चंडीगढ़ में सीआरपीएफ के एएसआइ की बेटी ने काटा अपना गला, बीकॉम की छात्रा थी निधि

मृतका की पहचान 26 वर्षीय निधि के तौर पर हुई है। उसने अपने कमरे में धारदार हथियार को अपने गले की नस काट ली। इसके बाद वह कमरे में भी बेहोश हो गई। वहीं डॉक्टर ने बताया कि ज्यादा खून बहने से युवती ने दम तोड़ दिया था।

Ankesh ThakurPublish: Fri, 28 Jan 2022 09:47 AM (IST)Updated: Fri, 28 Jan 2022 09:47 AM (IST)
चंडीगढ़ में सीआरपीएफ के एएसआइ की बेटी ने काटा अपना गला, बीकॉम की छात्रा थी निधि

जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। Chandigarh Crime: चंडीगढ़ के सेक्टर-51 स्थित सीआरपीएफ कैंप में परिवार के साथ रहने वाले एक युवती अपना गला काटकर जान दे दी। सूचना पाकर पहुंची सीआरपीएफ टीम ने उसे अस्पताल में भर्ती करवाया और पुलिस को भी सूचना दी। पुलिस की प्राथमिक जांच के आधार पर सुसाइड करने की वजह सामने नहीं आई है। इसके अलावा वारदात स्थल की जांच में कोई सुसाइड नोट भी नहीं मिला है। मृतका के पिता सीआरपीएफ में सब इंस्पेक्टर की पोस्ट पर तैनात हैं।

जानकारी के अनुसार मृतका की पहचान 26 वर्षीय निधि के तौर पर हुई है। उसने अपने कमरे में धारदार हथियार को अपने गले की नस काट ली। इसके बाद वह कमरे में भी बेहोश हो गई। वहीं, डॉक्टर ने बताया कि ज्यादा खून बहने से युवती ने दम तोड़ दिया था।

निधि दो भाई बहन है और वह घर पर आस पड़ोस के बच्चों को ट्यूशन पढ़ाती थी। घरवालों ने बताया कि मंगलवार रात परिवार वाले खाना खाकर अपने-अपने कमरे में सोने चले गए थे। निधि भी अपने कमरे में थी। रात करीब 10 बजे घरवालों ने उसे कमरे में खून से लथपथ देखा तो वह हैरान रह गए। घरवाले उसे जीएमसीएच-32 ले गए जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। 

बीकॉम की छात्रा थी, कोरोना जांच के लिए भेजा सैंपल

जानकारी के अनुसार निधि बीकॉम की छात्रा थी। वहीं हादसे के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने कोविड-19 के लिए सैंपल भेज दिया है। अब जांच रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद स्वजनों की मौजूदगी में पुलिस पोस्टमार्टम प्रक्रिया पूरी करवाएगी। जिसके बाद शव को स्वजनों के हवाले कर दिया जाएगा।

Edited By Ankesh Thakur

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept