Koo Studio- कैसा है पूर्वांचल का चुनावी गणित, जानिए पूर्वांचल की राजनीति का सटीक विश्लेषण

उत्तर प्रदेश में चल रहे विधानसभा चुनाव में 5 चरणों का मतदान पूरा हो चुका है व छठें चरण का मतदान 3 मार्च को होना है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सीट के साथ इस चरण में कई बड़े राजनेताओं की सीटों पर मतदान किया जाएगा।

Arun Kumar SinghPublish: Tue, 01 Mar 2022 09:11 PM (IST)Updated: Wed, 02 Mar 2022 12:59 AM (IST)
Koo Studio- कैसा है पूर्वांचल का चुनावी गणित, जानिए पूर्वांचल की राजनीति का सटीक विश्लेषण

 उत्तर प्रदेश में चल रहे विधानसभा चुनाव में 5 चरणों का मतदान पूरा हो चुका है व छठें चरण का मतदान 3 मार्च को होना है। ऐसे में यह चुनाव एक बेहद ही रोमांचक मोड़ पर आ चुका है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सीट के साथ इस चरण में कई बड़े राजनेताओं की सीटों पर मतदान किया जाएगा। इसमें 10 जिलों की 57 विधानसभा सीटों पर मतदान किया जाएगा। जिसमें बस्ती, अम्बेडकरनगर, बलिया, गोरखपुर, बलिया, महाराजगंज, संतकबीरनगर, सिद्धार्थनगर आदि जिलें प्रमुख हैं व कुल 676 प्रत्याशियों के किस्मत पर फैसला होगा। छठे चरण का प्रचार समाप्त होने के बाद पूर्वांचल की सियासी हलचल को समझने के लिए Koo Studio के खास प्रोग्राम चुनावी हलचल में Jagran New Media के एग्जक्यूटिव एडिटर Pratyush Ranjan ने चर्चा की व पूर्वांचल में विभिन्न राजनीतिक दलों की गतिविधियों का विश्लेषण किया।

बता दें कि पूर्वांचल में कुल 26 जिले हैं जिनमें कुल 156 विधानसभा सीटे हैं। जिसमें 2017 के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने 106 सीटों पर विजय प्राप्त की थी। जिसकी वजह से वो एक पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने में सफल रहे। इसी वजह से यह क्षेत्र पूरे उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों के लिए बेहद महत्वपूर्ण है, जिसकी वजह से सभी राजनीतिक दलों ने इस चरण के लिए अपना पूरा जोर लगा दिया है।

चुनावी हलचल के इस एपिसोड में पूर्वांचल की राजनीति से जुड़े सभी महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा की गई। छठे चरण के लिए चुनाव प्रचार का आखिरी दिन होने के कारण व महाशिवरात्रि का दिन भी होने के कारण विभिन्न राजनेताओं ने अपने प्रचार की शुरूआत पूजा करने से की। जिसके बाद पूरे दिन विभिन्न जनसभाओं के माध्यम से चुनाव प्रचार किया। इस एपिसोड में आज के दिन के प्रमुख चुनावी रणनीतियों का विश्लेषण किया गया।

आगे बढ़ते हुए कुछ महत्वपूर्ण Koo का भी विश्लेषण किया गया। जिसमें पहला Koo उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का था-

Koo App

जनपद गोरखपुर के पिपराइच क्षेत्र में भी ’राष्ट्रवाद’ की प्रचंड लहर चल रही है। यहां माफियावादियों और घोर परिवारवादियों की हार सुनिश्चित है। पिपराइच वासियों के अथाह समर्थन से यहां के हर बूथ पर खिलेगा कमल का फूल... धन्यवाद पिपराइच वासियों!

View attached media content

- Yogi Adityanath (@myogiadityanath) 1 Mar 2022

इस Koo के माध्यम से मुख्यमंत्री योगी ने परिवारवाद के मुद्दे को लेकर विपक्षी दलों पर निशाना साधा जो कि पूरे उत्तर प्रदेश चुनाव में भाजपा द्वारा अपनाई गई चुनावी रणनीति का उदाहरण है। परिवारवाद के मुद्दे को पूरे चुनाव प्रचार के दौरान भाजपा के सभी बड़े नेताओं की जनसभाओं का हिस्सा रहा है।

आगे बहुजन समाज पार्टी के प्रवक्त सतीश चंद्र मिश्रा के Koo पर भी चर्चा किया।

Koo App

Today on 1/3/2022 under the aegis of Bahujan Samaj Party, addressing the election public meetings organized at #अंबेडकरनगर, I will appeal votes for the energetic candidates of BSP and will be present among you. Every polling booth has to be won. Bringing BSP to power. #5th_Time_BSP #भाईचाराबढ़ानाहैबसपाकोलानाहै #सर्वजनहितायसर्वजनसुखाय #जयभीम #जयभारत #Mayawati #AmbedkarNagar

View attached media content

- Satish Chandra Misra (@satishmisrabsp) 1 Mar 2022

इस पूरे चुनाव में बसपा सुप्रीमो मायावती की उदासीनता भी एक बड़ा मुद्दा रहा है। इस Koo के द्वारा बसपा अपने कोर वोट बैंक पर पकड़ बनाने की कोशिश करती नजर आ रही है।

इसके बाद आम नागरिकों के Koo पर भी चर्चा किया गया, जिसमें शैलेश अग्रवाल का Koo प्रमुख रहा है। उन्होंने जाति के समीकरण पर सवाल उठाने का प्रयास किया।

Koo App

क्या उत्तर प्रदेश जाति की राजनीति से कभी ऊपर उठ पाएगा? आजादी के इतने साल बाद भी पार्टियां जातीय समीकरण देख कर ही अपना कैंडिडेट उतारती हैं और लोग भी अपनी जाति के हिसाब से वोट करते हैं. आखिर ये कब बदलेगा? @dainikjagran

- Sailesh Agarwal (@sail_ag) 1 Mar 2022

इसके अतिरिक्त और भी कई लोगों के Koo पर चर्चा किया गया। साथ ही इस एपिसोड में और भी कई महत्वपूर्ण राजनीतिक बिंदुओं पर चर्चा की गई। जिसे आप यहां पर देख सकते हैं-

साथ ही विभिन्न राज्यों के चुनावी हलचल का सटीक विश्लेषण देखने के लिए @dainikjagran को Koo ऐप पर फॉलो करें।

Edited By Arun Kumar Singh

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept