तीसरी लहर में कोरोना अनकंट्रोल, अमृतसर में पहली बार एक दिन में 963 संक्रमित मिले

कोरोना अनकंट्रोल हो गया है। रविवार को इस वायरस ने से संक्रमित एक दिन में 963 लोगों रिपोर्ट हुए।

JagranPublish: Mon, 17 Jan 2022 12:01 AM (IST)Updated: Mon, 17 Jan 2022 12:12 AM (IST)
तीसरी लहर में कोरोना अनकंट्रोल, अमृतसर में पहली बार एक दिन में 963 संक्रमित मिले

जासं, अमृतसर: कोरोना अनकंट्रोल हो गया है। रविवार को इस वायरस ने से संक्रमित एक दिन में 963 लोगों रिपोर्ट हुए। इतना बड़ा आंकड़ा सामने आने के बाद स्वास्थ्य विभाग व प्रशासन चिंता में है। इनमें से 943 मरीज कम्युनिटी से हैं, जिनके विषय में यह जानकारी नहीं कि ये किसके संपर्क में आने से संक्रमण ग्रस्त हुए। वहीं 20 कांटेक्ट से हैं। अब सक्रिय मरीजों की गिनती बढ़कर 3677 जा पहुंची है। रविवार को एक कोरोना संक्रमित की मौत भी हुई है। 38 वर्षीय यह शख्स गुरु नानकपुरा का रहने वाला था और महाजन अस्पताल में उपचाराधीन रहा।

शहरी आबादी में कोरोना लगातार बढ़ कगा है। शनिवार को शहरी आबादी से 717 मरीज मिले, जबकि देहात से 246 रिपोर्ट हुए हैं। मास्क पहनने की प्रवृति खत्म होने की वजह यह स्थिति उत्पन्न हुई है। बुजुर्गों के चेहरों पर मास्क हैं, पर बेफिक्र युवा वर्ग आज भी यही कह रहा है- कोरोना वोरोना कुछ नहीं।

इससे पूर्व बीती 13 जनवरी को 731 संक्रमित और दूसरी लहर में 18 अप्रैल 2021 को एक दिन में 742 संक्रमित रिपोर्ट हुए थे। नौ मई 2021 को अमृतसर में 932 संक्रमित रिपोर्ट हुए थे, पर ऐसा इसलिए हुआ था क्योंकि सरकारी मेडिकल कालेज स्थित इंफ्लूएंजा लैब में पाजिटिव व नेगेटिव सैंपल मिक्स हो गए थे। ऐसे में रविवार को रिपोर्ट हुए 963 संक्रमित अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इसी बीच इटली से आई फ्लाइट में एक यात्री कोरोना संक्रमित मिला है। यह जालंधर का रहने वाला है। संक्रमितों में शहर के विभिन्न भागों से 21 बच्चे भी रिपोर्ट हुए हैं। इनकी आयु 14 साल से कम है। विदेश से आए सात यात्रियों की जीनोम सीक्वेंसिंग की रिपोर्ट अब तक नहीं आई

ओमिक्रोन वैरिएंट की जांच के लिए भेजे करीब सात यात्रियों के सैंपलों की जीनोम सीक्वेंसिग रिपोर्ट नहीं मिल पाई। 2021 में श्री गुरु रामदास अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर इटली, मिलान व यूके से आए 11 यात्री कोरोना संक्रमित पाए गए थे। इनके सैंपल दिल्ली भेजे गए थे। तकरीबन बीस दिन चार सैंपलों की नेगेटिव ओमिक्रोन रिपोर्ट आई। शेष सैंपलों का आज तक अता-पता नहीं लगा। हालांकि स्वास्थ्य विभाग यह मान चुका है कि अब जितने भी संक्रमित रिपोर्ट हो रहे हैं वे ओमिक्रोन वैरिएंट से प्रभावित हैं। लिहाजा अब इनकी जीनोम सीक्वेंसिग की जरूरत नहीं। बहरहाल आज जो संक्रमित मिले हैं उनमें से 39 ने कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगवा रखी थीं। लापरवाही : मरीज सैकड़ों बढे़ पांच जनवरी के बाद एक भी माइक्रोकंटेनमेट जोन नहीं बनाया

कोरोना रूपी आग से झुलस रहे जिले में प्रशासन द्वारा गाइडलाइन तो जारी कर दी गई, पर संक्रमण ग्रस्त क्षेत्रों को कंटेनमेंट अथवा माइक्रो कंटेनमेंट जोन घोषित नहीं किया जा रहा। पांच जनवरी के बाद एक भी जोन नहीं बनाया गया। सूरतेहाल यह है कि पांच जनवरी को सक्रिय मरीजों की गिनती महज 196 थी और कुल संक्रमितों का आंकड़ा 47657 था। अब सक्रिय मरीजों की गिनती 3677 जा पहुंची है और कुल संक्रमित 52406 है। शहर का कोई ऐसा भाग नहीं जहां कोरोना न पहुंचा हो, पर न तो जोन बनाए गए हैं और न ही संक्रमितों पर नजर रखी जा रही है। रविवार को 11,538 लोगों को लगी डोज

240 टीकाकरण केंद्रों में 11538 लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई गई। इनमें 15 से 18 आयु वर्ग के 131 किशोरों का टीकाकरण हुआ है। इसके साथ ही अब तक 2380761 डोज लगाई जा चुकी हैं। इनमें 854026 लोगों को दोनों डोज लग चुकी हैं।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept