शिक्षा मंत्री परगट बोले- CBSE पाठ्यक्रम से पंजाबी को बाहर निकालना दुर्भाग्यपूर्ण, दोबारा विचार करे बोर्ड

पंजाब के शिक्षा मंत्री परगट सिंह ने सीबीएसई द्वारा पंजाबी विषय को मुख्य विषयों में से बाहर निकालने के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है। उन्होंने कहा कि यह सम्बन्धित राज्यों के विद्यार्थियों के साथ अन्याय है। उन्होंने कहा कि यह फ़ैसला भारतीय संविधान की मूल भावना के उलट है।

Vinay KumarPublish: Wed, 20 Oct 2021 01:23 PM (IST)Updated: Wed, 20 Oct 2021 01:32 PM (IST)
शिक्षा मंत्री परगट बोले- CBSE पाठ्यक्रम से पंजाबी को बाहर निकालना दुर्भाग्यपूर्ण, दोबारा विचार करे बोर्ड

चंडीगढ़, जेएनएन। पंजाब के शिक्षा और उच्च शिक्षा एवं भाषाएं मंत्री परगट सिंह ने सीबीएसई द्वारा दसवीं और बारहवीं की जारी डेटशीट में पंजाबी विषय को मुख्य विषयों में से बाहर निकालने के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है। उन्होंने केंद्रीय बोर्ड को इस फैसले पर फिर से विचार करने की अपील की है। आज यहां जारी प्रेस बयान में स. परगट सिंह ने सीबीएसई द्वारा सभी क्षेत्रीय भाषाओं को माइनर विषयों में शामिल करने के फैसले को देश भर के विद्यार्थियों को उनकी अपनी मातृ भाषा से दूर करने की साजिश करार दिया है। उन्होंने कहा कि यह सम्बन्धित राज्यों के विद्यार्थियों के साथ अन्याय है। उन्होंने कहा कि यह फैसला भारतीय संविधान की मूल भावना के उलट है।

शिक्षा और उच्च शिक्षा एवं भाषाएं मंत्री ने कहा कि कम-से-कम सम्बन्धित राज्यों में वहां की मातृ भाषा जैसे कि पंजाब में पंजाबी है, को मुख्य विषयों में रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसी तरह हर राज्य में वहां की स्थानीय मातृ भाषा मुख्य विषयों में शामिल हो। उन्होंने कहा कि इस संबंधी यदि जरूरत पड़ी तो वह केंद्रीय शिक्षा मंत्री से संपर्क कर फैसला वापस करवाने के लिए बात करेंगे।

सरकारी कालेजों में 1158 पदों पर होगी भर्ती

राज्य के सरकारी कालेजों में स्टाफ की भर्ती को लेकर लंबे समय से चल रही काफी देर की मांग को पूरा करते हुए उच्च शिक्षा विभाग द्वारा 1158 पदों की भर्ती करने का फैसला किया गया है। यह भर्ती पंजाबी यूनिवर्सिटी, पटियाला और गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी, अमृतसर की तरफ से चयन कमेटियां बना कर की जाएगी। जिसको 45 दिनों के अंदर मुकम्मल करने के निर्देश दिए गए हैं। यह बात उच्च शिक्षा और भाषाओं संबंधी मंत्री परगट सिंह ने आज पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ में कालेज-यूनिवर्सिटी काडर की मांगों को लेकर यूनिवर्सिटी और कालेजों की एसोसिएशन की चल रही चरणबद्ध भूख हड़ताल को खत्म करवाने के मौके पर कही। परगट सिंह ने कहा कि सरकारी कालेजों में टीचिंग काडर के 1091 और लाइब्रेरियन के 67 पदों की भर्ती को 45 दिनों के अंदर मुकम्मल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह भर्ती यूजीसी के दिशा निर्देशों के अंतर्गत होगी।

Edited By Vinay Kumar

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept