Punjab Election 2022 : नामांकन से पहले ज्योतिषियों की शरण में राजनीति के धुरंधर, सोमवार सबसे शुभ

Punjab Vidhan Sabha Election 2022 चुनावों में सियासी बाण चलाने वाले राजनीति के धुरंधर इन दिनों ज्योतिषियों और पंडितों की शरण में है। इस बार विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के प्रत्याशी नामांकन पत्र दाखिल करते समय कपड़ों के चयन को लेकर भी सलाह ले रहे हैं।

Vinay KumarPublish: Sat, 29 Jan 2022 10:18 AM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 10:18 AM (IST)
Punjab Election 2022 : नामांकन से पहले ज्योतिषियों की शरण में राजनीति के धुरंधर, सोमवार सबसे शुभ

जालंधर [शाम सहगल]। चुनावों में सियासी बाण चलाने वाले राजनीति के धुरंधर इन दिनों ज्योतिषियों और पंडितों की शरण में है। वह नामांकन पत्र दाखिल करने के शुभ दिन और शुभ मुहूर्त से लेकर चुनाव वाले दिन की दिनचर्या को लेकर भी ज्ञान बटोर रहे हैं। यही नहीं, इस बार विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के प्रत्याशी नामांकन पत्र दाखिल करते समय कपड़ों के चयन को लेकर भी सलाह ले रहे हैं।

यही कारण है कि चुनाव आयोग द्वारा नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए निर्धारित किए गए 25 जनवरी से लेकर एक फरवरी की समय अवधि के बीच अभी तक केवल 18 प्रत्याशियों ने ही नामांकन दाखिल किए हैं। उसमें भी आठ प्रत्याशी रिकवरिंग कैंडिडेट है। इस बीच विवाह शादियों का मुहूर्त कम होने के चलते ज्योतिष व पंडितों की भी चांदी हो गई है। बताया जा रहा है नामांकन दाखिल करने के अंतिम दिन से एक दिन पहले यानी 31 जनवरी को लेकर प्रत्याशियों में सबसे अधिक क्रेज है। सनातन धर्म के मुताबिक इस दिन मासिक शिवरात्रि के साथ कृष्ण पक्ष की चतुर्थी की अवधि भी रहेगी। दोनों ही योग किसी मुहूर्त से कम नहीं है इसलिए ज्यादातार नामांकन सोमवार को ही होंगे।

इसलिए सोमवार है इतना खास

श्री हरि दर्शन मंदिर के प्रमुख पुजारी पंडित प्रमोद शास्त्री बताते हैं कि श्री कृष्ण पक्ष चतुर्थी 30 जनवरी शाम 5.29 से शुरू होकर 31 जनवरी 2.18 तक रहेगी। इसमें किए जाते किसी भी शुभ कार्य का पुण्य फल प्राप्त होता है। इसके बाद कृष्ण पक्ष की अमावस्या शुरू हो जाएगी जिसमें शुभ कार्य करने से परहेज करना चाहिए।

इसी दिन बुध भी उदय हो रहा

श्री गोपी नाथ नाथ मंदिर, सकरुलर रोड के प्रमुख पुजारी पंडित दीन दयाल शास्त्री ने बताया कि एक तो भगवान शिव को अति प्रिय सोमवार का दिन तथा दूसरा मासिक शिवरात्रि का योग शुभ कार्य के लिए बेहतर सहयोग भी बना रहा है। इसी दिन बुध भी उदय हो जाएंगे। मासिक शिवरात्रि व कृष्ण पक्ष चतुर्थी होने के कारण प्रत्याशी सोमवार को दे रहे प्राथमिकता, चार दिन में महज 18 नामांकन हुए, इनमें आठ कवरिंग

कल अवकाश और एक फरवरी को है अमावस्या

एक फरवरी तक नामांकन पत्र दाखिल कर सकते है। दो फरवरी को नामांकन पत्रों की जांच की जाएगी और चार फरवरी तक प्रत्याशी नामांकन वापस ले सकते हैं। 30 जनवरी को सरकारी अवकाश है और एक को अमावस्या। ऐसे में आज व सोमवार को ही अधिक संख्या में नामांकन होंगे।

सितारों के साथ जुटा रहे नक्षत्रों की जानकारी

-सियासी रण में अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए प्रत्याशी अपने सितारों के साथ-साथ ग्रह नक्षत्रों की जानकारी भी जुटा रहे हैं।

-ग्रह नक्षत्र के मुताबिक नामांकन भरने से पहले पूजा-पाठ और धार्मिक संस्कार पूरे करने को लेकर भी जानकारी हासिल कर रहे हैं।

-नामांकन पत्र किस दिशा में मुंह करके निर्वाचन अधिकारी को दिया जाए सहित ¨बदुओं पर खास तौर पर सलाह ली जा रही है।

-नाम ना छापने की शर्त पर एक पंडित जी बताते हैं कि कुंडली में राजसत्ता संचालन के योग होने के बावजूद दो दिन में जातक के नामांकन दाखिल करने को कोई बहुत अच्छा मुहूर्त नहीं मिल रहा है। उसी कारण सोमवार बेहतर विकल्प है।

यह पहला अवसर है जब नामांकन पत्र दाखिल करने के चार दिन बीत जाने के बावजूद प्रत्याशियों में नामांकन दाखिल करने को लेकर खासा उत्साह नहीं है। इसके लिए आध्यात्मिक तथा धार्मिक विषय को कारण माना जा रहा है।

Edited By Vinay Kumar

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept