This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

शिवाजी जन्मस्थली से मिट्ठी लेकर अयोध्या जाएंगे ठाकरे, पढ़िए शिवनेरी किले का इतिहास

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे शिवनेरी किले की मिट्टी लेकर 25 नवंबर को जाएंगे अयोध्या। उद्धव के अयोध्या यात्रा और शिवनेरी किले की पूरी जानकारी यहां पढ़ें।

Nancy BajpaiThu, 22 Nov 2018 11:16 AM (IST)
शिवाजी जन्मस्थली से मिट्ठी लेकर अयोध्या जाएंगे ठाकरे, पढ़िए शिवनेरी किले का इतिहास

नई दिल्ली/ पुणे, जेएनएन। 2019 लोकसभा चुनाव के लिए अयोध्या राजनीतिक दलों के लिए अखाड़ा बनता जा रहा है। शिवसेना भी इस अखाड़े में कूद चुकी है। 25 नवंबर को शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अयोध्या जाएंगे, इससे पहले आज वे पुणे में छत्रपति शिवाजी महाराज की जन्मस्थली शिवनेरी किला पहुंचेंगे। यहां जाने की वजह है शिवनेरी किले की मिट्टी, जिसे लेकर उद्धव ठाकरे अयोध्या के लिए रवाना होंगे। वे एक कलश में शिवनेरी किले की मिट्टी भरेंगे और उस कलश को अयोध्या यात्रा के दौरान राम जन्मभूमि के महंत को देंगे।

'न सिर्फ शिवसेना, देश के लिए आदर्श हैं शिवाजी' 

शिवनेरी किला पुणे में जुन्नर गांव के पास स्थित एक ऐतिहासिक किला है। शिवसेना नेता और ठाकरे के करीबी हर्षल प्रधान का कहना है, 'शिवाजी महाराज न केवल शिवसेना के लिए बल्कि पूरे देश के लिए आदर्श हैं। बालासाहब ठाकरे ने हमेशा उनके आदर्शों पर चलने का प्रयास किया, जिसे अब उद्धव जी आगे बढ़ा रहे हैं।' प्रधान ने बताया कि उद्धव ठाकरे अयोध्या की अपनी यात्रा छत्रपति शिवाजी महाराज के आशीर्वाद से शुरू करेंगे। इसी के चलते वे शिवनेरी किले की मिट्टी लेकर अयोध्या जाएंगे। वे इसलिए ऐसा कर रहे हैं क्योंकि राम मंदिर का मुद्दा उनके दिल के बेहद करीब है।'

नया नारा.... 'पहले मंदिर फिर सरकार'

हर बार चुनाव के दौरान राम मंदिर मुद्दे गरम हो जाता है। मंगलवार को अयोध्या में राम मंदिर के लिए अपनी पार्टी के अभियान को तेज करते हुए ठाकरे ने नया नारा दिया... 'पहले मंदिर, फिर सरकार'

25 नवंबर को अयोध्या जाएंगे उद्धव

गौरतलब है कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे 25 नवंबर को अयोध्या जाएंगे और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से राम मंदिर के निर्माण पर प्रश्न करेंगे। ठाकरे अयोध्या में रामलला के दर्शन करने के साथ ही सरयू तट पर पूजा अर्चना भी करेंगे। हालांकि मंगलवार को ठाकरे ने कहा था कि उन्होंने अभी तक अयोध्या में रैली करने के बारे में फैसला नहीं किया है। ठाकरे से पहले शिवसेना कार्यकर्ताओं के एक जत्था बुधवार को अयोध्या के लिए मुंबई से रवाना हुआ है।

शिवनेरी किले का इतिहास

  • पुणे के जुन्नर गांव के पास स्थित इस किले में 1627 में शिवाजी का जन्म हुआ था।
  • बचपन में जिस पालने में शिवाजी झूलते थे, वह आज भी किले की इमारत में मौजूद है।
  • शिवनेरी किले पर बचपन में शिवाजी ने सैनिक शिक्षा ग्रहण की थी।

पुणे में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!