साल 2021 में चंडीगढ़ ने खोई खेल जगत की 3 बड़ी हस्तियां, मिल्खा सिंह, निर्मल मिल्खा और मास्टर एथलीट मान कौर

Year Ender 2021 साल 2021 में चंडीगढ़ ही नहीं बल्कि देश ने खेल जगत के तीन दिग्गज पूर्व खिलाड़ी खो दिए। यह तीनों खिलाड़ी चंडीगढ़ से थे। इनमें सबसे पहले पूर्व भारतीय नेशनल वालीबाल टीम की कप्तान निर्मल मिल्खा सिंह का निधन कोरोना महामारी के चलते हुआ।

Ankesh ThakurPublish: Thu, 30 Dec 2021 01:31 PM (IST)Updated: Thu, 30 Dec 2021 03:02 PM (IST)
साल 2021 में चंडीगढ़ ने खोई खेल जगत की 3 बड़ी हस्तियां, मिल्खा सिंह, निर्मल मिल्खा और मास्टर एथलीट मान कौर

विकास शर्मा, चंडीगढ़। Year Ender 2021: साल 2021 में चंडीगढ़ ही नहीं बल्कि देश ने खेल जगत के तीन दिग्गज पूर्व खिलाड़ी खो दिए। यह तीनों खिलाड़ी चंडीगढ़ से थे। इनमें सबसे पहले पूर्व भारतीय नेशनल वालीबाल टीम की कप्तान निर्मल मिल्खा सिंह का निधन कोरोना महामारी के चलते हुआ। उन्होंने 13 जून को मोहाली के फोर्टिस अस्पताल में आखिरी सांस ली थी। उनकी मौत के पांच दिन बाद उनके पति फ्लाइंग सिख पद्मश्री मिल्खा सिंह का कोरोना होने के बाद शरीर पर पड़ने वाले प्रभावों की वजह से पीजीआइ में इलाज के दौरान देहांत हो गया। इस दंपत्ती के दुनिया से जाने के बाद शहर ही नहीं बल्कि पूरे देश में शोक की लहर थी।

खेल प्रेमी अभी इन दो महान खिलाड़ियों की मौत के शोक से उभर भी नहीं पाए थे कि 31 जुलाई में वर्ल्ड रिकार्ड होल्डर मास्टर एथलीट सरदानी मान कौर ने 105 साल की उम्र में इस दुनिया को अलविदा कह दिया। वह गॉल ब्लैडर कैंसर से पीड़ित थी। यह खिलाड़ी चाहे आज हमारे बीच नहीं हैं लेकिन इनका जज्बा व जुनून हमेशा आने वाली पीढ़ियों के लिए प्ररेणास्त्रोत रहेगा। यह तीनों पूर्व खिलाड़ी विश्व में देश की पहचान थे।

खिलाड़ियों के लिए हमेशा रहेंगे प्रेरणा स्त्रोत

उड़न सिख के नाम से मशहूर पद्मश्री मिल्खा सिंह ने साल 1958 के एशियाई खेलों में 200 मीटर व 400 मीटर दौड़ में गोल्ड मेडल जीता था। साल 1958 के कॉमनवेल्थ खेलों में गोल्ड मेडल जीता था। साल 1962 के एशियाई खेलों में गोल्ड मेडल जीता था। साल 1960 के रोम ओलंपिक खेलों में उन्होंने पूर्व ओलंपिक कीर्तिमान को ध्वस्त किया लेकिन वह मेडल नहीं जीत सके थे। साल 1960 में पाकिस्तान प्रसिद्ध धावक अब्दुल बासित को पाकिस्तान में उन्होंने काफी अंतर से हराया ,जिसके बाद जनरल अयूब खान ने उन्हें ‘उड़न सिख’ कह कर पुकारा था। साल 1962 के जकार्ता में आयोजित एशियन खेलों में मिल्खा ने 400 मीटर और 4 X 400 मीटर रिले दौड़ में गोल्ड मेडल जीता था। रोम ओलिंपिक में स्थापित मिल्खा के कीर्तिमान को धावक परमजीत सिंह ने 40 साल बाद साल 1998 में तोड़ा था। उनके जीवन पर भाग मिल्खा भाग फिल्म भी बन चुकी है। ऐसी ही शख्सियत निर्मल मिल्खा सिंह और मान कौर थी। इनका जीवन हमेशा खिलाड़ियों के प्ररेणा स्त्रोत रहेगा।

पद्मश्री मिल्खा सिंह, पूर्व ओलिंपियन।

जन्म - 20 नवंबर, 1929

निधन -18 जून, 2021

निर्मल मिल्खा सिंह, पूर्व नेशनल वालीबाल टीम कप्तान।

जन्म - 8 अक्टूबर, 1938

निधन -13 जून, 2021

सरदानी मानकौर, मास्टर एथलीट वर्ल्ड रिकार्ड होल्डर।

जन्म - 1 मार्च, 1916

निधन -31 जुलाई, 2021

Edited By Ankesh Thakur

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept