This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों के बीच राज्य के 35 से अधिक संतों से की मुलाकात

कर्नाटक भाजपा में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों के बीच तुमकुर में सिद्धगंगा मठ के श्री सिद्धलिंग स्वामी के नेतृत्व में कर्नाटक के संतों के एक प्रतिनिधिमंडल ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा से उनके आधिकारिक आवास पर मुलाकात की

Ashisha SinghWed, 21 Jul 2021 06:33 PM (IST)
कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों के बीच राज्य के 35 से अधिक संतों से की मुलाकात

बेंगलुरु, एएनआई। कर्नाटक भाजपा में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों के बीच तुमकुर में सिद्धगंगा मठ के श्री सिद्धलिंग स्वामी के नेतृत्व में कर्नाटक के संतों के एक प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा से उनके आधिकारिक आवास पर मुलाकात की ।

25 जुलाई विधायकों के लिए रात्रिभोज की मेजबानी करेंगे बीएस येदियुरप्पा

कर्नाटक सत्तारूढ़ भाजपा में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों के बीच, कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा की कुर्सी खतरे में थी। ऐसे में आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, बताया जा रहा है कि तमाम अटकलों के बीच अपनी धुन में मस्त बीएस येदियुरप्पा अपनी सरकार के 2 साल पूरे होने के अवसर पर 25 जुलाई को पार्टी के सभी विधायकों के लिए रात्रि भोज का आयोजन करने वाले हैं। रात्रि भोज का आयोजन शहर के एक होटल में होगा। जिसमें सभी विधायकों आमंत्रित किया गया है। इस भोज की मेजबानी बीएस येदियुरप्पा करेंगे। बताया जा रहा है कि पार्टी से संबंधित विधायक दल की अभी कोई भी बैठक नहीं बुलाई गई है।

मुख्यमंत्री से मिले संतों के प्रतिनिधिमंडल ने दी चेतावनी

कर्नाटका में सियासी गर्मी बढ़ती ही जा रही है। कर्नाटक में संभावित नेतृत्व परिवर्तन के बारे में तीव्र अटकलों के बीच और वीरशैव महासभा के प्रमुखों द्वारा मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के लिए समर्थन व्यक्त करने के एक दिन बाद, समुदाय के संत मुख्यमंत्री का समर्थन करने के लिए खुले में आए और चेतावनी दी कि वे अपने निर्णय के लिए एक बैठक करेंगे। यदि भविष्य येदियुरप्पा को उनके शीर्ष पद से हटा दिया जाता है तो संतों का समूह चुप नहीं बैठेगा।

मुख्यमंत्री से मिले संतों के प्रतिनिधिमंडल ने चेतावनी दी कि अगर भाजपा आलाकमान श्री येदियुरप्पा को बदलने की कथित योजनाओं के साथ आगे बढ़ता है तो लगभग 500 संतों का एक समूह एक बैठक करने के लिए एक साथ आएगा और आगे की कार्रवाई करेगा।

जबकि मुरुगा मठ के शिवमूर्ति मुरुगा स्वामी ने श्री येदियुरप्पा के साथ एकजुटता व्यक्त करने के लिए चित्रदुर्ग के कई अन्य मठों के लगभग 20 संतों के साथ एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की, डिंगलेश्वर द्रष्टा के नेतृत्व में 20 से अधिक संतों के एक अन्य समूह ने मुख्यमंत्री से उनके आधिकारिक आवास पर मुलाकात कर‌अपना समर्थन दिखाने के लिए‌‌ कहा रंभापुरी पीठ के प्रसन्ना रेणुका वीरसोमेश्वर शिवाचार्य स्वामी ने भी दिग्गज नेता के लिए अपना समर्थन व्यक्त किया है।