बढ़ रहा आंकड़ा: सात माह बाद एक दिन में कोरोना ने ली आठ लोगों की जान, 525 संक्रमित मिले

कोरोना संक्रमितों की संख्या में अप्रत्याशित ढंग से वृद्धि दर्ज की जा रही है।

JagranPublish: Thu, 20 Jan 2022 11:36 PM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 02:59 AM (IST)
बढ़ रहा आंकड़ा: सात माह बाद एक दिन में कोरोना ने ली आठ लोगों की जान, 525 संक्रमित मिले

जागरण संवाददाता, अमृतसर: राज्य में चुनावी पारा सातवें आसमान पर है। सत्तापक्ष और विपक्ष के उम्मीदवार इक-दूजे पर आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति में जुटे हैं। इसी बीच कोरोना संक्रमितों की संख्या में अप्रत्याशित ढंग से वृद्धि दर्ज की जा रही है। जनवरी के 20 दिनों में 7089 संक्रमित रिपोर्ट हो चुके हैं। इसी अवधि में 24 संक्रमितों की मौत हुई है।

वहीं वीरवार को करीब सात माह बाद कोरोना संक्रमित आठ लोगों की मौत हुई है, वहीं 525 संक्रमित रिपोर्ट हुए। मृतकों में बसंत एवेन्यू निवासी 72 वर्षीय बुजुर्ग, बाबा बकाला निवासी 42 वर्षीय शख्स, गांव बुलेनंगल निवासी 54 वर्षीय महिला, गांव थरीएवाल निवासी 52 वर्षीय शख्स, तरसिक्का निवासी 58 वर्षीय शख्स, सुल्तानविड रोड निवासी 58 वर्षीय महिला, भगतपुरा कालोनी निवासी 52 वर्षीय शख्स व गांव भोरसी राजपूतां निवासी 62 वर्षीय शख्स शामिल है। मौतों का आंकड़ा बड़ा है। इससे पूर्व नौ जून 2021 को नौ संक्रमितों की मौत हुई थी। राहत भरी बात यह है कि पिछले 24 घंटे में 731 मरीज स्वस्थ भी हुए हैं। अब सक्रिय मरीजों की संख्या कम होकर 3915 पर आ गई है। राहत इसलिए.. रिकवरी रेट बढ़कर 139.2 प्रतिशत पहुंचा

इस बीच सुखद खबर यह है कि रिकवरी रेट में वृद्धि दर्ज की गई है। 11 जनवरी को जहां रिकवरी रेट 7.25 फीसद था, वहीं अब यह 101 प्रतिशत जा पहुंचा है। इसका अर्थ यह हुआ कि जितने संक्रमित रिपोर्ट हो रहे हैं, तकरीबन उतने ही स्वस्थ भी होते जा रहे हैं। दोनों डोज लगवाने वालों पर जान का खतरा नहीं, मृतक कई बीमारियों से पीड़ित थे

कोरोना की तीसरी लहर में वैक्सीन की दोनों डोज लगवा चुके लोग भी संक्रमित हो रहे हैं। संक्रमितों में 20 फीसद दोनों डोज भी लगवा चुके हैं। खास बात यह है कि पहली व दूसरी डोज लगवा चुके संक्रमितों में वायरस गंभीर प्रभाव नहीं दिखा पाया। अब तक एक कोरोना संक्रमित की मौत हुई है जिसे दोनों डोज लग चुकी थी, पर वह कई गंभीर बीमारियों की जकड़ में पहले से ही था। सिविल सर्जन डा. चरणजीत सिंह के अनुसार हम सभी मौतों का रिव्यू कर रहे हैं। जिन मृतकों को दोनों कोरोना वैक्सीन लग चुकी है उनकी सूची तैयार कर सरकार को भेजी जा रही है। प्राथमिक जांच में यह सामने आया है कि मृतकों को कोरोना के अतिरिक्त हृदय, लीवर व किडनी संबंधी रोग भी थे। इस वजह से उनकी मौत हुई है। डा. चरणजीत ने कहा कि कोरोना वैक्सन लगवाने वाले संक्रमित हो रहे हैं, पर उन्हें जान का खतरा नहीं है। एक दिन में 26,453 को लगा टीका, दूसरी डोज लगवाने वाले नौ लाख के पार

जिले में कोरोना वैक्सीन लगाने की रफ्तार गति पकड़ चुकी है। वीरवार को जिले के 265 टीकाकरण केंद्रों में 26,453 लोगों को टीका लगाया गया। इनमें 15 से 18 आयु वर्ग के 1668 किशोरों को टीका लगा। यह पहली बार है जब एक दिन में 1668 किशोरों को टीका लगाया गया हो। 3 जनवरी को शुरू हुए किशोर टीकाकरण के अंतर्गत अब तक 19957 किशोरों को टीका लगाया जा चुका है। इसके साथ ही अब तक कुल 24,88,890 डोज लगाई जा चुकी हैं। इनमें से 9,11,409 लोगों को दोनों डोज लग चुकी हैं।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept