अस्पताल में पिता-पुत्र पर हमला करने वाले आठ नामजद

शहर के सिविल अस्पताल में 29 अक्टूबर की रात को अस्पताल में भर्ती एक युवक व उसके पिता पर हमला करने के आरोप में पुलिस ने आठ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

JagranPublish: Sun, 31 Oct 2021 09:44 PM (IST)Updated: Sun, 31 Oct 2021 09:44 PM (IST)
अस्पताल में पिता-पुत्र पर हमला करने वाले आठ नामजद

संवाद सूत्र, फाजिल्का : शहर के सिविल अस्पताल में 29 अक्टूबर की रात को अस्पताल में भर्ती एक युवक व उसके पिता पर हमला करने के आरोप में पुलिस ने आठ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

सिविल अस्पताल में भर्ती गांव चक्क पक्खी निवासी लवप्रीत ने बताया कि वह पंजाब रोडवेज में नौकरी करता है और बुधवार को किसी कार्य से चक्क पक्खी लौट रहा था कि सायं 6.30 बजे रास्ते में कुछ लोगों ने उसे घेरकर मारपीट कर घायल कर दिया, जिसे सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया। लेकिन 29 अक्टूबर की रात को जब वह पानी पीने के लिए एमरजैंसी वार्ड के गेट पर गया तो उसके गांव के ही कुछ लोगों ने अस्पताल आकर उस पर हमला कर दिया और उसको बुरी तरह से जख्मी कर दिया। इस दौरान जब उसका पिता उसे छुड़वाने के लिए आया तो उसे भी उक्त लोगों ने मारपीट कर जख्मी कर दिया। जांच अधिकारी एसआई जालंधर सिंह ने बताया कि घायल व्यक्ति की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए उन्होंने गुरप्रीत सिंह, गुरसेवक सिंह, हरप्रीत सिंह, राजा सिंह, विक्रम सिंह, मनदीप सिंह, प्रकाश सिंह वासी झोटियावाली, बब्बू व एक अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

रोडवेज के ड्राइवर व कंडक्टर से की हाथापाई संवाद सहयोगी, जीरा(फिरोजपुर) थाना जीरा पुलिस ने पंजाब रोडवेज के ड्राइवर व कंडक्टर के साथ हाथापाई करने के आरोप में नौ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। विवाद के दौरान कंडक्टर का मोबाइल फोन भी कोई अज्ञात व्यक्ति लेकर फरार हो गया और बस अपने टाइम पर जीरा से मल्लांवाला नहीं चल सकी।

सब इंस्पेक्टर कुलवंत सिंह ने बताया कि पुलिस को दिए बयान में जगदीप सिंह वासी वल्टोहा ने बताया कि वह पंजाब रोडवेज में कंडक्टर है और शनिवार को उसकी ड्यूटी बस नंबर पीबी-05आर-5578 पर थी, जिसका ड्राइवर प्रगट सिंह पुत्र बुटा सिंह वासी कंगला था। पीड़ित ने बताया कि शाम के समय जब ड्राइवर प्रगट सिंह ने बस स्टैंड जीरा में बस को बैक करके मल्लांवाला काऊंटर पर लगाना था तो वहां कुछ लोगों ने कार खड़ी की हुई थी, जब उसने आरोपितों की कार हटाने के लिए कहा तो आरोपित लाडी भु्ल्लर वासी मस्तेवाली, कुलदीप सिंह, भाला वासी चंब्बा ने छह अज्ञात लोगों के साथ मिलकर प्रगट सिंह व उसके साथ हाथापाई शुरू कर दी। विवाद के के दौरान पीड़ित कामोबाइल भी कोई व्यक्ति वहां से उठाकर ले गया और विवाद के कारण सरकारी बस अपने समय पर जीरा से मल्लांवाला नहीं जा सकी। मामले की जांच कर रहे कुलवंत सिंह ने बताया कि पुलिस ने आरोपितों पर मामला दर्ज कर कार्रंवाई शुरू कर दी है।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept