दुग्र्याणा कमेटी के चुनाव में बैलेट पेपर का इस्तेमाल हो

श्री दुग्र्याणा कमेटी के चुनाव फरवरी में होने की संभावना को देखते हुए कमेटी के सदस्यों ने सरगर्मी दिखानी शुरू कर दी है।

JagranPublish: Wed, 19 Jan 2022 08:29 PM (IST)Updated: Wed, 19 Jan 2022 08:29 PM (IST)
दुग्र्याणा कमेटी के चुनाव में बैलेट पेपर का इस्तेमाल हो

संस, अमृतसर : श्री दुग्र्याणा कमेटी के चुनाव फरवरी में होने की संभावना को देखते हुए कमेटी के सदस्यों ने सरगर्मी दिखानी शुरू कर दी है। कमेटी के करीब 400 सदस्यों ने हस्ताक्षर करके एक मांग पत्र कमेटी के महासचिव अरुण खन्ना को दिया है। मांग पत्र में बैलेट पेपर के जरिए मतदान से करवाने की मांग की है।

कमेटी के चुनाव की पांच साल की अवधि पूरी हो चुकी है। कोविड-19 के कारण एक साल अधिक हो गया है। अभी तक चुनाव नहीं हुए हैं। अब चुनाव प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इसके लिए पदाधिकारियों की बैठक भी की गई थी। परंतु अभी इस बात पर निर्णय नहीं हुआ कि चुनाव किस तिथि को करवाया जाए। कमेटी द्वारा सभी सदस्यों को अपना शुल्क जमा करवाने के लिए अवगत करवा दिया गया है। फरवरी के प्रथम व दूसरे हफ्ते कार्यकारिणी सदस्यों की बैठक बुलाने की संभावना है, जिसमें यह घोषणा की जाएगी कि चुनाव किस तारीख को करवाया जाए। यह पता चला है कि चुनाव फरवरी के अंत तक होने की संभावना है। इस समय वर्तमान कमेटी में प्रधान एडवोकेट रमेश चंद्र शर्मा, महासचिव अरुण खन्ना, वित्त मंत्री इंजीनियर रमेश शर्मा तथा प्रबंधक राज वधवा है।

इन चार पदाधिकारियों के लिए मतदान करवाने का संविधान है। करीब 1000 से अधिक कमेटी के सदस्य है। चुनाव में पुरानी टीम ही मैदान में खड़ी होगी अथवा कोई नई टीम चुनाव मैदान में खड़ी होगी यह तो अभी आने वाला समय ही बताएगा। परंतु यह बात स्पष्ट हो चुकी है कि चुनावों को लेकर सदस्यों के बीच सरगर्मी शुरू हो चुकी है। चुनाव सर्वसम्मति से होते हैं या मुकाबला, इस बारे में कमेटी के सदस्यों में चर्चा चल रही है। कमेटी के 400 सदस्यों ने हस्ताक्षर अभियान के तहत एक ज्ञापन में यह मांग की है कि इस बार बैलेट पेपर के जरिए मतदान का निर्णय लिया जाए। इस बैलेट पेपर के जरिए मतदान करवाने के पीछे क्या रहस्य है। इस बारे में कमेटी के सदस्यों में कई तरह की अटकलों का बाजार गर्म है। बैलेट पेपर के जरिए मतदान करवाने के लिए एक शिष्टमंडल कमेटी के महासचिव अरुण खन्ना से मिला। इसमें लक्ष्मीकांत चावला, डा. राकेश शर्मा, माधोलाल, गुलशन कोहली, रोहित खन्ना, पारस होंडा, नरेश शर्मा, धर्मपाल, रजिदर शर्मा, हर्ष खन्ना व अन्य कई सदस्य शामिल थे।

शिष्टमंडल की मांग पर चर्चा होगी : खन्ना

कमेटी के महासचिव अरुण खन्ना ने बताया कि उनके पास कमेटी का सदस्यों का एक शिष्टमंडल आया था जिन्होंने एक ज्ञापन दिया है। वह उनकी बातों को कमेटी की बैठक में रखेंगे। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के कारण पहले ही चुनाव लेट हो चुके हैं। सदस्यों की राय है कि कोविड-19 को देखते हुए बैलेट पेपर के जरिए मतदान करवाए जाएं।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम