अमृतसर के एनआरआइ परिवार के लड़के ने साथियों के साथ मिलकर लूटी थी जालंधर में बीएमडब्ल्यू

जालंधर में बीएमडब्ल्यू लूटने वाले तीनों आरोपितों को पुलिस ने ढूंढ़ निकाला है।

JagranPublish: Sun, 23 Jan 2022 03:00 AM (IST)Updated: Sun, 23 Jan 2022 03:00 AM (IST)
अमृतसर के एनआरआइ परिवार के लड़के ने साथियों के साथ मिलकर लूटी थी जालंधर में बीएमडब्ल्यू

संवाद सहयोगी, जालंधर: जालंधर में बीएमडब्ल्यू लूटने वाले तीनों आरोपितों को पुलिस ने ढूंढ़ निकाला है। एनआरआइ परिवार के कान्वेंट स्कूल से प्लस टू कर चुके 21 वर्षीय गांव जगदेव कलां, अमृतसर निवासी हर्षबीर सिंह उर्फ हर्ष और उसके साथी नगीना एवेन्यू, मजीठा रोड अमृतसर निवासी 22 वर्षीय राजकरण सिंह उर्फ बंटी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। तीसरे साथी बंटी का सगा भाई जसकरण सिंह, जो लोहड़ी वाले दिन दुर्घटना में घायल हो गया था और अस्पताल में दाखिल है, पर मामला दर्ज कर उसकी निगरानी के लिए गार्द लगा दी है। आरोपतों से वारदात में इस्तेमाल लाइटर पिस्तौल और दो मोबाइल पुलिस ने बरामद कर लिए हैं।

हर्ष एसएएस नगर मोहाली में किराये के मकान में रह रहा था, जबकि बंटी और उसका भाई मजीठा रोड पर रह रहे थे। तीनों आरोपितों को उनके निवास से ही गिरफ्तार किया गया है। आरोपितों ने व्यापारी की बीएमडब्ल्यू कार माडल टाउन स्थित रेस्टोरेंट हाट ड्राइव के बाहर से लूटी थी। कार लूटने के बाद लुटेरे जालंधर-अमृतसर बाईपास पर भागे थे। पुलिस ने जालंधर से लेकर अमृतसर तक वायरलेस कर नाकाबंदी भी करवा दी थी, जिसके चलते लुटेरे कार को बटाला रोड पर खेतों में छोड़ कर भाग गए थे। पुलिस ने सौ से ज्यादा सीसीटीवी कैमरे चेक किए थे, जिसमें लुटेरों की तस्वीर कई जगह पर कैद हुई थी, लेकिन तस्वीरें साफ नहीं आई हैं। महंगी कार ने डराए आरोपित, दूसरी होती को अमृतसर में निकल जाते आरोपित

हर्ष के खिलाफ अमृतसर में तीन और राजकरण के खिलाफ अमृतसर-जालंधर में 10 मामले नशे, चोरी और छीनाझपटी के दर्ज हैं। गाड़ियां चोरी करने के भी मामले उन पर दर्ज हैं, जिनमें गाड़ियां बेच दी थी। बीएमडब्ल्यू की लूट करने के वक्त तीनों नशे में थे और लूट के बाद तीनों कार लेकर अमृतसर रोड की तरफ भागे तो रास्ते में पुलिस का नाका भी तोड़ दिया था। अगले दिन जब आरोपितों का नशा उतरा तो बीएमडब्ल्यू को कहीं रखने या बेचने की सोच ने तीनों को डरा दिया। इसके बाद उन्होंने कार को बटाला रोड पर खेतों में छोड़ दिया। यदि बीएमडब्ल्यू की जगह दूसरी कार होती तो तीनों कार को लेकर अमृतसर से आगे निकल जाते और बेच देते। छीनी गाड़ी बेच अय्याशी करने हिल स्टेशन जाते थे

पुलिस की पूछताछ में सामने आया कि तीनों आरोपित गाड़ियां छीन कर उसे बेच देते और फिर अय्याशी करने के लिए किसी न किसी हिल स्टेशन पर निकल जाते थे। हर्ष का पूरा परिवार कनाडा में है और राजकरण व जसकरण के पिता की मौत हो चुकी है। ऐसे में तीनों ईजी मनी के लिए अपराध के रास्ते पर निकल गए। यह है मामला

बीते 9 जनवरी रात को माडल टाउन स्थित रेस्टोरेंट हाट ड्राइव में पत्नी संग खाना लेने के लिए आए रबड़ केमिकल व्यापारी पुनीत आहुजा की बीएमडब्ल्यू तीन लुटेरे गन प्वाइंट पर लूट कर ले गए थे। आरोपितों ने व्यापारी और उसकी पत्नी के अपहरण का प्रयास भी किया था।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept