पंजाब चुनाव 2022ः संस्पेंस हटा, लंबी से ही चुनाव लड़ेंगे अकाली दल के सरपरस्त प्रकाश सिंह बादल

अकाली दल के सरपरस्त और पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के इस बार विधानसभा चुनाव लड़ने को लेकर संस्पेंस समाप्त हो गया है। उनकी पुत्रवधु और पूर्व कैबिनेट मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने साफ किया है कि 94 वर्षीय प्रकाश सिंह बादल लंबी विधानसभा क्षेत्र से ही चुनाव लड़ेंगे।

Pankaj DwivediPublish: Wed, 26 Jan 2022 01:58 PM (IST)Updated: Wed, 26 Jan 2022 02:18 PM (IST)
पंजाब चुनाव 2022ः संस्पेंस हटा, लंबी से ही चुनाव लड़ेंगे अकाली दल के सरपरस्त प्रकाश सिंह बादल

जासं, अमृतसर। अस्वस्थ होने के कारण अकाली दल के सरपरस्त और पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के इस बार विधानसभा चुनाव लड़ने को लेकर संस्पेंस समाप्त हो गया है। उनकी पुत्रवधु और पूर्व कैबिनेट मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने साफ किया है कि 94 वर्षीय प्रकाश सिंह बादल लंबी विधानसभा क्षेत्र से ही चुनाव लड़ेंगे। बता दें कि प्रकाश सिंह बादल अकाली दल का सबसे बड़ा चेहरा माने जाते हैं। वह पांच बार पंजाब के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। वे अपने लंबे राजनीतिक जीवन में दस बार विधानसभा चुनाव में विजयी रहे हैं। लंबी विधानसभा क्षेत्र को अकाली दल का गढ़ माना जाता है। पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल 1997 के विधानसभा चुनाव के बाद से यहां से लगातार पांच बार विजेता रहे हैं। 

बड़े बादल को कोविड होने के बाद बढ़ गया था असमंजस

पिछले दिनों कोविड होने के कारण वयोवृद्ध प्रकाश सिंह बादल को लुधियाना के सीएमसी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। इसके बाद से उनके चुनाव लड़ने पर प्रश्न चिन्ह लग गया था। अकाली दल के प्रधान सुखबीर बादल ने विधानसभा चुनाव लड़ने का फैसला पिता पर ही छोड़ दिया था 

बता दें कि अकाली दल इस बार बहुजन समाज पार्टी के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ रहा है। दल ने अपने हिस्से की 97 में 96 सीटों पर प्रत्याशी उतार दिए हैं। केवल अमृतसर पूर्वी में नवजोत सिंह सिद्धू के विरुद्ध प्रत्याशी कौन होगा, यह तय होना बाकी रह गया है। 

बिक्रम को एक साजिश के तहत झूठे केस में फंसाया

पूर्व केंद्रीय कैबिनेट मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने कहा है कि उसके भाई बिक्रम सिंह मजीठिया को साजिश के तहत नशा तस्करी मामले में फंसाया गया है। उसका नशा तस्करी के साथ कोई संबंध नहीं है। उसे झूठे केस में फंसाया गया है। वाहेगुरु परमात्मा उससे हिसाब लेगा। अगर मेरे भाई ने थोड़ा सा भी नशा कहीं बेचा हो या नशा तस्करी में शामिल रहा हो तो भगवान उसको भी सजा देगा। हरसिमरत ने कहा कि उन्हें पूर्ण विश्वास है कि उनका भाई इस तरह का काम नहीं कर सकता है।

नशे के कारण कई बहनों के भाई और कई माताओं के पुत्र चले गए हैं जिनका कोई नजदीकी चला जाता है उसको पता होता है कीजिए दुख कितना बड़ा और गहरा है विक्रम के भी बच्चे और परिवार के अन्य सदस्य हैं वह ऐसा काम नशा तस्करी वाला नहीं कर सकता हरसिमरत ने कहा कि उसने वाहेगुरु के आगे अरदास की है कि जिसने भी विक्रम के खिलाफ झूठे केस तैयार किए हैं वाहेगुरु उसको सजा दे परमात्मा और वाहेगुरु के ऊपर उसे पूर्ण विश्वास है हरसिमरत ने कहा कि 5 सालों तक कांग्रेस पार्टी ने आम लोगों का कोई कल्याण नहीं किया उल्टा 5 वर्षों में अकाली दल को कमजोर करने के लिए शासन की है कभी बेअदबी के नाम पर साजिश कभी नशे के नाम पर साजिश और कभी राजनीतिक दुश्मन बाजी किससे होती रही है लोग इस बार कांग्रेस को मुंह नहीं लगाएंगे और उनको सत्ता से दूर करके बदला लेंगे

Edited By Pankaj Dwivedi

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept