नेताजी की जयंती को पराक्रम दिवस के रूप में मनाया

सामाजिक समरसता राष्ट्रीय एकता मंच द्वारा नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती को पराक्रम दिवस के रूप में मनाया गया।

JagranPublish: Sun, 23 Jan 2022 04:54 PM (IST)Updated: Sun, 23 Jan 2022 11:46 PM (IST)
नेताजी की जयंती को पराक्रम दिवस के रूप में मनाया

संवाद सहयोगी, अमृतसर : सामाजिक समरसता राष्ट्रीय एकता मंच द्वारा नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती को 'पराक्रम दिवस' के रूप में मनाया गया। संस्था के संस्थापक मध्य प्रदेश के प्रतिष्ठित समाजसेवी अरुण दीक्षित तथा राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. स्वराज ग्रोवर के नेतृत्व में वेबिनार आयोजित हुआ। इसमें देश-विदेश से लगभग 45 विद्वानों तथा समाजसेवियों ने भाग लिया। यूनाइटेड किंगडम (बेल फास्ट) से आइटी इंजीनियर समाजसेवी ऋषभ शर्मा, अमरीका (जार्जिया) से स्वर्ण शर्मा, आस्ट्रेलिया (सिडनी) से चीफ मैनेजर पीयूष ग्रोवर के अलावा होली हाट प्रेसीडेंसी स्कूल की डायरेक्टर अंजना सेठ, डीएवी कालेज के प्रो. डा. किरण खन्ना, डा. प्रो. कुलदीप सिंह आर्य, कोलकाता से सीनियर मैनेजर सिद्धार्थ मिश्रा, बंगलौर से समाजसेवी राधारानी, हैदराबाद से सीनियर मैनेजर विवेक ढोटे, झांसी से लेखिका किरण बत्रा, फगवाड़ा से खत्री सभा के रमन नेहरा, जालंधर से लेखक अशोक सयाल, लुधियाना से कवित्री अवंतिका विशाल, दिल्ली से तन्वी महाजन, मध्य प्रदेश से संतोष व्यास, उल्फत सिंह, सुरेंद्र, प्रो जय बाला निगम, आर्य समाज से प्राचार्य श्रुति महाजन, रेनू घई, देशबंधु धीमान, रोटरी क्लब अध्यक्ष महेश सागर, धर्मवीर गुप्ता, इनरव्हील अध्यक्ष बीनू छाबड़ा, दिव्य ज्योति संस्थान से तनुजा गोयल, खत्री सभा के उपाध्यक्ष अनिल खन्ना, खालसा कालेज की प्रो. रिपिन कोहली, डा. जसप्रीत कौर, समाजसेवी अंकित कुमार, प्रिस कुमार, मुस्कान वेलफेयर सोसायटी की सपना मेहरा, किरण विज, बलदेव बाक्सर, विजय रानी, शैलेंद्र आदि ने वेबिनार में कहा कि नेताजी के राष्ट्र समर्पण के संदेश का अनुकरण कर उनके सपनों को साकार करें। संस्थापक अरुण दीक्षित ने कहा कि सुभाष चंद्र बोस मां भारती के वीर सपूत थे। वह महान देशभक्त थे। डा. स्वराज ग्रोवर ने कहा कि नेता जी द्वारा निर्मित आजाद हिद फौज की 'रानी झांसी रेजिमेंट' नारी वीरांगना शक्ति की प्रतीक थी।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept