सुक्खू की सभा में हंगामा, महिला बोली- वीरभद्र समर्थक होने पर हो रही अनदेखी

हिमाचल प्रदेश कांग्रेस की प्रचार कमेटी का प्रमुख बनने के बाद से नादौन के विधायक सुखविंदर सिंह सुक्खू अधिक सक्रिय हो गए हैैं। वह प्रदेश सहित अपने विधानसभा क्षेत्र में भी लगातार जनसभाएं कर रह रहे हैैं लेकिन रविवार को उन्हें अपने ही क्षेत्र में विरोध का सामना करना पड़ा।

Manoj KumarPublish: Sun, 29 May 2022 05:13 PM (IST)Updated: Sun, 29 May 2022 05:13 PM (IST)
सुक्खू की सभा में हंगामा, महिला बोली- वीरभद्र समर्थक होने पर हो रही अनदेखी

गलोड़, संवाद सहयोगी। हिमाचल प्रदेश कांग्रेस की प्रचार कमेटी का प्रमुख बनने के बाद से नादौन के विधायक सुखविंदर सिंह सुक्खू अधिक सक्रिय हो गए हैैं। वह प्रदेश सहित अपने विधानसभा क्षेत्र में भी लगातार जनसभाएं कर रह रहे हैैं, लेकिन रविवार को उन्हें अपने ही विधानसभा क्षेत्र में विरोध का सामना करना पड़ा।

दरअसल गलोड़ में रविवार को नादौन के विधायक सुखविंदर सिंह सुक्खू ने जनसंपर्क अभियान के तहत कार्यक्रम रखा था। इस दौरान तय कार्यक्रम के अनुसार सुक्खू ने जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने लोगों को एकजुटता का संदेश देते हुए इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए जुटने का आह्वïान किया, लेकिन इस आह्वïान की कुछ ही पलों में पोल खुल गई। सुक्खू की जनसभा के समाप्त होते ही मंच पर पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के निजी सचिव रहे ओंकार सिंह ठाकुर की पत्नी ने मंच पर कांग्रेस की एकजुटता की पोल खोल दी। उन्होंने सुक्खू को खरी खोटी सुनाते हुए कहा कि...क्या आप हमें नहीं जानते कि हम राजा वीरभद्र सिंह के खेमे से जुड़े हैैं, इसलिए आप ने अपने संबोधन में हमारा नाम तक नहीं लिया। शायद हमें दरकिनार किया जा रहा है। हम भी कांग्रेस विचारधारा के है। मंच पर हंगामा होते देख कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मामले को शांत करने की कोशिश की ताकि मामला और न बिगड़ जाए। लेकिन महिला नहीं रुकी और उसने कहा कि हमारी अनदेखी हो रही है। हालांकि सुक्खू ने महिला को आश्वस्त किया कि ऐसा नहीं है, फिर भी आपको पूरा सम्मान दिया जाएगा।

लोगों का कहना है कि लंबे समय बाद सुक्खू यहां आए और इस तरह की कलह कांग्रेस के लिए ठीक नहीं है। कांग्रेस के लिए मंच पर इस प्रकार का हल्ला बोलना शुभ संकेत नहीं माना जा सकता। प्रदेश में इस साल के अंत तक होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं को एकजुट कर रही है, लेकिन इस तरह गुटों में बंटी कांग्रेस के लिए पहले अपनों से लडऩा ही चुनौती बना रहेगा।

Edited By Manoj Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept