This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Madhya Pradesh, कांग्रेस के एक विधायक का निधन; पार्टी को फिर निर्दलीय, सपा, बसपा के सहारे की जरूरत

मध्य प्रदेश विधानसभा में कांग्रेस की सदस्य संख्या कम होकर 114 पर आ गई है। ऐसे में एक बार फिर कांग्रेस को बसपा-सपा व निर्दलीय विधायकों के सहारे की जरूरत होगी।

Dhyanendra SinghSun, 22 Dec 2019 12:23 AM (IST)
Madhya Pradesh, कांग्रेस के एक विधायक का निधन; पार्टी को फिर निर्दलीय, सपा, बसपा के सहारे की जरूरत

भोपाल, जेएनएन। मध्य प्रदेश के मुरैना जिले की जौरा विधानसभा सीट से कांग्रेस विधायक बनवारी लाल शर्मा का भोपाल में शनिवार तड़के गंभीर बीमारी के चलते निधन हो गया। इससे विधानसभा में कांग्रेस की सदस्य संख्या कम होकर 114 पर आ गई है। ऐसे में एक बार फिर कांग्रेस को बसपा-सपा व निर्दलीय विधायकों के सहारे की जरूरत होगी।

करीब डेढ़ महीने पहले झाबुआ उपचुनाव में कांतिलाल भूरिया की जीत से कांग्रेस को ताकत मिली थी और 31 अक्टूबर को भूरिया के विधायक की शपथ लेने पर कांग्रेस के 115 विधानसभा सदस्य हो गए थे। निर्दलीय विधायक प्रदीप जायसवाल के मंत्री होने से वे भी सरकार का हिस्सा हैं और इससे कांग्रेस 116 सदस्य संख्या के साथ बहुमत में आ गई थी।

मध्य प्रदेश में दलीय स्थिति

कांग्रेस- 114

भाजपा- 108

सपा- 01

बसपा- 02

निर्दलीय-04

बहुमत के लिए जरूरी सीट- 116

कुल सीट-230 (शर्मा के निधन से एक सीट रिक्त)

बसपा प्रदेश अध्यक्ष ने सरकार से मांगा गनमैन

कमलनाथ सरकार को बाहर से समर्थन दे रही बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के प्रदेश अध्यक्ष रमाकांत पिप्पल ने राज्य सरकार से अपने लिए एवं प्रदेश प्रभारी रामजी गौतम के लिए सुरक्षा मांगी है। साथ ही आरक्षण आंदोलन के दौरान अनुसूचित जाति, जनजाति एवं ओबीसी वर्ग के लोगों पर दर्ज मुकदमे भी वापस लेने की मांग की है। पिप्पल ने शुक्रवार को कमलनाथ से मुलाकात की थी। पिप्पल ने उनसे कहा था कि पार्टी के कामकाज को लेकर नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में भी आना-जाना होता है। कई बार सुरक्षा को लेकर संकट खड़ा हो जाता है। इसलिए निजी सुरक्षा के लिए गनमैन दिया जाए।

Edited By Dhyanendra Singh