This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

धार्मिक शाल ओढ़कर विवाद फंसने के बाद नवजोत सिद्धू ने माफी मांगी, ट्वीट कर जताया खेद

पंजाब के पूर्व कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने नए विवाद में फंसने के बाद बुधवार को माफी मांग ली। सिद्धू ने ट्वीट कर श्री अकाल तख्‍त साहि‍ब से माफी मांगी है। सिद्धू किसानों के बीच धार्मिक निशान वाले शॉल ओढ़कर जाने के बाद विवाद में फंस गए थे।

Sunil Kumar JhaWed, 30 Dec 2020 12:34 PM (IST)
धार्मिक शाल ओढ़कर विवाद फंसने के बाद नवजोत सिद्धू ने माफी मांगी, ट्वीट कर जताया खेद

अमृतसर, जेएनएन। पूर्व कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने धार्मिक चिन्ह वाली शाल ओढकर को लेकर उठे विवाद के बाद श्रीअकाल सख्त साहिब से माफी मांगी है। सिद्धू ने ट्वीट कर बुधवार को माफी मांगी और खेद जताया। उन्‍होंने कहा कि उनसे अनजाने में ऐसी भूल हो गई और इसके लिए उनको बेहद अफसाेस है।

नवजोत सिद्धू ने ट्वीट में कहा कि श्रीअकाल तख्त साहिब सुप्रीम है। अगर मैंने अनजाने में एक भी सिख की भावना को आहत किया है, तो मैं माफी चाहता हूं।सिद्धू ने कहा कि लाखों सिख गर्व के साथ अपनी पगड़ी, कपड़ों पर धार्मिक चिन्ह सजाते हैं। यहां तक की शरीर पर टैटू तक बनवाते हैं। मैंने भी विनम्र सिख होने के नाते धार्मिक चिन्ह वाला छाल ओढा था।

बता दें कि सियासी गतिविधियों से दूरी बना रहे नवजोत सिंह सिद्धू दो दिन पहले जालंधर जिले के शाहकोट क्षेत्र में किसानों के बीच पहुंचे थे। वह शाहकोट क्षेत्र के गांव संढावाल में किसानों से मिलने पहुंचे थे और केंद्रीय कृषि कानूनों व फसलों के न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य (एमएसपी) पर जागरूक करने के लिए पहुंचे थे। सिद्धू जब वहां पहुंचे तो उस दौरान उन्होंने सिख धार्मिक चिन्ह खंडा साहिब व ओंकार साहिब के निशान छपा हुआ शॉल ओढा हुआ था।

इस पर विवाद पैदा हो गया था और विभिन्‍न सिख संगठनों द्वारा इस पर कड़ा विरोध दर्ज किया गया था। कई संगठनों और धार्मिक नेताओं ने नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। उनके इस तरह धार्मिक निशान वाले शॉल ओढ़ने को सिख धर्म व मर्यादा के विरुद्ध बताया गया और सिद्धू पर सिखों की धार्मिक भावनाओं को आहत करने का आरोप लगाया। कई लोगों और संगठनों ने सिद्धू से इसके लिए श्री अकाल तख्त साहिब से माफी मांगने को कहा गया था। सिख संगठनों ने श्री अकाल तख्‍त साहिब से अपील की थी कि सिद्धू माफी न मांगें तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए।

 

यह भी पढ़ें: नवजोत सिद्धू पंजाब में नए‍ विवाद में फंसे, धार्मिक निशान वाला शाल ओढ़कर किसानों के बीच पहुंचे

 

हरियाणा की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

पंजाब की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

अमृतसर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!