एक्सईएन पर आरोप, काग्रेस प्रत्याशी से फोन कराओ फिर बढ़ेगा लोड

बठिंडा पीएसपीसीएल के अधिकारी उतनी देर तक काम नहीं करते जितनी देर तक सत्तापक्ष के नेता काम की सिफारिश नहीं कर देते।

JagranPublish: Sun, 23 Jan 2022 02:23 AM (IST)Updated: Sun, 23 Jan 2022 02:23 AM (IST)
एक्सईएन पर आरोप, काग्रेस प्रत्याशी से फोन कराओ फिर बढ़ेगा लोड

जागरण संवाददाता बठिंडा: बठिंडा पीएसपीसीएल के अधिकारी उतनी देर तक काम नहीं करते जितनी देर तक सत्तापक्ष के नेता काम की सिफारिश नहीं कर देते। ऐसा ही मामला जस्सी चौक का सामने आया है। जस्सी चौक में स्थित इंडियन आयल के पेट्रोल पंप का लोड बढ़ाने के लिए 11 अक्टूबर 2021 को अप्लाई करके बनती फीस भर दी गई थी, लेकिन अब तक पंप का लोड नहीं बढ़ाया गया। अप्लाई करने वाले शकर बंसल जब भी पीएसपीसीएल के मौड़ मंडी के एक्सईएन कमलजीत सिंह मान से इस संबंध में अपील करते हैं तो उनको कहा जाता है कि अगर काम जल्दी करवाना है तो काग्रेस के प्रत्याशी से फोन करवाएं। नहीं तो जब भी समय मिलेगा तभी लोड बढ़ा सकेंगे। 24 दिन में बढ़ाना होता है लोड

पीएसपीसीएल में राइट टू सर्विस एक्ट के कोई मायने नहीं हैं, जिसके कारण उपभोक्ताओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैष जो काम 24 दिन में होने होते हैं, वह सवा तीन महीने में भी नहीं किए जा रहे। अधिकारियों में तालमेल का अभाव

पीएसपीसीएल के अधिकारियों में आपसी तालमेल के अभाव के कारण उपभोक्ता परेशान हो रहे हैं। सूत्रों के अनुसार मौड़ मंडी के एक्सईएन व कोटशमीर के एसडीओ के आपसी सम्बंध ठीक नहीं हैं। इसका खामियाजा उपभोक्ताओं को भुगतना पड़ रहा है। 20 दिनों से पंप पर पड़ा है ट्रासफार्मर

जस्सी चौक पर स्थित पेट्रोल पंप पर चार जनवरी को पीएसपीसीएल के कर्मचारी ट्रासफार्मर रख गए थे, लेकिन उसके 20 दिन बीत जाने के बाद भी ट्रासफार्मर को इंस्टाल नहीं किया गया। शकर बंसल ने बताया कि जब ट्रासफार्मर रखकर जाने वाले कर्मचारियों से बात की तो उनका कहना था की अब यह काम मौड़ मंडी के एक्सईएन के एंड पर रुका हुआ है। उनके द्वारा वर्क आर्डर जारी किया जाना है। इसके बाद ही इस को इंस्टाल कर पाएंगे । सैकड़ों लोग हो रहे परेशान

पीएसपीसीएल अधिकारियों की लापरवाही के कारण हर रोज सैकड़ों लोग परेशान हो रहे हैं, क्योंकि सीएनजी स्टेशन को ज्यादा लोड की जरूरत होती है। ऐसे में कम लोड के चलते प्रेशर नहीं बन पाता और इससे कारों में गैस नहीं भरी जा सकती। इस कारण हर रोज सैकड़ों ग्राहक परेशान हो रहे हैं।

काग्रेस प्रत्याशी की सिफारिश वाली कोई बात नहीं है। असल में पहले जेई हड़ताल पर रहे और फिर एसडीओ और ठेकेदार के आपसी तालमेल के अभाव के कारण इसमें देरी हो गई। इसको कल तक इंस्टाल करा दिया जाएगा।

- कमलजीत सिंह मान, एक्सइएन, पीएसपीसीएल, मौड मंडी असल में हमारे पास एक ही ठेकेदार है। वह लाइन शिफ्टिंग में लगा होने के कारण काम में देरी हो गई। ठेकेदार के साथ तालमेल के अभाव जैसी कोई बात नहीं है।

- हिमाशु, एसडीओ,कोटशमीर

लोड बढ़ाने में इतनी देरी तो नहीं होनी चाहिए। मैं इसको चेक कराता हूं। अगर किसी पर आरोप लगाए गए हैं तो उसकी जांच होगी।

- मस्सा सिंह,चीफ इंजीनियर, वेस्ट ज़ोन,पीएसपीसीएल पीएसपीसीएल के अधिकारी काग्रेस प्रत्याशियों के इशारे पर ही काम कर रहे हैं, जबकि अब तो चुनाव आचार संहिता लगी हुई है। काग्रेस प्रत्याशियों को राजनीतिक लाभ पहुंचाने के लिए पीएसपीसीएल के अधिकारी आम लोगों को परेशान कर रहे हैं। चुनाव आयोग को इस तरफ तुरंत ध्यान देने की जरूरत है।

- अमित रतन कोटफत्ता, आप प्रत्याशी

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept