वादा नहीं हुआ वफा, कन्वेंशन सेंटर से वंचित जालंधर

जालंधर इंडस्ट्री एजुकेशन व अस्पताल का हब है। फिर भी प्रदेश सरकार यहां कन्वेंशन सेटर नहीं खोल पाई है।

JagranPublish: Sun, 23 Jan 2022 06:00 AM (IST)Updated: Sun, 23 Jan 2022 06:00 AM (IST)
वादा नहीं हुआ वफा, कन्वेंशन सेंटर से वंचित जालंधर

कमल किशोर, जालंधर : जिला इंडस्ट्री, एजुकेशन व अस्पताल का हब है। फिर भी प्रदेश सरकार उद्यमियों की कन्वेंशन सेंटर बनाने की मांग को नजरअंदाज करती आई है। इस कारण इंडस्ट्री मजबूरी में दाना मंडी या फिर देशभगत यादगार हाल में बिजनेस मेले लगा रही है। हर साल करोड़ों रुपये का रेवेन्यू देनी वाली इंडस्ट्री की सरकार सुध नहीं ले रही है। उद्यमी कन्वेंशन सेंटर खोलने की मांग विधायकों और मंत्रियों से भी कई बार कर चुके थे। अफसोस, हर बार सिर्फ आश्वासन ही मिला। पिछले चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी ने जिले में कन्वेंशन सेंटर बनाने का वादा किया था, लेकिन अभी तक वह वफा नहीं हो पाया है।

सरकार ने पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप की योजना के तहत अमृतसर, लुधियाना व मोहाली में कन्वेंशन सेंटर बनाने की बात कही थी, लेकिन धरातल पर कुछ नहीं हुआ। सरकार इंडस्ट्री को नजरअंदाज ही करती आई है।

पिछले साल दाना मंडी में लगाना पड़ा था 'मशीनेक्स' बिजनेस फेयर

कन्वेंशन सेटर न होने के कारण इंडस्ट्री को पिछले साल मार्च में दाना मंडी (न्यू ग्रेन मार्केट) में 'मशीनेक्स' बिजनेस फेयर लगाना पड़ा था। इसमें 300 स्टाल लगाए गए थे। इंडस्ट्री ने इनोवेटिव उत्पाद प्रदर्शित किए थे। इसमें कई जिलों के उद्यमियों ने हिस्सा लेकर विभिन्न उत्पादों के बारे में जानकारी हासिल की थी। मेले में अधिकतर जालंधर व लुधियाना की इंडस्ट्री ने उत्पाद प्रदर्शित किए थे। कई उद्यमियों ने मौके पर व्यापार भी किया था।

कन्वेंशन सेंटर की मांग नहीं हुई पूरी : राजन गुप्ता

उद्यमी राजन गुप्ता ने कहा कि बिजनेस मेले लगाने के लिए जालंधर के पास कन्वेंशन सेंटर नहीं है। इंडस्ट्री को मजबूरन दाना मंडी या फिर देशभगत यादगार हाल में मेले लगाने पड़ते हैं। इंडस्ट्री करोड़ों का कारोबार करती है। इस मांग को सरकारी नुमाइंदों के समक्ष कई बार रख चुके हैं, लेकिन मांग अधर में लटकी हुई है।

सरकार इंडस्ट्री को नजरअंदाज कर रही : नीरज चोपड़ा

रबड़ फुटवियर मैन्यूफैक्चर्स एसोसिएशन के प्रधान नीरज अरोड़ा ने कहा कि आदमपुर एयरपोर्ट के नजदीक भी सेंटर बनता है तो दोआबा क्षेत्र की उन्नति होगी। सरकार ने जालंधर को नजरअंदाज क्यों किया, यह बात समझ से परे है। सरकार इंडस्ट्री को नजरअंदाज कर रही है।

सरकार ने सेटर की मांग पर कुछ नहीं किया : गोकुल कपूर

जेएमपी इंडस्ट्री के डायरेक्टर गोकुल कपूर ने कहा कि जिले में हैंडटूल्स, आटो पा‌र्ट्स, खेल, गार्डन टूल्स, पाइप फिटिग, लेदर की इंडस्ट्री है। कन्वेंशन सेंटर जरूरी है। आदमपुर एयरपोर्ट के नजदीक सेंटर बनाने की मांग भी सरकार के समक्ष रखी थी, लेकिन कुछ नहीं हुआ।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept