अमर बलिदानी क्रांतिकारी थे नेताजी : हर्ष लखनपाल

आर्य समाज मंदिर शहीद भगत सिंह नगर में हवन भजन संकीर्तन व प्रवचन का आयोजन रविवार को हुआ।

JagranPublish: Sun, 23 Jan 2022 06:12 PM (IST)Updated: Sun, 23 Jan 2022 06:12 PM (IST)
अमर बलिदानी क्रांतिकारी थे नेताजी : हर्ष लखनपाल

जागरण संवाददाता, जालंधर : आर्य समाज मंदिर शहीद भगत सिंह नगर में हवन, भजन संकीर्तन व प्रवचन का आयोजन रविवार को हुआ। इसका आगाज हवन के साथ किया गया। केदार नाथ शर्मा व मीनू शर्मा परिवार सहित मुख्य यजमान के रूप में शामिल हुए। यज्ञ प्रार्थना प्रवीण लखनपाल ने संपन्न की।

इसके बाद आर्य समाज के प्रधान रणजीत आर्य ने 'सुखी बसे संसार सब दुखिया रहे न कोय, यह अभिलाषा हम सबकी मेरे भगवान पूरी होय' और 'दूध पुत धन धान्य से वंचित रहे न कोय' पर विशेष प्रस्तुति दी। भजनोपदेशक रवि पोंडवाल ने ओम जपो मेरे भाई, ओम जपो भजन सुनाकर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। मंच का संचालन आर्य समाज के महामंत्री हर्ष लखनपाल ने किया। उन्होंने कहा कि माघ मास में मानव कल्यान हेतु यज्ञ ही सर्वश्रेष्ठ कर्म है। नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती को लेकर कहा कि वह स्वतंत्रता संग्राम के सनातनी व आजाद हिद फौज के संस्थापक थे। उन्होंने यूरोप में देशभक्ति की अलख जगाकर देश भर में तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा का नारा बुलंद किया था। नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने कहा था आर्य समाज तो मेरी मां है, जिसने मुझे पैदा किया। इस अवसर पर भूपिदर उपाध्याय, चौधरी हरिचंद, सुरिदर खन्ना, अनिल कोहली, वेद प्रकाश भाटिया, अमित शर्मा, सुनित भाटीया, बैज नाथ, रोहित सूद, दिपिका सूद, नालिनि उपाध्याय, अनु आर्या, पवन शर्मा, अमित सिंह, ज्योति सिह, बलराज मिश्रा, अशोक धीर, अनिल मिश्रा, अर्चना मिश्रा, केदार नाथ शर्मा, मोहित खन्ना व प्रिया मिश्रा मौजूद रहे।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept