पंजाब में बड़ी आतंकी साजिश नाकाम, गणतंत्र दिवस से पहले आरडीएक्स व हैंड ग्रेनेड बरामद

Punjab Terrorist पंजाब में बड़ी आतंकी साजिश विफल हो गई। राज्‍य के गुरदासपुर जिले में गणतंत्र दिवस से कुछ दिन पहले आरडीएक्‍स और हैंड ग्रेनेड बरामद हुआ है। पुलिस ने 3.790 किलो आरडीएक्‍स हैंड ग्रेनेड और राकेअ लांचर पकड़ा है। एक युवक को इस संबंध में गिरफ्तार किया गया है।

Sunil Kumar JhaPublish: Fri, 21 Jan 2022 11:21 PM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 11:21 PM (IST)
पंजाब में बड़ी आतंकी साजिश नाकाम, गणतंत्र दिवस से पहले आरडीएक्स व हैंड ग्रेनेड बरामद

जागरण संवाददाता, गुरदासपुर। पंंजाब में पुलिस ने बड़ी आतंकी साजिश को नाकाम किया है। गणतंत्र दिवस से कुछ दिन पहले गुरदासपुर जिले के गांव गाजीकोट के युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर दो 40 एमएम कंपेटीबल ग्रेनेड, 40 एमएम अंडर बैरल ग्रेनेड लांचर (यूबीजीएल), 3.790 किलोग्राम आरडीएक्स, नौ इलेक्टि्रकल डेटोनेटर और आइईडी से संबंधित टाइमर डिवाइस बरामद की है। युवक की पहचान गाजीपुर गांव के मलकीत सिंह पुत्र बलबीर सिंह उर्फ बीरा के रूप में हुई है। मलकीत के खिलाफ मामला दर्ज कर पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।

गुरदासपुर का युवक गिरफ्तार, 3.790 किलो आरडीएक्स, दो हैंड ग्रेनेड और एक ग्रेनेड लांचर बरामद

पुलिस ने इस मामले में मलकीत के साथी सुखप्रीत सिंह उर्फ सुख घुम्मन, थरनजोत सिंह उर्फ थन्ना और सुखमीतपाल सिंह उर्फ सुख भिखारीवाल सभी निवासी गुरदासपुर के अलावा पाकिस्तान स्थित इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन के प्रमुख लखबीर सिंह रोडे और भगौड़े गैंगस्टर अर्शदीप सिंह उर्फ डल्ला के खिलाफ भी केस दर्ज किया है। सूत्रों के अनुसार इस मामले के तार 21 नवंबर, 2021 को पठानकोट के आर्मी कैंप पर हुए ग्रेनेड हमले से जुड़े हैं। युवक 10 जनवरी को नवांशहर की पुलिस की ओर से हथियारों के साथ पकड़े गए छह युवकों का ही साथी है।

गत 10 जनवरी को नवांशहर की पुलिस ने आतंकी माड्यूल का भंडाफोड़ करते हुए पठानकोट आर्मी कैंप पर हमले के मामले में गुरदासपुर के छह युवकों को हथियारों समेत गिरफ्तार किया था। ये सभी इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन (आइएसवाईएफ) समर्थित प्रमुख आतंकी संगठन के संपर्क में थे।

दो जिलों की पुलिस कर रही है जांच

आठ जनवरी को गुरदासपुर में यूबीडीसी नहर गांव नानोनंगल पुल के पास गुरदासपुर और नवांशहर की पुलिस ने भारी मात्रा में हथियार बरामद किए थे। तब से दोनों जिलों की पुलिस आपसी तालमेल से पूरे नेटवर्क को तोड़ने में जुटी है। वीरवार को गिरफ्तार किए गए युवक से बरामद हथियार भी यूबीडीसी नहर के किनारे छिपाकर रखे गए थे। माना जा रहा है कि इस नहर के आसपास और भी हथियार छिपाकर रखे गए हैं। गुरदासपुर में हैंड ग्रेनेड, टिफिन बम, आरडीएक्स आदि विस्फोटक सामग्री मिल रही है। गणतंत्र दिवस से पहले विस्फोटक बरामदगी पुलिस की बड़ी सफलता मानी जा रही है।

लांचर से कम दूरी से फेंका जा सकता था ग्रेनेड

चंडीगढ़ में प्रेस कांफ्रेंस में आइजीपी मोहनीश चावला ने बताया कि बरामद किया गया यूबीजीएल 150 मीटर रेंज वाला ग्रेनेड लांचर है। इसकी मदद से वीवीआइपी सुरक्षा पर भी हमला किया जा सकता है।

Edited By Sunil Kumar Jha

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept