This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Punjab New CM Name: आज हो सकता है पंजाब सीएम का एलान, जानें विधायक दल बैठक में क्यों नहीं हुआ सुनील जाखड़ के नाम पर फैसला

Punjab New CM Name पंजाब के मुख्‍यमंत्री पद से कैप्‍टन अमरिंदर सिंह के इस्‍तीफे के बाद आज नए सीएम के लिए नाम का एलान हो सकता है। सुनील जाखड़ का नाम अगले सीएम के रूप में तय तक हो गया है लेकिन विधायक दल की बैठक में घोषणा टल गई।

Sunil Kumar JhaSun, 19 Sep 2021 08:16 AM (IST)
Punjab New CM Name: आज हो सकता है पंजाब सीएम का एलान, जानें विधायक दल बैठक में क्यों नहीं हुआ सुनील जाखड़ के नाम पर फैसला

चंडीगढ़, [इन्‍द्रप्रीत सिंह]। Punjab New CM Name: पंजाब के मुख्‍यमंत्री पद से कैप्‍टन अमरिंदर सिंह के इस्‍तीफे के बाद अब तक नए सीएम के  लिए नाम का एलान नहीं हो सका है। पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रधान सुनील जाखड़ का नाम लगभग तय माना जा रहा है। उनके नाम की नए मुख्यमंत्री के रूप में घोषणा कांग्रेस विधायक दल की बैठक में आज ही हो जाता, लेकिन ऐन मौके पर यह टल गया। दरअसल सहकारिता मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने इसमें अड़चन डाल दी। अब आज पंजाब कांग्रेस विधायक दल के नए नेता और पंजाब के नए सीएम के रूप में सुनील जाखड़ का नाम घाेषित होने की संभावना है।

 रंधावा ने किया था ऐतराज, अपना नाम आगे कर जट सिख सीएम की मांग उठाई

बताया जाता है कि कांग्रेस विधायक दल की बैठक में जब मुख्यमंत्री के चयन का मामला सामने आया तो पार्टी हाईकमान की ओर से आए पर्यवेक्षकों ने सुनील जाखड़ के नाम को आगे किया और कहा कि सभी विधायक आधे घंटे के लिए यही रुक जाएं। इसी बीच नए मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा कर दी जाएगी। इसी दौरान सहकारिता मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा किसी जट सिख को मुख्यमंत्री बनाने की मांग को लेकर अड़ गए। उन्होंने खुद का नाम आगे करते हुए कहा कि उनके नाम पर विचार क्यों नहीं किया जा रहा है।

रंधावा ने कहा कि जट सिख को ही पंजाब का मुख्यमंत्री होना चाहिए। उनके ऐसा कहते ही मंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि यदि ऐसा है तो फिर एक दलित को भी उपमुख्यमंत्री बनाया जाए और इसके लिए उनके नाम पर विचार किया जाए। बात बढ़ती देख कर केंद्रीय पर्यवेक्षकों ने कहा कि उनकी बातों को भी हाईकमान के सामने रखा जाएगा। इसके बाद सारे अधिकार पार्टी प्रधान सोनिया गांधी को सौंपते हुए मीटिंग को खत्‍म कर दिया गया। 

बताया जाता है कि बाद में सभी ने मिलकर एक बार फिर से सुखजिंदर सिंह रंधावा से बात की और कहा कि यदि वह अपनी जिद पर अड़े रहेंगे तो पंजाब में राष्ट्रपति राज लागू हो सकता है । उन्होंने यह भी समझाया कि वह अपनी जिद छोड़ कर सुनील जाखड़ के नाम पर सहमति बनाएं। बताते हैं कि रंधावा मान गए हैं। ऐसे में जल्‍द मुख्यमंत्री के रूप में सुनील जाखड़ के नाम पर किसी भी समय मुहर लग सकती है।

Edited By: Sunil Kumar Jha

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

चंडीगढ़ में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!