This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK
  • POWERED BY
    Pokerbaazi

प्रीमियम भरने के बाद इंश्योरेंस कंपनी ने खारिज किया क्लेम, उपभोक्ता फोरम ने लगाया इतना हर्जाना

जालंधर के रहने वाले एक व्यक्ति का प्रीमियम बंद हो जाने के बाद पूरा क्लेम न देने के मामले में सुनवाई करते हुए उपभोक्ता फोरम ने इंश्योरेंस कंपनी को इलाज खर्च के साथ-साथ हर्जाना चुकाने के आदेश दिए हैं।

Vikas KumarMon, 22 Mar 2021 09:51 AM (IST)
प्रीमियम भरने के बाद इंश्योरेंस कंपनी ने खारिज किया क्लेम, उपभोक्ता फोरम ने लगाया इतना हर्जाना

जालंधर, जेएनएन। उपभोक्ता फोरम ने प्रीमियम बंद हो जाने के बाद पूरा क्लेम न देने के मामले में सुनवाई करते हुए इंश्योरेंस कंपनी को इलाज खर्च के साथ-साथ 20 हजार रुपये हर्जाना चुकाने के आदेश दिए हैं।

महानगर की नीम वाली गली के रहने वाले सुरेश कुमार ने फोरम में शिकायत दी थी कि उन्होंने एक इंश्योरेंस पालिसी खरीदी थी। उसे खरीदते समय उनसे कहा गया था कि पांच साल तक उन्हें 750 रुपये प्रीमियम देने होंगे और इसके बाद इंश्योरेंस कंपनी उन्हें 31 साल तक फायदा देगी। पांच साल प्रीमियम भरने के बाद जब उन्होंने अपने इलाज में खर्च हुए करीब डेढ़ लाख रुपये का क्लेम भरकर कंपनी को दिया तो कंपनी ने सिर्फ 11 हजार रुपये देने की बात कही। साथ ही अपने जवाब में कंपनी ने 31 साल तक कवर देने की बात से इन्कार कर दिया। कंपनी ने कहा कि बीमारी की सूरत में कंपनी एक फिक्स रकम ही देती है।

सुनवाई के दौरान फोरम ने कहा कि प्रीमियम इकट्ठा करने के लिए बीमा कंपनियों ने बिना किसी कारण सही क्लेम को खारिज करने का तरीका खोज लिया है। साथ ही पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट के फैसले का उदाहरण देते हुए इलाज में खर्च हुए 81709 रुपये लौटाने के साथ हर्जाना और पांच हजार रुपये कंज्यूमर लीगल फंड में जमा करने के आदेश दिए हैं।

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Edited By Vikas Kumar

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

जालंधर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!