होशियारपुर में इनोवा के आर पार हुआ रेलिंग का गार्डर, पठानकोट के तीन लोगों की मौत, ड्राइवर ने पी रखी थी शराब

पठानकोट के गांव नौशहरा का परिवार अपने रिश्तेदार के गांव फत्तोवाल में शादी समारोह में शामिल होने आया था। शादी में शिरकत करने के बाद यह परिवार वापस लौट रहा था। करीबन पांच किलोमीटर दूर जंडवाल के पास तेज रफ्तार इनोवा अनियंत्रित होकर सड़क किनारे लगी रेलिंग से टकरा गई।

Pankaj DwivediPublish: Sun, 23 Jan 2022 10:59 AM (IST)Updated: Sun, 23 Jan 2022 10:59 AM (IST)
होशियारपुर में इनोवा के आर पार हुआ रेलिंग का गार्डर, पठानकोट के तीन लोगों की मौत, ड्राइवर ने पी रखी थी शराब

सहयोगी, मुकेरियां (होशियारपुर)। मुकेरियां के पास शनिवार की शाम दर्दनाक हादसे में तीन लोगों की मौत हो गई जबकि एक महिला गंभीर रूप से घायल है। उसका उपचार किया जा रहा है। जालंधर-पठानकोट रोड पर शनिवार शाम मुकेरियां के गांव जंडवाल के पास शादी समारोह से लौट रहे लोगों की इनोवा के सड़क किनारे लगे रेलिंग से बुरी तरह टकरा गई। हादसा इतना दर्दनाक था कि रेलिंग का गार्डर इनोवा के आर-पार हो गया। हादसे में तीन लोगों की मौत हो गई और एक महिला घायल हो गई। मरने वाले पठानकोट के गांव नौशहरा बंदा सिंह के रहने वाले थे।

जानकारी के मुताबिक पठानकोट के गांव नौशहरा का परिवार अपने रिश्तेदार के गांव फत्तोवाल में शादी समारोह में शामिल होने आया था। शादी में शिरकत करने के बाद यह परिवार वापस लौट रहा था। करीबन पांच किलोमीटर दूरी तय करने पर गांव जंडवाल के पास तेज रफ्तार इनोवा अनियंत्रित होकर सड़क किनारे लगी रेलिंग से टकरा गई। हादसा इतना दर्दनाक था कि रेलिंग का गार्डर इनोवा के आर-पार हो गया। जोरदार धमाके की आवाज सुनकर आसपास से लोग पहुंचे तो हादसे देख हैरान रह गथए। लोगों ने बड़ी मुश्किल क्षतिग्रस्त इनोवा से लोगों को बाहर निकाला तो मौके पर ही राज¨वदर सिंह (48) पुत्र जसवंत सिंह, जश्नप्रीत सिंह (16) पुत्र कमलजीत सिंह, जश्नप्रीत सिंह (17) पुत्र परमजीत सिंह मौत हो गई थी।

राजविंदर सिंह की पत्नी भूपिंदर कौर गंभीर रूप से घायल गई। उसे सरकारी अस्पताल मुकेरियां में दाखिल कराया गया है, जहां उसकी हालत गंभीर बनी है। इनोवा चालक ड्राइवर हादसे के बाद फरार हो गया। प्रत्यशदर्शियों के मुताबिक ड्राइवर ने शराब पी रखी थी। पुलिस ने ड्राइवर की तलाश शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें - ये है भारत का इस्लामाबाद, 12 मकानों में था क्रांतिकारियों के छिपने का ठिकाना, नेता जी सुभाष चंद्र बोस जुड़ा है रोचक किस्सा

Edited By Pankaj Dwivedi

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept