दिल्ली सरकार अपनी नाकामी छिपाने के लिए पंजाब के किसानों को कर रही कलंकित: नरेश अरोड़ा

राजनीतिक रणनीतिकार नरेश अरोड़ा का कहना है कि दिल्ली सरकार खुद की नाकामी छिपाने केे लिए प्रदूषण का ठीकरा पंजाब के किसानों के सिर फोड़ रही है। केजरीवाल पराली जलाने का अतिशयोक्तिपूर्ण प्रचार कर अपनी विफल नीतियों को छिपा रहे हैं।

Kamlesh BhattPublish: Fri, 20 Nov 2020 04:46 PM (IST)Updated: Fri, 20 Nov 2020 04:46 PM (IST)
दिल्ली सरकार अपनी नाकामी छिपाने के लिए पंजाब के किसानों को कर रही कलंकित: नरेश अरोड़ा

जेएनएन, चंडीगढ़। राजनीतिक रणनीतिकार नरेश अरोड़ा ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को राजधानी में फैले प्रदूषण केे लिए जिम्मेदार ठहराया। कहा कि दिल्ली सरकार खुद की नाकामी छिपाने केे लिए प्रदूषण का ठीकरा पंजाब के किसानों के सिर फोड़ रही है। केजरीवाल पराली जलाने का अतिशयोक्तिपूर्ण प्रचार कर अपनी विफल नीतियों को छिपा रहे हैं।

नरेश अरोड़ा ने कहा कि आंकड़े दिल्ली सरकार की वास्तविकता अभिव्यक्त कर रहे हैं| टीईआरआइ और आइआइटी द्वारा जारी किए गए तथ्य दर्शाते हैं कि दिल्ली के प्रदूषण में कंस्ट्रक्शन का 40%, उद्योग 20% सार्वजनिक परिवहन में 20% योगदान है, जबकि पंजाब और हरियाणा जैसे पड़ोसी राज्यों में जलने वाली पराली मात्र 16% ही दिल्ली के प्रदूषण के लिए जिम्मेदार है।

अरोड़ा ने कहा कि दिल्ली सरकार पंजाब के किसानों के खिलाफ दुष्प्रचार व झूठे तथ्य सार्वजनिक कर रही है तथा इस कोशिश को असफल करने व पंजाब के किसानों की छवि व सम्मान संरक्षण में पंजाब आधारित राजनीतिक दल भी नाकाम सिद्ध हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह बहुत ही आश्चर्य की बात है कि पंजाब का कोई भी राजनीतिक दल दिल्ली के किसानों द्वारा फैलाए जा रहे प्रदूषण पर मौन है। कई अध्ययन व आंकड़े यह स्पष्ट कर चुके हैं सिर्फ कि पराली जलाना दिल्ली प्रदूषण का सर्वाधिक मुख्य कारण नहीं है। इसके बाद भी सभी दल किसानों को कलंकित करने वाली इस मुहिम के खिलाफ चुप्पी साधे हुए हैं। 

काउंसिल ऑन एनर्जी, एनवायरनमेंट एंड वाटर द्वारा प्रकाशित एक अध्ययन को आधार बनाते हुए अरोड़ा ने कहा कि वाहनों का उत्सर्जन दिल्ली में पीएम 2.5 प्रदूषकों में सबसे अहम है। अध्ययन बताता है कि वाहनों व निर्माण से मिट्टी का गठन कमजोर हो जाता है तथा धूल के माध्यम से पीएम 10 प्रदूषक के रूप में 36 से 66 प्रतिशत की हिस्सेदार होती है। 

यह भी पढ़ें : वालिंटर के रूप में पहुंचे हरियाणा के मंत्री अनिल विज, अंबाला में लगवाया कोवैक्सीन का परीक्षण टीका

यह भी पढ़ें : अमृतसर के अटारी में फाजिल्का की युवती से सामूहिक दुष्कर्म, माथा टेकने बाबा शहीदां साहिब गई थी पीड़िता

यह भी पढ़ें : कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलनरत किसान संगठनों से बातचीत करेंगे पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह

यह भी पढ़ें : Exclusive Interview: पंजाब भाजपा अध्यक्ष अश्विनी शर्मा ने बताई पार्टी की रणनीति, अपने दम पर कूदेंगे चुनाव मैदान में

यह भी पढ़ें : कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन का खामियाजा भुगतता पंजाब, कारोबारी ही नहीं, खुद किसान भी परेशान

Edited By Kamlesh Bhatt

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept