शिअद प्रधान सुखबीर बादल की बड़ी घोषणा- सिद्धू के खिलाफ अमृतसर पूर्वी से मजीठिया लड़ेंंगे चुनाव

Punjab Assembly Election 2022 पंजाब विधानसभा चुनाव में नई गर्मी आ गई हैै। शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने घोषणा की है कि अमृतसर पूर्वी सीट से पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया पंजाब कांग्रेस अध्‍यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे।

Sunil Kumar JhaPublish: Wed, 26 Jan 2022 07:09 PM (IST)Updated: Thu, 27 Jan 2022 07:05 AM (IST)
शिअद प्रधान सुखबीर बादल की बड़ी घोषणा- सिद्धू के खिलाफ अमृतसर पूर्वी से मजीठिया लड़ेंंगे चुनाव

चंडीगढ़ /अमृतसर, जेएनएन/ एएनआइ। Punjab Assembly Election 2022: शिरोमणि अकाली दल के अध्‍यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने आज बड़ी घोषणा की। इससे पंजाब विधानसभा चुनाव और रोचक हो गया है और इसमें नई गर्मी आ गई है। सुखबीर बादल ने कहा कि  बिक्रमजीत सिंह मजीठिया पंजाब कांग्रेस अध्‍यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे।  नवजोत सिंह सिद्धू का अहंकार खत्म करने के लिए शिअद मजीठिया को उनके खिलाफ अपनाा उम्‍मीदवार बना रहा है। इसके साथ ही सुखबीर ने पूर्व मुख्‍यमंत्री प्रकाश सिंह बादल को लंबी विधानसभा सीट से शिअद प्रत्‍याशी बनाने का ऐलान  भी किया। 

पूूूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल लंबी से लड़ेंगे चुनाव

मीडियाासे बात करते हुए सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि सिद्धू का अहंकार चरम पर है। सुखबीर बोले,  वो (नवजोत सिंह सिद्धू) अहंकारी हो गया है। उसमें मैं आ गया है और उसे पता चलेगा कि पंजाब की जनता उसे पसंद नहीं करती है। सिद्धू को जनता उनके अहंकार का जवाब देगी। बता दें कि बिक्रम सिंह मजीठिया और नवजोत सिंह सिद्धू एक -दूसरे पर हमले करते रहे हैं। सिद्धू ने मजीठिया पर नशे तस्‍करों से संंबंध रखने का आराेप लगाया था और इसको लेकर लगातार हमले करते रहे हैंं।       

   

अमृतसर में मीडिया से बातचीत करते शिअद अध्‍यक्ष सुखबीर सिंह बादल व अन्‍य नेता। (जागरण)   

मजीठिया मजीठा से भी लड़ेंगे चुनाव, 2007 से मजीठा हलके से लगातार जीतते आ रहे हैं

मजीठिया अृमतसर पूर्वी  के साथ ही मजीठा विधानसभा सीट से भी चुनाव लड़ेंगे। विधानसभा हलका जंडियाला गुरु से घोषित किए गए प्रत्याशी मलकीयत सिंह एआर की तबीयत ठीक न होने की वजह से अब उनकी सतिंदरजीत सिंह छज्जलवडी चुनाव लड़ेंगे। सुखबीर ने सिद्धू को चेतावनी देते हुए कहा]  'नवजोत सिद्धू तैयार हो जा, सिद्धू के खिलाफ माझे का शेर मजीठिया चुनाव लड़ेगा।' अकाली वर्करों  बोले सो निहाल के जयकारे लगाते हुए उनकी घोषणा का स्वागत किया।

सुखबीर ने कहा कि मजीठिया के खिलाफ पंजाब की सारी कांग्रेस पार्टी व सरकार लगी हुई है, क्योंकि वह पंजाबियों की आवाज उठाते हैं ओर उनकी लड़ाई लड़ते हैं। चन्नी सरकार ने विशेषकर सिद्धू ने ​मजीठिया पर झूठा केस करवाया। मजीठिया गुर सिख परिवार से संबंधित हैं और उस पर ड्रग्स का झूठा आरोप लगाया गया। मजीठिया ऐसा इंसान जो ढ़ाई घंटे रोज नितनेम करते हैं। हर महीने उनके घर अखंड पाठ साहिब के भोग डलते है। मजीठिया की गारंटी मैं देता हूं। जिन्होंने केस किया है, वे अब तैयार हो जाए। मैं- मैं कहने वाले सिद्धू को अब उनके हलके की जनता ही जवाब देगी।

पंजाब कांग्रेस अध्‍यक्ष नवजोोतसिंह सिद्धू।                                                       (फाइल फोटो) 

सुखबीर ने कहा, सिद्धू ऐसे इंसान हैं, जिस पार्टी में जाते हैं, उसे मारते हैं। अब अमृतसर हलके की जनता अब जवाब देगी। मजीठिया यहां से सिद्धू की जमानत जब्त करवाएंगे। सभी वर्करों ने मुझसे आग्रह किया था कि सिद्धू का अहंकार तोड़ना ही है, इसलिए मजीठिया को यहां से चुनाव मैदान में उतारा गया है। मुझ तो लगता है कि मजीठिया के आने के बाद सिद्धू कहीं खुद ही चुनाव मैदान छोड़कर न भाग जाए। सिद्धू अब तुम्हें भागने नहीं देंगे, अब तुम्हारे हलके की जनता ही जवाब देगी।

शिअद नेता व पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया।                                                       (फाइल फोटो)

सुखबीर बादल ने कहा, दस सालों तक वह (नवजोत सिंह सिद्धू ) अपने विधानसभा हलके में किसी को मिला ही नहीं। पंजाब माडल की बात करने वाले सिद्धू के हलके का क्या हालत है, वह यहां के हालत खुद बयां कर रहे हैं। सिद्धू स्‍थानीय निकाय मंत्री रहे, लेकिन प्रदेश क्‍या अपने हलके तक में विकास नहीं करवाया। सिद्धू के सियासी जीवन का अंत आ गया है, यह उनका अंतिम चुनाव है। 20 फरवरी के बाद पंजाब की सियासत की आबोहवा बदल जाएगी। अकाली दल अस्सी से अधिक सीटें लेकर सरकार बनाएगा।

छज्जलवडी जंडियाला गुरु से प्रत्याशी

शिरोमणि अकाली दल ने जंडियाला गुरु से मलकीयत सिंह एआर को टिकट दी थी। लेकिन उनकी तबीयत ठीक न होने की वजह से वह अपने बेटे संदीप सिंह एआर के लिए टिकट मांग रहे थे। बुधवार को उन्होंने रणजीत सिंह छज्जलवडी परिवार को अकाली दल ज्वाइन करवाया और उनके बेटे सतिंदरजीत सिंह छज्जलवडी को वहां से उम्मीदवार घोषित कर दिया। रणजीत सिंह छज्जलवडी विधानसभा हलका खडूर साहिब से तीन बार 1985,1992,1997 में विधायक रहे।

Edited By Sunil Kumar Jha

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept