चंडीगढ़ के पूर्व मेयर की फोटो लगा फेसबुक पर ठगी की कोशिश, हफ्ते में दूसरी बार हुई घटना

रविकांत शर्मा को किसी जानकार ने बताया कि उनकी फेसबुक मैसेंजर से मैसेज मिला था जिसमें कुछ पैसे की जरूरत बताई जा रही थी। इसके बाद उन्होंने अपने स्तर पर आइडी चेक की तो पता चला कि किसी ने उनकी तस्वीर लगाकर उनके नाम से फेक फेसबुक आइडी बनाई है।

Ankesh ThakurPublish: Tue, 25 Jan 2022 02:50 PM (IST)Updated: Tue, 25 Jan 2022 02:50 PM (IST)
चंडीगढ़ के पूर्व मेयर की फोटो लगा फेसबुक पर ठगी की कोशिश, हफ्ते में दूसरी बार हुई घटना

जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। चंडीगढ़ नगर निगम के पूर्व मेयर रविकांत शर्मा की फोटो लगाकर फर्जी फेसबुक आइडी बनाकर शातिर पैसों की मांग कर रहे हैं। शातिर ने रविकांत शर्मा की जगह संजय शर्मा नाम लिखा हुआ है। बता दें कि बीते सप्ताह ही पूर्व मेयर की फर्जी आइडी बनाकर पैसे मांगने का मामला सामने आया था। इस मामले की जानकारी मिलने के बाद पूर्व मेयर ने अपने असली फेसबुक अकाउंट से एक पोस्ट लिखकर लोगों को अलर्ट किया था कि कोई भी पैसे ट्रांसफर न करें। जबकि, घटना की शिकायत साइबर सेल के अधिकारियों को दी थी। ऐसे में एक बार फिर उनके फोटो का इस्तेमाल फेक फेसबुक आइडी में किया जा रहा है।

रविकांत शर्मा ने बताया कि उनको किसी दोस्त से जानकारी मिली। उसने बताया कि उनकी फेसबुक मैसेंजर से मैसेज मिला था जिसमें कुछ जरूरी कारणवश पैसे की जरूरत बताई जा रही थी। इसके बाद उन्होंने अपने स्तर पर आइडी चेक की तो पता चला कि किसी ने उनकी तस्वीर लगाकर उनके नाम से फेक फेसबुक आइडी बना ली है। इसके बाद उन्होंने तुरंत अपने कई लोगों को कॉल कर जानकारी देने के साथ फेसबुक पर भी अलर्ट पोस्ट लिखा है।

पूर्व एसपी, डीएसपी, बीजेपी अध्यक्ष सहित कई लोगों के नाम पर वारदात की कोशिश

इससे पहले साइबर क्रिमिनल चंडीगढ़ भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अरुण सूद, पूर्व सुपरिंटेंडेंट ऑफ पुलिस रोशन लाल, डिप्टी सुपरिंटेंडेंट ऑफ पुलिस जगबीर सिंह सहित कई पुलिस अधिकारियों और नेताओं की नकली आइडी बनाकर ठगने की कोशिश भी कर चुके हैं। हालांकि शातिर इसमें कामयाब नहीं हो पाए। चंडीगढ़ पुलिस भी अब तक ऐसे एक भी मामले में आरोपित को गिरफ्तार नहीं कर पाई है।

Edited By Ankesh Thakur

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept