Chandigarh MC Poll: नगर निगम चुनाव में इस बार 316 नामांकन भरे, 25 साल का टूटा रिकार्ड

चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव इस बार रोमांचक हो गया है। हर वार्ड से कम से कम दो से तीन आजाद उम्मीदवारों ने अपना नामांकन भरा है। कई वार्ड तो ऐसे हैं जहां चार से पांच आजाद उम्मीदवारों ने चुनावी मैदान में ताल ठोकी है।

Vipin KumarPublish: Sun, 05 Dec 2021 11:50 AM (IST)Updated: Sun, 05 Dec 2021 11:50 AM (IST)
Chandigarh MC Poll: नगर निगम चुनाव में इस बार 316 नामांकन भरे, 25 साल का टूटा रिकार्ड

जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। इस बार नगर निगम चुनाव में रिकॉर्ड तोड़ 316 नामांकन भरे गए। वर्ष 1996 से लेकर अब तक के निगम चुनाव में सबसे ज्यादा नामांकन दर्ज किए गए। नामांकन भरने के अंतिम दिन 237 ने पर्चा भरा। 316 नामांकन में भाजपा से 35, कांग्रेस से 35, आप से 35, शिअद से 19, बसपा से 16 और आजाद उम्मीदवार 69 हैं। कुल नामांकन में से 188 पुरुष और 128 महिला उम्मीदवार हैं।

आजाद उम्मीदवार बिगाड़ेंगे कई राजनीतिक दलों का चुनावी खेल

चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव इस बार रोमांचक हो गया है। हर वार्ड से कम से कम दो से तीन आजाद उम्मीदवारों ने अपना नामांकन भरा है। कई वार्ड तो ऐसे हैं, जहां चार से पांच आजाद उम्मीदवारों ने चुनावी मैदान में ताल ठोकी है। ये आजाद उम्मीदवार कई राजनीतिक दलों के प्रत्याशियों का चुनावी खेल बिगाड़ेंगे। पार्टी से टिकट न मिलने पर बगावत पर उतरे ये आजाद उम्मीदवार अब अपने ही पार्टी के प्रत्याशी से चुनावी मैदान में जीतने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं।

यहां तक की भाजपा और कांग्रेस जिन नेताओं की टिकट कटी है, अब वह चुनावी मैदान में एक दूसरे को समर्थन दे रहे हैं। इसका सीधा उदाहरण है कांग्रेस के पूर्व नेता शशि शंकर तिवारी को जब टिकट नहीं मिली तो उन्होंने पार्टी का दामन छोड़ दड़वा से भाजपा से बगावत कर बैठे गुरप्रीत सिंह हैप्पी को समर्थन दिया है। क्योंकि भाजपा ने इस बार टिकट बंटावारे में गुरप्रीत सिंह हैप्पी का टिकट भी काट दिया।

इन आजाद उम्मीदवारों पर रहेगी सबकी नजर

वार्ड नंबर-12 से सुरेंद्र शर्मा ने निर्दलीय तौर पर नामांकन दाखिल किया है। डड्डूमाजरा सीट पर भाजपा नेता नरेंद्र चौधरी ने नाराजगी जाहिर करते हुए नामांकन दाखिल किया है।धनास सीट से आप से टिकट न मिलने पर अनिल मदान ने निर्दलीय तौर पर नामांकन दाखिल किया है। भाजपा में भी टिकट आवंटन से कई नेता नाराज है। भाजपा में निक्कू ने भी नाराज होकर निर्दलीय तौर पर नामांकन दाखिल कर दिया है। शशि शंकर तिवारी वार्ड नंबर-9 से अपनी पत्नी के लिए टिकट मांग रहे थे, अब वह इस वार्ड से चुनाव लड़ रहे पूर्व सरपंच गुरप्रीत हैप्पी की पत्नी के समर्थन में आ गए हैं। हैप्पी ने भी टिकट न मिलने पर भाजपा छोड़ दी है। वहीं महासचिव हरमेल केसरी भी पत्नी प्रिति केसरी को भी टिकट न मिलने से नाराज है। भाजपा के टिकट वितरण से नाखुश होकर मुकेश गोयल ने वार्ड 32 से निर्दलीय तौर पर नामांकन भरा है। इसके अलावा शहर से एन्वायरमेंट ग्रुप के भी उम्मीदवार निर्दलीय तौर पर खड़े है जिससे भी राजनीतिक दलों का नुकसान होगा।

Edited By Vipin Kumar

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept