आप की टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़े संधू अकाली दल में शामिल

अमृतसर पूर्वी विधान सभा क्षेत्र से नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद अकाली नेता बिक्रम सिंह मजीठिया ने पूर्वी विधानसभा क्षेत्र में गतिविधियां तेज कर दी हैं।

JagranPublish: Fri, 28 Jan 2022 08:24 PM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 02:59 AM (IST)
आप की टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़े संधू अकाली दल में शामिल

जागरण संवाददाता, अमृतसर: अमृतसर पूर्वी विधान सभा क्षेत्र से नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद अकाली नेता बिक्रम सिंह मजीठिया ने पूर्वी विधानसभा क्षेत्र में गतिविधियां तेज कर दी हैं। इसी के तहत कांग्रेस के नेता उपकार सिंह संधू, कांग्रेस पार्षद जसविदर सिंह लाडो पहलवान, भाजपा नेता रणजीत सिंह,अमृतपाल सिंह बब्बलू,रमेश अरोड़ा, नीरज कुमार और राजा मेहता कांग्रेस छोड़ कर अकाली दल में शामिल हो गए।

उपकार संधू पहले अकाली दल के जिला शहरी अध्यक्ष रह चुके हैं। वह आल इंडिया सिख स्टूडेंट्स फेडरेशन, आम आदमी पार्टी (आप) से अमृतसर लोकसभा सीट से एमपी के उम्मीदवार, पंजाब एनर्जी डवलपमेंट बोर्ड के चेयरमैन रह चुके हैं। विधानसभा चुनाव के बाद उपकार सिंह संधू कैप्टन अमरिदर सिंह की अगुआई में कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए थे। वहां भी उनकी बात नहीं बनी तो वह अब वापस अकाली दल में शामिल हो गए।

विभिन्न कांग्रेसी नेताओं को अकाली दल में शामिल करवाते हुए बिक्रम सिंह मजीठिया ने क्षेत्र के विधायक रहे व पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू की कार्यप्रणाली पर कटाक्ष करते हुए कहा कि सिद्धू बातें तो बड़ी-बड़ी करते हैं परंतु ग्राउंड पर कोई काम नहीं है विकास का। 18 वर्ष लोगों ने सिद्धू परिवार को सत्ता सौंपी है। परंतु सिद्धू ने अपने क्षेत्र में कोई भी विकास नहीं करवाया। अब लोग दोबारा सिद्धू को मौका नहीं देंगे। सिद्धू के क्षेत्र में इतने अधिक मुद्दे है कि उनका सिद्धू के पास कोई जवाब नहीं है। जो व्यक्ति परिवार के प्रति उत्तरदायित्व नहीं निभाता, वह लोगों के प्रति जिम्मेदारी क्या निभाएगा?

मजीठिया ने कहा कि अकाली दल अमृतसर पूर्वी में मुद्दों के आधार पर मैदान में उतरा है। विकास के काम की जगह सिद्धू कुर्सी के लिए लड़ाई लड़ते रहे। जब भी काम की कोई बात होती है तो सिद्धू कोई ना कोई विवाद पैदा कर देते हैं। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति अपने परिवार व बहन के प्रति अपना उत्तरदायित्व नहीं निभाता, वह आम लोगों के प्रति जिम्मेदारी क्या निभाएगा? सिद्धू तो किसी समय कैप्टन अमरिदर सिंह को अपना पिता कहता था फिर उसी पिता को अपने स्वार्थ के लिए पार्टी से बाहर करवा दिया। इस व्यक्ति पर क्षेत्र के लोग कैसे विश्वास कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि सिद्धू का पंजाब माडल झूठ का माडल है।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept