MVA Crisis: शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा, 24 घंटे में बागी मंत्री खो देंगे पद, हटाने की प्रक्रिया जारी

एक मराठी समाचार चैनल से बात करते हुए राउत ने कहा कि उन्हें हटाने की प्रक्रिया जारी है। गुलाबराव पाटिल दादा भूसे संदीपन भुमरे जैसे मंत्रियों को शिवसेना के वफादार कार्यकर्ता माना जाता था जिन्हें उद्धव ठाकरे ने कैबिनेट मंत्री बनाया था।

Arun Kumar SinghPublish: Sat, 25 Jun 2022 07:53 PM (IST)Updated: Sat, 25 Jun 2022 07:53 PM (IST)
MVA Crisis: शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा, 24 घंटे में बागी मंत्री खो देंगे पद, हटाने की प्रक्रिया जारी

मुंबई, प्रेट्र। शिवसेना सांसद संजय राउत ने शनिवार को दावा किया कि एकनाथ शिंदे खेमे में महाराष्ट्र के बागी मंत्री 24 घंटे में अपना पद खो देंगे। इससे पहले दिन में पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने शिवसेना अध्यक्ष और राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को एक वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री शिंदे के नेतृत्व वाले बागी विधायकों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए अधिकृत किया। एक मराठी समाचार चैनल से बात करते हुए राउत ने कहा कि 'उन्हें हटाने की प्रक्रिया जारी है। गुलाबराव पाटिल, दादा भूसे, संदीपन भुमरे जैसे मंत्रियों को शिवसेना के वफादार कार्यकर्ता माना जाता था, जिन्हें उद्धव ठाकरे ने कैबिनेट मंत्री बनाया था। पार्टी ने उन्हें सम्‍मान दिया है। उन्होंने गलत रास्ता अपनाया है और 24 घंटे में अपने पदों को खो देंगे। 

विद्रोही खेमे के अन्य मंत्री शंभूराज देसाई, अब्दुल सत्तार और बच्चू कडू हैं। कडू प्रहार जनशक्ति पार्टी के प्रमुख हैं, जो शिवसेना के नेतृत्व वाले सत्तारूढ़ गठबंधन का हिस्सा है। संजय राउत ने यह भी दावा किया कि जब शिवसेना ने भाजपा के साथ गठबंधन किया था और कहा था कि मुख्यमंत्री पद को दोनों दलों के बीच बारी-बारी दिया जाए, तो उद्धव ठाकरे के मन में शीर्ष पद के लिए एकनाथ शिंदे थे।

2019 के चुनावों के बाद सीएम पद के बंटवारे को लेकर दोनों सहयोगी टूट गए, जिसके बाद शिवसेना ने कांग्रेस और राकांपा से हाथ मिला लिया। इस बीच संजय राउत ने यह भी कहा कि आधे विद्रोहियों का हिंदुत्व से कोई लेना-देना नहीं है, लेकिन वे प्रवर्तन निदेशालय की जांच का सामना कर रहे हैं।

Edited By Arun Kumar Singh

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept