This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

भारत को 'विश्व गुरु' बनाना मोदी का एक मात्र लक्ष्य, प्रधानमंत्री के यूएनजीए संबोधन पर बोले नड्डा

संयुक्त राष्ट्र महासभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन की सराहना करते हुए भाजपा ने कहा कि उन्होंने एक कुशल राजनेता की तरह बात की और उनके भाषण ने देश को गौरवान्वित किया है। जेपी नड्डा ने कहा कि मोदी ने दुनिया में भारत का वैचारिक झंडा फहराया।

TaniskSat, 25 Sep 2021 09:35 PM (IST)
भारत को  'विश्व गुरु' बनाना मोदी का एक मात्र लक्ष्य, प्रधानमंत्री के यूएनजीए संबोधन पर बोले नड्डा

नई दिल्ली, पीटीआइ। भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जेपी नड्डा ने शनिवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संबोधन को एक वास्तविक राजनेता का उद्बोधन करार दिया और कहा कि यह 130 करोड़ देशवासियों को गौरवान्वित करने वाला और पूरी दुनिया में भारत की 'वैचारिक ध्वज पताका' लहराने वाला है। उन्होंने कहा कि भारत को फिर से 'विश्व गुरु' बनाना, पीएम मोदी का एक मात्र लक्ष्य है। प्रधानमंत्री के संबोधन के बाद नड्डा ने एक बयान में कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने हर मुद्दे पर जिस बेबाकी के साथ भारत के दृष्टिकोण को रखा और वैश्विक मुद्दों पर दुनिया का ध्यान आकृष्ट कराया, उसकी जितनी भी सराहना की जाए कम है।

नड्डा ने कहा कि कोविड प्रबंधन और कोविडरोधी टीकाकरण से लेकर आतंकवाद और समुद्री सीमा तक के मुद्दों पर प्रधानमंत्री ने जिस तरह से वैश्विक समुदाय को एक साथ आने के लिए प्रेरित किया है, वह काबिले-तारीफ है।उन्होंने कहा कि कोविड के कारण जान गंवाने वाले दुनिया के सभी लोगों के परिजनों के लिए जिस तरह उन्होंने संवेदना प्रकट की, वह दिल को छू लेने वाली थी।

नड्डा ने कहा कि पीएम मोदी ने भारत के लोकतंत्र की यात्रा के बारे में बताया और पंडित दीनदयाल उपाध्याय के 'एकात्म मानववाद' और 'अंत्योदय' के सिद्धांत से विश्व समुदाय का परिचय भी कराया।नड्डा ने कहा कि आतंकवाद को लेकर जिस तरह भारत ने दुनिया को आईना दिखाया और इसे राजनीतिक उपकरण के रूप में इस्तेमाल करने वाले देशों को चेतावनी दी, वह आतंक को पालने वाले देशों के लिए भारत का एक कड़ा संदेश है।

नड्डा ने यह भी कहा कि साथ ही पहली बार भारत ने संयुक्त राष्ट्र में समुद्री सुरक्षा पर भी आवाज बुलंद की और कोरोना की उत्पत्ति और व्यवसाय की सुगमता पर संयुक्त राष्ट्र के ढुलमुल रवैये को लेकर भी विश्व निकाय को नसीहत दी।उन्होंने कहा कि आज पूरी दुनिया जिस गंभीरता से प्रधानमंत्री को सुनती है और उनके सुझावों पर अमल करती है, उससे यह सिद्ध होता है कि नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत एक प्रमुख शक्ति के रूप में स्थापित हुआ है। हमारे पीएम का एक ही लक्ष्य है और वह है भारत को विश्वगुरु के पद पर पुन: प्रतिष्ठित करना।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पीएम मोदी के संबोधन पर कही ये बात

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट करके कहा कि आज यूएनजीए में पीएम नरेंद्र मोदी ने शानदार भाषण दिया। उनका भाषण भारत के 130 करोड़ लोगों की भावना को समाहित करता है। उन्होंने सफलतापूर्वक दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र की आकांक्षाओं और एक समृद्ध भारत और एक सुरक्षित ग्रह के निर्माण के हमारे दृढ़ संकल्प पर प्रकाश डाला।

'मोदी के नेतृत्व में विश्व में अग्रणी भूमिका निभा रहा भारत'

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अपनी अमेरिका यात्रा के दौरान दुनिया के कई नेताओं और कारपोरेट जगत के बड़े लोगों के साथ मुलाकातों का जिक्र करते हुए भाजपा ने शनिवार को कहा कि उनके नेतृत्व में भारत अंतरराष्ट्रीय कूटनीति में अग्रणी भूमिका निभा रहा है।पार्टी प्रवक्ता और राज्यसभा सदस्य सुधांशु त्रिवेदी ने कहा है कि मोदी के सत्ता में आने के बाद से पिछले सात वर्षो में अमेरिका के साथ भारत के संबंध काफी मजबूत हुए हैं। त्रिवेदी ने कहा कि मोदी भारत के प्रधानमंत्री के रूप में तीसरे अमेरिकी राष्ट्रपति से मिले हैं। पिछले सात साल में अमेरिका में चाहे जिस पार्टी की सरकार बनी हो लेकिन भारत-अमेरिका संबंध समान रूप से मजबूत रहे हैं।

Edited By Tanisk