जी-23 ही नहीं, टीम राहुल भी भविष्य को लेकर चिंतित, वायरल फोटो में शामिल सिर्फ सचिन पायलट ही पार्टी में बरकरार

कांग्रेस में एक तरफ जी-23 के रूप में ऐसे वरिष्ठ नेताओं की कतार खड़ी है जो पार्टी की कार्यप्रणाली से खुश नहीं हैं और पार्टी नेतृत्व को भी वे नागवार गुजरते हैं। यही कारण है कि पार्टी के अंदर ही उन पर वार भी होते हैं।

Arun Kumar SinghPublish: Tue, 25 Jan 2022 08:50 PM (IST)Updated: Wed, 26 Jan 2022 11:35 AM (IST)
जी-23 ही नहीं, टीम राहुल भी भविष्य को लेकर चिंतित, वायरल फोटो में शामिल सिर्फ सचिन पायलट ही पार्टी में बरकरार

नई दिल्ली, जागरण ब्यूरो। कांग्रेस में एक तरफ जी-23 के रूप में ऐसे वरिष्ठ नेताओं की कतार खड़ी है जो पार्टी की कार्यप्रणाली से खुश नहीं हैं और पार्टी नेतृत्व को भी वे नागवार गुजरते हैं। यही कारण है कि पार्टी के अंदर ही उन पर वार भी होते हैं। दूसरी तरफ पार्टी का युवा और अनुभवी नेतृत्व भी अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं। यही वजह है कि अनुच्छेद-370 को रद करने का मामला हो या फिर सर्जिकल स्ट्राइक का, टीम राहुल में शामिल रहे कुछ युवा नेता अपनी पार्टी की सोच पर ही सवाल खड़े करते रहे हैं।

यूं तो कई अवसरों पर कांग्रेस के कई युवा नेताओं के पार्टी छोड़ने और भाजपा की ओर आकर्षित होने की अटकलें लगती रही हैं। लेकिन जब कभी कोई युवा कांग्रेसी भाजपा में शामिल होता है तो एक फोटो हर बार इंटरनेट पर वायरल होती है। इस फोटो में ज्योतिरादित्य सिंधिया, जितिन प्रसाद, आरपीएन सिंह और सचिन पायलट आपस में बात कर रहे हैं।

कांग्रेस के युवा नेताओं की एक वायरल फोटो में शामिल सिर्फ सचिन पायलट ही पार्टी में बरकरार

मंगलवार को आरपीएन के भाजपा में शामिल होने के बाद अब उस फोटो से सिर्फ सचिन ही हैं जो कांग्रेस में बरकरार हैं। हालांकि उस घटना को ज्यादा दिन नहीं हुए हैं जब सचिन भी अपने समर्थक विधायकों के साथ दिल्ली में बैठ गए थे और राजस्थान सरकार पर खतरे के बादल मंडराने लगे थे।

मिलिंद देवरा के सुर भी होते हैं अलग

ज्योतियादित्य वर्ष 2007 में तत्कालीन कांग्रेस सरकार में मंत्री बन गए थे, लेकिन बाकी तीन 2009 में मंत्री बने थे और टीम राहुल के कोर सदस्य माने जाते थे। अचरज की बात है कि इनके कांग्रेस छोड़ने के पीछे भी राहुल ही कारण बने हैं। सभी नेता यह जताते हुए भाजपा में शामिल हुए कि कांग्रेस अब पुरानी जैसी नहीं रही। महाराष्ट्र के युवा कांग्रेस नेता मिलिंद देवरा के सुर भी कभी-कभी अलग होते हैं। इस फोटो से जिस तरह कांग्रेसियों की संख्या कम होती जा रही है, वह पार्टी के लिए बड़ी चिबता का सबब है।

Edited By Arun Kumar Singh

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept