आइआइएम के विद्यार्थियों ने सीखे मैनेजमेंट के गुर

जागरण संवाददाता, अमृतसर आइआइएम अमृतसर में अकादमिक वर्ष की पहली कान्क्लेव- युक्ति 2018 का श्

JagranPublish: Sat, 11 Aug 2018 08:35 PM (IST)Updated: Sat, 11 Aug 2018 08:35 PM (IST)
आइआइएम के विद्यार्थियों ने सीखे मैनेजमेंट के गुर

जागरण संवाददाता, अमृतसर

आइआइएम अमृतसर में अकादमिक वर्ष की पहली कान्क्लेव- युक्ति 2018 का शनिवार को आयोजन किया गया। कान्क्लेव में कार्पोरेट के विभिन्न विशेषज्ञों की ओर से एचआर विषय में चल रहे आधुनिकीकरण एवं अन्य पहलुओं पर चर्चा की गई।

प्रो. उमेश कुमार ने अतिथियों का अभिन्नदन किया।

कान्क्लेव में 'चेलेंज विद पीपल्स एनालिटिक्स (एरा आ़फ डिजिटल एच.आर.)' और 'एचआर. डेवल¨पग एन इंस्पायर्ड वर्कफोर्स थ्रू आर्टफुल एचआर' मुख्य विषय थे। पहले सत्र के दौरान मुकेश तिवारी हेड टैलेंट एक्वीजीशन (एशिया पसि़िफक), कैटरपिलर आइएनसी, हेमा मोहनदास, वाइस प्रेजिडेंट लर्निंग एंड डेवलपमेंट वर्चू•ा, अंजू मल्होत्रा, हेड टेलेंट एक्वीजीशन (एशिया पसि़िफक), जेके सीमेंट लिमिटेड, स्वरुप दुमपाला, हेड टेलेंट एक्वीजीशन एंड टेलेंट डेवलपमेंट, कार्वी और अंतर्यामी पात्रा एसोसिएट वाईस प्रेजिडेंट, टेलेंट एक्वीजीशन, एचसीएल टेक्नोलाजी, ने चेलेंज विद पीपल एनालिटिक्स (एरा ऑ़फ डिजिटल एच.आर.)Þ के विषय पर अपने विचार पेश करते हुए विद्यार्थियों को मौजूदा मार्केट व बिजनेस की चुनौतियों का मुकाबला करने का अह्वान किया।

इन विशेषज्ञों ने मानव संसाधन के अनेक पहलुओं पर चर्चा की ।ताकि डेटा और संसाधित जानकारी, मानव बुद्धि में निपुणता के साथ-साथ कंपनियों के विकास में तेजी लाने का तरीका स्पष्ट किया जाए। वहीं डेटा के एकीकरण और आकलन व प्रचलित मानव संसाधन प्रथाओं में लोगों के कौशल के नए आयामों पर पहुंचाने को अनिवार्य किया जाए। इसके अलावा बताया किया कि अभी डिजिटल तरीके से जाकर और आधुनिक उपकरणों को शामिल करना विकास की लोकप्रिय धारणा है। अतिथियों ने छात्रों को डाटा और इनफार्मेशन का समकालीन एचआर प्रैक्टिस में महत्व समझाया। इसके उपरान्त अतिथियों ने एच आर के विभिन्न पहलुओं पे भी चर्चा की।

दूसरे सत्र में Þ डिजिटल मार्केटिग दी न्यू वाई आ़फ रेवोल्यूशन Þ पर श्री संजय श्रीवास्तव, डायरेक्टर एच.आर. बोह¨रगर एंगेलहेम, कमालिका देखा रीजनल हेड एच.आर. (नार्थ) जुबिलेंट फूडव‌र्क्स लिमिटेड, मनोज कुमार प्रसाद वाईस प्रेजिडेंट टैलेंट, हरजीत खंडूजा वाईस प्रेजिडेंट एच.आर., रिलायंस जीओ, पार्थसारथी मिश्रा सी.एच.आर.म., टाटा स्टील और मनमोहन एस कालस्य, सी. एचआरओ यूनाइटेड ब्रुअरीज लिमिटेड ने अपने विचार पेश किए। दोनों पैनल से पहले आइआइएम के विद्यार्थियों द्वारा दी गई प्रेजेंटेशन में कहा गया कि एचआर में क्रिएटिविटी और ईनोवेशन को सम्मिलित करने की जरूरत है।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept