कांग्रेस व भाजपा गठबंधन अभी तक तय नहीं कर पाए छह उम्मीदवार

आज से नामांकन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इसके बावजूद अभी कांग्रेस और भाजपा अपने सभी उम्मीदवार तय नहीं कर पाई है। इससे दावेदारों में भी निराशा बनी हुई है।

JagranPublish: Tue, 25 Jan 2022 04:01 AM (IST)Updated: Tue, 25 Jan 2022 04:01 AM (IST)
कांग्रेस व भाजपा गठबंधन अभी तक तय नहीं कर पाए छह उम्मीदवार

जागरण संवाददाता, जालंधर : आज से नामांकन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इसके बावजूद अभी कांग्रेस और भाजपा अपने सभी उम्मीदवार तय नहीं कर पाई है। इससे दावेदारों में भी निराशा बनी हुई है। कांग्रेस ने नकोदर सीट पर अभी तक उम्मीदवार नहीं उतारा और इसके लिए मंथन जारी है। सोमवार को दिल्ली में कांग्रेस की चुनाव समिति की बैठक में पंजाब के लंबित 31 उम्मीदवारों के नाम पर चर्चा की गई है। दो-तीन सीटों पर नाम को लेकर सहमति नहीं बनने से अभी सूची जारी करने में देरी हो रही है। भाजपा और उनके सहयोगी दलों ने जालंधर में पांच सीटों पर उम्मीदवार तय करने हैं। इस वजह से चुनावी दौर शुरू होने के बावजूद भी जालंधर में राजनीतिक पिक्चर क्लियर नहीं हो रही है। 25 जनवरी को नामांकन का पहला दिन है लेकिन ऐसी उम्मीद है कि कोई बड़ा उम्मीदवार इसकी तैयारी नहीं कर रहा है। 26 को गणतंत्र दिवस की छुट्टी रहेगी और 27 को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के जालंधर दौरे को लेकर भी कांग्रेस के उम्मीदवार व्यस्त रहेंगे। ऐसे में उम्मीद है कि कांग्रेस उम्मीदवारों की नामांकन प्रक्रिया 27 जनवरी के बाद ही शुरू हो पाएगी। अन्य राजनीतिक दलों ने भी अभी तक इस पर तैयारी नहीं की है। नामांकन प्रक्रिया 27 जनवरी के बाद ही तेज होने की उम्मीद है। जिन सीटों पर अभी तक भाजपा और कांग्रेस ने उम्मीदवारों के नाम तय नहीं किए हैं वहां पर जो भी उम्मीदवार आएगा उसको चुनाव अभियान के लिए कम समय मिलेगा। रुठों को मनाने पर भी जोर लगाना होगा क्योंकि ज्यादातर सीटों पर उम्मीदवार तय करने में देरी है क्योंकि दावेदारों के ज्यादा होने के कारण ही पेच फंसा है।

-----------

आदमपुर सीट कैप्टन के खाते में, केपी लिए रोक रखा है जस्सल का नाम

पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रधान मोहिदर सिंह केपी को लेकर अभी सस्पेंस बरकरार है। केपी की बजह से ही आदमपुर सीट पर भाजपा गठबंधन का नाम फाइनल नहीं हो रहा। आदमपुर सीट बंटवारे के तहत कैप्टन अमरिदर सिंह की पंजाब लोक कांग्रेस के खाते है। इस सीट पर कांग्रेस नेता जगदीश जस्सल का नाम तय किया गया है लेकिन केपी के कारण नाम घोषित नहीं किया गया। ऐसी भी चर्चा है कि केपी भाजपा की टिकट से आदमपुर से चुनाव लड़ सकते हैं। ऐसे में भाजपा इस सीट को कैप्टन से वापस चाह रही है। कैप्टन यह चाहते हैं कि केपी पंजाब लोक कांग्रेस के बैनर पर लड़ें। इसी को लेकर मंगलवार को सुबह 11 बजे मीटिग बुलाई गई है। अगर केपी के लिए आदमपुर सीट भाजपा के लिए छोड़ी जाती है तो बदले में जगदीश जस्सल को करतारपुर से उतारा जा सकता है। उम्मीद है कि शाम तक इस पर फैसला हो जाएगा।

----------

कैंट में परगट को मिलेगा राहुल दौरे का फायदा

आल इंडिया कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के 27 जनवरी को जालंधर आने का सीधा फायदा कैबिनेट मंत्री परगट सिंह को मिलेगा। राहुल गांधी में जालंधर कैंट में रुककर वर्चुअल रैली से कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे। राहुल गांधी छावनी विधानसभा हलका में 66 फुट रोड पर वाइट डायमंड रिजोर्ट में रुककर कार्यक्रम करेंगे। वाइट डायमंड रिसोर्ट में कार्यकर्ताओं को भी बुलाया जाना है।

----------- हरभजन सिंह का इंकार, रमनजीत सिंह सिक्की हो सकते हैं नकोदर से उम्मीदवार

काग्रेस से नकोदर विधानसभा सीट का मसला नहीं सुलझ रहा है। काग्रेस अब खड़ूर साहिब के विधायक रमनजीत सिंह सिक्की को नकोदर सीट से उतारने की योजना बना रही है। काग्रेस की पहली सूची में रमनजीत सिंह सिक्की का नाम खडूर साहिब सीट से फाइनल नहीं किया। काग्रेसी नकोदर सीट पर पूर्व क्त्रिकेटर हरभजन सिंह को उतारना चाहती थी लेकिन बताया जा रहा है कि हरभजन सिंह चुनाव लड़ने से इंकार कर रहे हैं। इसी वजह से अब खड़ूर साहिब के विधायक रमनजीत सिंह सिक्की को नकोदर पर एडजस्ट करने की तैयारी है। नकोदर सीट पर काग्रेस को कोई मजबूत उम्मीदवार नहीं मिल रहा है और रमनजीत सिंह सिक्की के रूप में उन्हें बड़ा चेहरा मिल सकता है। रमनजीत जीत सिंह सिक्की मूल रूप से जालंधर शहर के ही रहने वाले हैं।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept