पार्टी को रिकार्ड वोटों के साथ जिताया व बलविदर सिंह को विधायक बनाया, वहीं विधायक पार्टी के कर्मठ कार्यकर्ताओं को नजरअंदाज किया है। इसलिए वे पार्टी हाईकमान से मांग करते हैं कि यदि फगवाड़ा विधानसभा सीट पर 2019 की तरह ही रिकार्ड जीत हासिल करनी है तो प्रत्याशी को बदला जाना चाहिए। मीटिग के दौरान 11 सदस्यीय कमेटी का गठन भी किया गया, जिसकी सहमति से ही उम्मीदवार को स्वीकार करने की बात कही गई है।

इस अवसर पर अवतार सिंह सरपंच पंडवा, सुखविंदर सिंह रानीपुर, सुखविंदर बिल्लू खेड़ा, गुरदीप दीपा, ओम प्रकाश बिट्टू, सुरजीत खेड़ा, विजय बसंत नगर, केके शर्मा, वरुण बंगड़ चक्क हकीम, सुभाष कवात्रा, कुलवंत सिंह पब्बी, हुसन सिंह घुम्मण, कुलदीप सिंह हाजीपुर, ब्लाक समिति मेंबर सुच्चा राम मौली, तीर्थ हरदासपुर, सीमा रानी चहेड़ू, शौंकी राम, गोपी बेदी, अरुण, राकेश घई, बिंदर सरपंच मीरापुर, कैप्टन हरमिंदर सिंह पांछट, जय राम काला, लैंबर राम, अरविंदर विक्की, राजू वर्मा, गुरप्रीत कौर जंडू, जोगिन्द्र कौर मायोपट्टी, रवि कुमार मंत्री, हुकम सिंह मेहट, लाली जगतपुर जट्टां, जोगा सिंह हरबंसपुर, लाली निहालगढ़ उपस्थित थे।

फगवाड़ा कांग्रेस बचाओ मंच के नाम पर रहो रही राजनीति

फगवाड़ा कांग्रेस बचाओ मंच के बैनर तले एकत्रित अधिकतर कांग्रेसी नेता, कार्यकर्ता एवं लोग फगवाड़ा हलके से कांग्रेस की टिकट के चाहवान व पूर्व मंत्री जोगिदर सिंह मान के समर्थक माने जाते हैं। हालांकि कांग्रेस की टिकट न मिलती देख पूर्व मंत्री मान अब कांग्रेस छोड़ आप में शामिल हो चुके हैं और आप ने उन्हें फगवाड़ा से अपना उम्मीदवार भी घोषित कर दिया है। फगवाड़ा कांग्रेस बचाओ मंच के बैनर तले बैठक आयोजित करने में जिला कपूरथला कांग्रेस समिति के कार्यकारी प्रधान दलजीत राजू दरवेश पिड व पंजाब प्रदेश कांग्रेस समिति के पूर्व महासचिव हरजीत सिंह परमार का अहम रोल माना जा रहा है। फगवाड़ा में राजनीति के जानकार मानते हैं कि यह सबकुछ पावर गेम के चक्कर में हो रहा है, वैसे भी इन दोनो नेताओं को पूर्व मंत्री जोगिदर सिंह मान का करीबी माना जाता है। जब पूर्व मंत्री जोगिदर सिंह मान कांग्रेस में थे तो यह नेता विधायक धालीवाल से अलग धड़ा बनाकर उनके साथ चला करते थे। कुछ कांग्रेसी नेता नाम न छापने की शर्त पर तो यहां तक कह रहे हैं कि फगवाड़ा कांग्रेस बचाओ मंच के नाम पर कथित तौर पर राजनीति कर रहे कांग्रेसी नेता अब भी पूर्व मंत्री जोगिदर सिंह मान के पूरे संपर्क में हैं और आप को फायदा पहुंचाना चाहते हैं। उनका कहना है कि विधायक धालीवाल तो सिर्फ एक बहाना हैं, जबकि इनका असली मकसद आप को फायदा पहुंचाना है। वहीं कुछ का कहना है कि धालीवाल लोगों से सीधा संपर्क रखते है और खुद उनके काम करते हैं। इसके चलते इन नेताओं की नेतागिरी नहीं चमक पा रही है। कांग्रेसी नेताओं का कहना है कि विधायक धालीवाल सभी का सम्मान करते हैं।

20 पीएचजी 14 लगातार हार रही कांग्रेस की जीत की नींव धालीवाल ने रखी

फगवाड़ा विधानसभा हलके को कभी कांग्रेस का गढ़ माना जाता था, लेकिन फगवाड़ा हलके में ज्यादा तर कांग्रेस के दो धड़े रहे है और इसी धड़ेबंदी के चलते फगवाड़ा में कांग्रेस कमजोर होती गई। पहले कांग्रेस में पूर्व मंत्री जोगिदर सिंह मान और बलबीर राजा सोढ़ी के बीच गुटबाजी चरम सीमा पर थी। फगवाड़ा हलके में कांग्रेस के हालात इतने खराब हो चुके थे कि फगवाड़ा में कांग्रेस लगातार तीन विधानसभा, दो लोकसभा और एक नगर कौंसिल व एक नगर निगम चुनाव बुरी तरह से हारी। इसी गुटबाजी को खत्म करने के लिए साल 2019 में हुए विधानसभा चुनावों में कांग्रेस ने सेवानिवृत आइएएस बलविदर सिंह धालीवाल को मैदान में उतारा। वे कड़ी मेहनत कर 26 हजार से अधिक वोटों से जीते।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept