वोटर बोले, नोट से वोट हासिल करने का प्रचलन गलत

लोकतंत्र के महापर्व में अपनी भागेदारी का समय आ गया है। लेकिन चुनाव में नोट बांटने का प्रचलन बिल्कुल गलत है।

JagranPublish: Sun, 23 Jan 2022 10:13 PM (IST)Updated: Sun, 23 Jan 2022 10:13 PM (IST)
वोटर बोले, नोट से वोट हासिल करने का प्रचलन गलत

संवाद सूत्र, फाजिल्का : लोकतंत्र के महापर्व में अपनी भागेदारी का समय आ गया है। लेकिन चुनाव में नोट बांटने का प्रचलन बिल्कुल गलत है। चुनाव आयोग व जिला प्रशासन इस प्रचलन पर रोक लगाने के लिए पूरी तरह से अपनी कमर कस चुका है और जगह-जगह निगरानी टीमें भी लगा दी हैं। फाजिल्का जिले के लोगों ने भी पैसे देकर वोट हासिल करने के प्रचलन को बिल्कुल गलत बताया। साथ ही दैनिक जागरण के माध्यम से वोटरों से अपील की कि वह बिना किसी डर व बिना किसी लालच के अपने वोट का इस्तेमाल करें। साथ ही उन्होंने चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों से भी इस प्रचलन को पूरी तरह से खत्म करने में जिला प्रशासन का सहयोग करने की अपील की।

आज का वोटर काफी जागरूक

वैसे तो आज का वोटर काफी जागरूक है और पैसे देने की प्रथा काफी पुरानी हो गई है। लेकिन अभी भी कुछ लोग इस प्रचलन में भागीदार बनकर इस प्रचलन को समाप्त करने में सहयोग नहीं करते। ऐसे में सभी वोटरों को चाहिए कि वह जिले में विकास करने वाला और हर समय सही दिशा में कदम उठाने वाले उम्मीदवारों का चयन किया जाए।

भय मुक्त करें मतदान

चुनाव आयोग की हिदायतों अनुसार जिला प्रशासन भयमुक्त चुनाव करवाने का हर संभव प्रयास कर रहा है। इसके लिए चुनाव वाले दिन बड़ी संख्या में चुनावी अमला और पुलिस तैनात होगी। ऐसे में हम सबकी जिम्मेदारी बनती है कि हम बिना किसी भय और लालच के मतदान करें और जिले में वोटिग प्रतिशत को बढ़ाने में भी हर संभव सहयोग करें।

किसी भी लालच में ना आए वोटर

चुनाव नजदीक आते ही वोटरों को लालच से लुभाने के प्रयास होते हैं, लेकिन लोग बिना किसी लालच के अपनी वोट का इस्तेमाल करें। क्योंकि उम्मीदवार को चुनने का मौका हमें पांच साल बाद मिलता है। ऐसे में अगर हम बिना किसी लालच के वोट करेंगे, तभी हम अपने मनसंद नेता को चुन सकते हैं।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept