This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

संभलें : पहली बार जिले में एक ही दिन में 742 लोग मिले संक्रमित

कोरोना वायरस ने अमृतसर में पिछले सभी रिकार्ड ध्वस्त करते हुए एक दिन में ही 742 लोगों को संक्रमित किया हैं।

JagranMon, 19 Apr 2021 12:04 AM (IST)
संभलें : पहली बार जिले में एक ही दिन में 742 लोग मिले संक्रमित

नितिन धीमान, अमृतसर

कोरोना वायरस ने अमृतसर में पिछले सभी रिकार्ड ध्वस्त करते हुए एक दिन में ही 742 लोगों को संक्रमित किया हैं। यही नहीं 11 लोगों की मौत भी इसके कारण हुई है। यही नहीं एक्टिव केसों की संख्या भी जिले में 4165 पर पहुंच गई है। एक ही दिन में इतनी ज्यादा संख्या में मरीज संक्रमित मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन ठिठक गया है। जाहिर सी बात है कि अब कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए कड़े कदम उठाने होंगे।

रविवार को संक्रमिल मिले लोगों में 596 संक्रमित कम्युनिटी से मिले हैं, जबकि 146 कांटेक्ट से। वास्तविक स्थिति यह है कि यदि कांटेक्ट ट्रेसिग नियमानुसार की जाती तो आज संक्रमितों का आंकड़ा 1200 से अधिक होता, क्योंकि एक संक्रमित मिलने के बाद उसके कांटेक्ट में आए कम से कम बीस लोगों का कोविड टेस्ट करवाना अनिवार्य है, पर कोरोना महामारी ने स्वास्थ्य विभाग की टीमों को इतना व्यस्त कर रखा कि वह कांट्रेक्ट ट्रेसिग भी नियमानुसार नहीं कर पा रहीं।

खास बात यह है कि सितंबर-2020 माह में 5939 संक्रमित मिले थे, जबकि अप्रैल-2021 के 18 दिनों में 5681 संक्रमित मिल चुके हैं। केंद्रीय जेल से 122 कैदी मिले संक्रमित

रविवार को रिपोर्ट हुए 742 संक्रमितों में 122 संक्रमित सेंट्रल जेल अमृतसर से मिले हैं। सेंट्रल जेल में कोरोना वायरस पूरी तरह से फैल चुका है। जेल प्रशासन ने इन 123 संक्रमित कैदियों को मालेरकोटला स्थित आइसोलेशन जेल में भेज रहा है।

सिविल सर्जन बोले- बिना मास्क घूमने वाले हो रहे शिकार

सिविल सर्जन डा. चरणजीत सिंह ने कहा कि बिना मास्क घूम रहे लोग ही कोरोना का कारण बन रहे हैं। मैंने डिप्टी कमिश्नर से बात की है कि इन पर सख्ती करें। जब तक लोग बेवजह घर से बाहर घूमते रहेंगे, मास्क नहीं पहनेंगे, शारीरिक दूरी के नियम से दूरी बनाकर रखेंगे, तब तक कोरोना खत्म नहीं होगा। यह पहली बार है कि अमृतसर में एक दिन में 742 केस मिले हैं। चिताजनक आंकड़ा है और लोगों के लिए सबक भी। दो करोड़ रुपये की चालान वसूली, पर लोग नहीं माने

पुलिस ने कोरोना नियमों का पालन न करने वाले लोगों के चालान काटे। महज छह महीनों में दो करोड़ रुपये का चालान काटा गया। यह राशि स्वास्थ्य विभाग के गल्ले में जमा करवाई गई, ताकि इससे कोरोना संक्रमितों का उपचार किया जा सके। चालान कटने के बावजूद लोग कोरोना नियमों का पालन नहीं कर रहे। सिविल सर्जन डा. चरणजीत सिंह के अनुसार 14 मार्च के बाद सरकार ने यह फैसला लिया था कि लोगों के चालान काटने के बजाय उनके मौके पर सैंपल लिए जाएं, पर अब यह लग रहा है कि चालान ही एकमात्र विकल्प है। इतने केस मिलना इस बात की ओर संकेत है कि अमृतसर में यूके स्र्टेन पूर्णत: विकसित हो चुकी है।

11 संक्रमितों की हुई मौत

रविवार को 11 संक्रमितों ने दम तोड़ा है। इनमें गांव बासरके गिलां निवासी 60 वर्षीय महिला, गांव जसरवाल निवासी 65 वर्षीय महिला, ओहरी अस्पताल में उपचाराधीन रहीे 68 वर्षीय बुजुर्ग, मकबूलपुरा निवासी 55 वर्षीय महिला, गांव महिलां वाला निवासी 80 वर्षीय महिला, मेडिकल एंकलेव0 निवासी 69 वर्षीय बुजुर्ग, न्यू आजाद नगर निवासी 63 वर्षीय बुजुर्ग, अमनदीप अस्पताल में उपचाराधीन रही 53 वर्षीय महिला, न्यू प्रताप नगर निवासी 75 वर्षीय बुजुर्ग, कोट खालसा निवासी 73 वर्षीय बुजुर्ग व गांव महिलांवाला निवासी 75 वर्षीय बुजुर्ग शामिल हैं। अब कुल संक्रमित - 27023

अब तक स्वस्थ हुए - 22023

आज स्वस्थ्य हुए - 305

अब तक मौतें - 819

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

अमृतसर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!