कांग्रेस पर भारी पड़ती रही है टिकट न मिलने की नाराजगी

विधानसभा चुनाव 1972 सन 1972 से लेकर 2017 तक चार बार कांग्रेस से टिकट की आस लगाने वाले नेता बगावत कर बतौर निर्दलीय प्रत्याशी मैदान में उतरे लेकिन हार गए। विधानसभा चुनाव 1972 कांग्रेस ने सीपीआई के लिए गठबंधन तहत सीट छोड़ दी तो कांग्रेसी नेता ब्रिगेडियर कुशल सिंह राणा निर्दलीय चुनाव लड़े। इस दौरान उन्हें पोल हुए कुल मतों 48125 में से 9355 (19.43 प्रतिशत) ही मिले और वह तीसरे नंबर पर रहे।

JagranPublish: Fri, 21 Jan 2022 11:05 PM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 11:05 PM (IST)
कांग्रेस पर भारी पड़ती रही है टिकट न मिलने की नाराजगी

रामपाल भारद्वाज, गढ़शंकर : विधानसभा सीट गढ़शंकर से इस बार टिकट न मिलने से खफा कांग्रेस के छह वरिष्ठ नेता पंजाब लोक कांग्रेस व भाजपा में शामिल हो चुके है। यहां भी संभावना है कि एक तो भाजपा-पीएलसी गठबंधन से लड़ेगा और एक गठबंधन से सीट न मिलने पर निर्दलीय चुनाव लड़ सकता है। पूर्व विधायक लव कुमार गोल्डी व निमिषा मेहता का अपना-अपना जनाधार है। माना जा रहा है दोनों में से एक तो चुनाव लड़ेगा ही। सरिता शर्मा पीएलसी से टिकट के लिए जोर लगा रही हैं। विधानसभा चुनाव 1972: सन 1972 से लेकर 2017 तक चार बार कांग्रेस से टिकट की आस लगाने वाले नेता बगावत कर बतौर निर्दलीय प्रत्याशी मैदान में उतरे लेकिन हार गए। विधानसभा चुनाव 1972 कांग्रेस ने सीपीआई के लिए गठबंधन तहत सीट छोड़ दी तो कांग्रेसी नेता ब्रिगेडियर कुशल सिंह राणा निर्दलीय चुनाव लड़े। इस दौरान उन्हें पोल हुए कुल मतों 48125 में से 9355 (19.43 प्रतिशत) ही मिले और वह तीसरे नंबर पर रहे। विधानसभा चुनाव 1992 : कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ठाकुर कृष्ण देव सिंह निर्दलीय चुनाव लड़े और पोल हुए 43376 मतों में से 7574 मत प्राप्त कर तीसरे नंबर पर रहे तो दूसरे नंबर पर रहे कांग्रेस के नेता प्रो. कमल सिंह को मात्र 8564 मत पड़े। जिसके चलते बसपा के शिगारा राम सहूंगड़ा 15390 मत लेकर जीत गए। विधानसभा चुनाव 2002: कांग्रेस ने गठबंधन के तहत सीट सीपीआई को छोड़ दी तो कांग्रेस के दिग्गज नेता व जिला परिषद सदस्य चौधरी भगत राम चौहान नाराज होकर निर्दलीय मैदान में उतर आए। कुल पोल हुए मतों में से 73955 में से 9867 मत लेकर चौथे नंबर पर रहे। वहीं कांग्रेस-सीपीआई के प्रत्याशी मनजीत सिंह लाली को मात्र 6500 के करीब मत पड़े और वह पांचवें नंबर पर खिसक गए। भाजपा के अविनाश राय खन्ना 24638 मत लेकर जीते थे। इस बार भी टिकट न मिलने से पूर्व विधायक कुमार गोल्डी ने पीएलसी और कांग्रेस नेत्री निमिषा मेहता ने भाजपा ज्वाइन कर ली है।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम