दिल्ली फतेह के बाद फिरोजपुर पहुंचे किसान संयुक्त मोर्चा स्वागत

कृषि कानूनों के रद होने के बाद दिल्ली सीमा पर एक साल से अधिक समय से आंदोलन कर रहे किसानों के लौटने पर उनका जोरदार स्वागत किया गया। जिले भर में जहां भी दिल्ली फतेह करने के उपरांत किसानों का काफिला लौटा वहां पर स्वागत के लिए किसानों के साथ साथ अन्य लोगों की भरमार देखने को मिली।

JagranPublish: Sun, 12 Dec 2021 10:40 PM (IST)Updated: Sun, 12 Dec 2021 10:40 PM (IST)
दिल्ली फतेह  के बाद  फिरोजपुर पहुंचे किसान संयुक्त मोर्चा स्वागत

संवाद सहयोगी, फिरोजपुर: कृषि कानूनों के रद होने के बाद दिल्ली सीमा पर एक साल से अधिक समय से आंदोलन कर रहे किसानों के लौटने पर उनका जोरदार स्वागत किया गया। जिले भर में जहां भी दिल्ली फतेह करने के उपरांत किसानों का काफिला लौटा वहां पर स्वागत के लिए किसानों के साथ साथ अन्य लोगों की भरमार देखने को मिली। खासकर चुंगी नंबर सात पर के अलावा नूरपुर सेठा के साथ साथ अन्य जगहों पर पुष्पवर्षा कर आंदोलन खत्म कर वापस लौटे किसानों का स्वागत किया गया। दिल्ली से लौटने वाले किसानों में गांव नूरपुर सेठां, इच्छेवाला, शाहदीन वाला आदि के किसान भी शामिल थे। इस दौरान किसानों के जत्थे पर फूलों की वर्षा की गई और उन्हें हार पहनाकर स्वागत किया गया। किसानों ने कहा कि आंदोलन के आगे मोदी सरकार को झुकना पड़ा है। दूसरी ओर विधायक परमिदर सिंह पिकी ने भी श्रेय लेने के लिए अपना स्तर पर किसानों का स्वागत करने की खुशी में मार्च निकाला। दानामंडी से शुरू हुआ ये मार्च शहर के विभिन्न हिस्सों गुजरा लोगों द्वारा स्वागत भी किया गया ।

इस मौके पर कश्मीरी लाल महरोक, मनजिन्द्रपाल सिंह सामा, गुलजार सिंह महरोक, बिदू जोसन, कुंदन

सिंह, गुरजंट सिंह, बलजीत सिंह, परमजीत सिंह, चरनजीत सिंह गिल, सुरिन्द्र सिंह, परमिन्द्र जज आदि मौजूद थे।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept