तंत्र के गण :-पीढ़ी दर पीढ़ी सेना में अपनी सेवाएं निभा रहे कंडी के युवा

देशभक्ति में अग्रिम माने जाने वाले कंडी के युवाओं ने हर युद्ध में अपने बलिदान से इतिहास लिखा है।

JagranPublish: Fri, 21 Jan 2022 11:16 PM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 11:16 PM (IST)
तंत्र के गण :-पीढ़ी दर पीढ़ी सेना में अपनी सेवाएं निभा रहे कंडी के युवा

नीरज शर्मा, होशियारपुर : देशभक्ति में अग्रिम माने जाने वाले कंडी के युवाओं ने हर युद्ध में अपने बलिदान से इतिहास लिखा है। कंडी के कुछ गांव तो ऐसे हैं जहां 70 से 80 फीसद युवा भारतीय सेना में तैनात हैं। कुछ तो ऐसे हैं जहां हर घर का एक बेटा सेना में मिलेगा। ऐसे परिवार भी हैं जो पीढ़ी दर पीढ़ी सेना में अपनी सेवाएं निभा रहे हैं। इन परिवारों के लिए यह परंपरा बन चुकी है। जिसे हर पीढ़ी अपने कंधों पर लेकर चल रही है। यानी यह कहना गलत नहीं होगा कि जब जब देश के लिए बलिदान देने की बात आई है तो कंडी के युवाओं ने कभी पीठ नहीं दिखाई और भारत मां की आन, बान व शान के लिए हंसते हंसते शहादत का जाम पिया है। सेना के सभी अंग में तैनात हैं कंडी के जवान

कंडी इलाके के युवा देश की सेवा में अग्रणी भूमिका निभा रहे हैं। यहां के युवा सेना में जाकर देश की सेवा कर रहे हैं। इस साल भी आठ युवकों ने सेना में अफसर बनकर होशियारपुर का नाम रोशन किया है। इससे जिले का सीना गर्व से ऊंचा हुआ है। साथ ही रक्षा क्षेत्र में जिले का योगदान बढ़ा है। इस साल गांव डंडो के रुद्र प्रताप, मुकेरियां के गांव माखा के रोहित ठाकुर, बह नंगल के अभिषेक कंवर, कमाही देवी के तपिश गौतम, दसूहा के अनहद, कमाही देवी के सौरव ने थल सेना में बतौर लेफ्टिनेंट व बह नंगल के अशांक, मुकेरियां के विशाल सिहं ने भारतीय नौसेना में बतौर सब-लेफ्टिनेंट के तौर पर ज्वाइन किया है। जिन इलाकों से यह युवक हैं वहां कई जगह तो अभी तक मोबाइल नेटवर्क व अन्य मूलभूत सुविधाएं भी नहीं है। इतने कठिन माहौल में रहकर भी इन युवाओं ने कड़ी मेहनत व लगन से इस मुकाम को हासिल करके इलाके का नाम रोशन किया है। कंडी की बेटियां भी नहीं है किसी से कम

यदि कंडी के बेटियों की बात की जाए तो देश के प्रति सेवा भाव का जज्बा उनमें बेटों से कम नहीं है। मुकेरियां के गांव हरसा मानसर की बेटी कोमल ने जल सेना में बतौर सब-लेफ्टिनेंट पदभार संभाला था। अपनी बहन से प्रेरित होकर इस साल विशाल सिंह भी जल सेना में सब लेफ्टिनेंट बने हैं। पीढ़ी दर पीढ़ी निभा रहे हैं सेना में सेवाएं

गांव डंडो से हाल ही में लेफ्टिनेंट बने रुद्र प्रताप की बात करें तो रुद्र प्रताप का परिवार पिछली तीन पीढि़यों से सेना में सेवाएं दे रहा है। इससे पहले उनके दादा वीर सिंह पठानिया आर्मी सर्विस कोर में, नाना अजमेर सिंह जसवाल आर्मी में डोगरा रेजिमेंट में व पिता राज कुमार पठानिया भी एयर फोर्स में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। उनके माता-पिता सहित पूरे परिवार को रुद्र की इस उपलब्धि पर गर्व है। उनके परिवार एवं रिश्तेदार भी उनकी इस उपलब्धि की बड़ी शिद्दत से प्रतीक्षा कर रहे थे। वहीं माखा के रोहित ठाकुर के पिता पूर्व सैनिक है। जबकि विशाल सिंह व कोमल के पिता बीएसएफ में सेवाएं दे रहे हैं।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept