नवजोत सिद्धू ने पेश किया पंजाब माडल; लड़कियों को कमांडो ट्रेनिंग, 10वीं पास करने पर मिलेंगे 10 हजार

Punjab Assembly Election 2022 पंजाब कांग्रेस प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू ने उम्मीद के अनुसार पंजाब को लेकर अपना पंजाब माडल लोगों के सामने रखा। सिद्धू ने कहा कि हम विजन पर काम कर रहे हैं। सपने बेचकर सरकार नहीं चल सकती है। सरकार हमेशा नीति पर चलती है।

Pankaj DwivediPublish: Tue, 25 Jan 2022 04:59 PM (IST)Updated: Tue, 25 Jan 2022 04:59 PM (IST)
नवजोत सिद्धू ने पेश किया पंजाब माडल; लड़कियों को कमांडो ट्रेनिंग, 10वीं पास करने पर मिलेंगे 10 हजार

जासं, जालंधर। मंगलवार को महानगर पहुंचे पंजाब कांग्रेस प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू ने उम्मीद के अनुसार अपना पंजाब माडल लोगों के सामने रखा। उन्होंने एक से बढ़कर एक कई वादे किए। सिद्धू ने कहा कि हम विजन पर काम कर रहे हैं। सपने बेचकर सरकार नहीं चल सकती है। सरकार हमेशा नीति पर चलती है। हमने सरकारी रिफार्म पर काम शुरू किया है। खजाना भरना कैसे है यह कोई नेता नहीं बताता। समस्याओं का समाधान सबसे महत्वपूर्ण है। सिद्धू ने कहा उनका पंजाब माडल सभी पंजाबियों से जुड़ा है। पिछली सरकारों पर कटाक्ष करते हुए पंजाब कांग्रेस प्रधान ने कहा कि हम आज तक पंचायती राज लागू नहीं कर सके हैं। हमारी अर्थ व्यवस्था ठेकेदारों के पास गिरवी रख दी गई है।

सिद्धू ने पंजाब माडल पेश करते हुए महिला सशक्तीकरण पर विशेष जोर दिया। सिद्धू ने कहा कि कांग्रेस की सरकार आने पर हर गांव की दो लड़कियों को कमांडो ट्रेनिंग दी जाएगी। 5वीं और 10वीं पास करने पर छात्राओं को क्रमशः 5 और 10 हजार रुपये दिए जाएंगे। विधानसभा कम से कम 100 दिन चलेगी। पंजाब सरकार के टीवी पर विधानसभा की कार्रवाई प्रसारित की जाएगी। लोगों की सरकार लोगों के द्वार रहेगी। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के लिए आज डिजिटल पंजाब की जरूरत है। पंजाब के हर मसले का हल इनकम है। हम एक लाख करोड़ अतिरिक्त इनकम जुटाएंगे। इस मौके पर सिद्धू के साथ पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रधान प्रताप सिंह बाजवा भी मौजूद थे। 

सिद्धू ने कहा कि वह पंजाब में लिकर कार्पोरेशन बनाकर आमदनी बढ़ाएंगे। उन्होंने उदाहरण दिया कि तमिलनाडु शराब से 300 करोड़ कमाता है। उन्होंने केबल टीवी से 1000 करोड़ की कमाई का दावा किया। इसके लिए केबल रेगुलेटरी कमीशन बनाया जाएगा। इसके अलावा ट्रांसपोर्ट और रेत खनन से भी कमाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि ट्रांसपोर्ट का परमिट बेरोजगार युवाओं को दिया जाएगा। नवजोत सिंह सिद्धू ने आउटडोर एडवर्टाइजिंग पालिसी लाने की भी बात कही। साथ ही कहा कि कोआपरेटिव सोसाइटियों से आईएएस अफसरों को हटाकर उन्हें किसानों के हाथों में दिया जाएगा।  

- किसानों की हालत में सुधार के लिए खेती में बढ़ रही लागत को कम करके ज्यादा प्रोडक्टिविटी लाएंगे

- आयल सीड और दालों पर एमएसपी दिया जाएगा।

- फसल का भंडारण करने के लिए गोदाम बनाए जाएंगे

महिलाओं का सशक्तीकरण किया जाएगा

-पांचवीं पास करने वाली छात्रा को 5000 रुपये दिए जाएंगे

-दसवीं पास करने वाली छात्रा को 10,000 रुपये दिए जाएंगे

-महिलाओं के नाम पर जमीन की रजिस्ट्री मुफ्त होगी

-महिला कमांडो बटालियन बनाएंगे, हर गांव में दो लड़कियों को कमांडो ट्रेनिंग और स्कूटी देंगे

-इंडस्ट्री के लिए स्किल्स सेंटर बनाए जाएंगे, 23 क्लस्टर बनाए जाएंगे

सिद्धू ने अंत में कहा कि फ्री कुछ नहीं देंगे, केवल सुविधा देंगे। महिलाओं को सशक्त और स्वतंत्र बनाने का प्रयास किया जाएगा।

- अर्बन एंप्लायमेंट गारंटी स्कीम लाई जाएगी

-मजदूरों को सम्मान देंगे, 56 लाख मजदूरों की रजिस्ट्रेनशन होगी

- मनरेगा के तहत रोजाना मजदूरी 263 के स्थान पर 342 रुपये देंगे

-खेत में काम के बदले 350 रुपये देंगे

- कंस्ट्रक्शन मजदूरों का फिक्स चार्ज होगा, सभी का पांच लाख का बीमा होगा

-सभी सरकारी अस्पतालों में एक्स-रे और सीटी स्कैन सहित तमाम सुविधाएं होंगी

-सरकार आटा, कुकिंग आयल और दाल देगी

-मिड डे मील में दूध, अंडा और फल मिलेंगे

-पंजाब में मेडिकल टूरिज्म को प्रोत्साहित किया जाएगा

-दस लाख छात्रों को फुल स्कालरशिप दी जाएगी

-प्राइमरी स्कूलों के शिक्षकों को फुल पे देंगे

-स्कूल शिक्षकों के लिए ब्लाक और काडर सिस्टम लागू होगा

- एक लाख युवाओं को रोजगार दिया जाएगा

-इंडस्ट्री के लिए सिंगल विंडो सिस्टम स्थापित किया जाएगा

-एमएसएमई सेक्टर के कर्मचारियों की 50 फीसद सैलरी सरकार देगी

-इंडस्ट्री के लिए ओपन इलेक्ट्रिसिटी सिस्टम, कहीं से भी बिजली ले सकते हैं।

Edited By Pankaj Dwivedi

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept