पुस्तक बैंक के बाद अब कंप्यूटर बैंक, बच्चों की आनलाइन पढ़ाई के लिए संजय सेठ ने की पहल

Ranchi News संजय सेठ ने बताया कि ऐसे कंप्यूटर और इलेक्ट्रानिक गैजेट्स के लिए कई संस्थाओं पब्लिक सेक्टर की कंपनियों मेकॉन सीएमपीडीआइ सेल कोल कंपनियों को चिट्ठी लिखी गई है। उन्होंने कहा कि जिस तरह पुस्तक बैंक को सफलता मिली

Madhukar KumarPublish: Mon, 17 Jan 2022 05:15 PM (IST)Updated: Mon, 17 Jan 2022 05:15 PM (IST)
पुस्तक बैंक के बाद अब कंप्यूटर बैंक, बच्चों की आनलाइन पढ़ाई के लिए संजय सेठ ने की पहल

रांची, जागरण संवाददाता। पुस्तक बैंक के बाद रांची में कंप्यूटर बैंक खोलने की पहल सांसद संजय सेठ ने की है। इस कंप्यूटर बैंक में पुराने वर्जन के कंप्यूटर या फिर वैसे कंप्यूटर जिनका इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है उन्हें जमा किया जाएगा। कंप्यूटर के अलावा दूसरे इलेक्ट्रानिक गैजेट जैसे लैपटॉप, टैबलेट, स्मार्ट फोन भी इस कंप्यूटर बैंक में रहेंगे। संजय सेठ ने सोमवार को प्रेस कान्फ्रेंस में बताया कि जिनके पास भी ये इलेक्ट्रानिक गैजेट हैं और अनुपयोगी हैं वो हमारे कार्यालय में जमा कर सकते हैं। अगर इन्हें रिपेयर कराने की जरूरत होगी तो उसे ठीक कराकर जरूरतमंद बच्चों को दिया जाएगा। इससे बच्चों की आनलाइन पढ़ाई जारी रह सकेगी।

पुस्तक के बाद अब कम्प्यूटर बैंक

संजय सेठ ने बताया कि ऐसे कंप्यूटर और इलेक्ट्रानिक गैजेट्स के लिए कई संस्थाओं, पब्लिक सेक्टर की कंपनियों मेकॉन, सीएमपीडीआइ, सेल, कोल कंपनियों को चिट्ठी लिखी गई है। उन्होंने कहा कि जिस तरह पुस्तक बैंक को सफलता मिली, ठीक उसी तरह कंप्यूटर बैंक भी सफल होगा। कहा कि जमा किए गए कंप्यूटर को ग्रामीण इलाकों के बच्चों को दिया जाएगा।

बच्चों की आनलाइन पढ़ाई के लिए संजय सेठ ने की पहल

संजय सेठ ने कहा कि कंप्यूटर बैंक खोलने की योजना की प्रेरणा पूर्व आइपीएस डा. अरुण उरांव से मिली। डा. अरुण उरांव ने 80 से अधिक पाठशालाएं झारखंड के तीन जिलों रांची, लोहरदगा और गुमला जिलों में खोली हैं। संजय सेठ ने बताया कि उन्होंने मांडर के उचरी गांव में चल रही रात्रि पाठशाला को देखा है। इसलिए बच्चों की पढ़ाई को और बेहतर करने के लिए कंप्यूटर बैंक खोला गया है।

जागरण के अभियान की सराहना की

सांसद ने दैनिक जागरण के अभियान मोबाइल दान महादान की प्रशंसा की। कहा कि इस अभियान से जरूरतमंद बच्चों की आनलाइन पढ़ाई में मदद मिल सकी है।

रांची एयरपोर्ट पर मिलेगी कोल्ड स्टोरेज की सुविधा

संजय सेठ ने बताया कि रांची स्थित बिरसा मुंडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा पर जल्द ही कोल्ड स्टोरेज की सुविधा दी जाएगी। एयरपोर्ट एडवाइजरी कमिटी के चेयरमैन के रूप में उन्होंने इसका प्रस्ताव रखा था। संजय सेठ ने बताया कि कार्गो के जरिए किसान अपनी सब्जियां राज्य के बाहर दूसरे शहरों में भेजते हैं। कई बार सब्जियां अधिक आ जाने पर उन्हें एयरपोर्ट पर ही रखना पड़ता है। लेकिन कोल्ड स्टोरेज की सुविधा नहीं होने से सब्जियां खराब होने लगती हैं।

नगड़ी स्टेशन को बनाएंगे मॉडल स्टेशन

 संजय सेठ ने प्रेस कान्फ्रेंस में बताया कि नगड़ी रेलवे स्टेशन को मॉडल बनाया जाएगा। यह रांची के लिए दिल्ली के आनंद विहार स्टेशन जैसा होगा। रेलवे बोर्ड से इसे स्वीकृति मिल चुकी है। इसका डीपीआर बनाया जा रहा है।

जलाशयों का किया गया सौंदर्यीकरण : रांची जिले के बुढ़मू में 86 लाख की लागत से तिरू फॉल का सौंदर्यीकरण किया गया है। वहीं चुनरी फॉल और बहेया फॉल का भी सौंदर्यीकरण किया गया है। इन दोनों जगहों पर 10-10 लाख की लागत से तोरणद्वार बनाए गए हैं। साथ ही पर्यटकों के लिए भी सुविधाएं दी गईं हैं।

पांच श्मशान घाटों की सूरत बदली

सांसद ने बताया कि जिले के पांच श्मशान घाटों की तस्वीर बदल गई है। चुटिया, हटिया, रातू, नगड़ी और नामकुम की जोरार बस्ती में श्मशान घाटों का सौंदर्यीकरण किया गया है। चुटिया स्वर्णरेखा घाट पर चूल्हा उपलब्ध कराया गया है। वहीं मोक्षद्वार बनाया गया है। उन्होंने बताया कि आने वाले दिनों में जिले के सभी श्मशान घाटों का सौंदर्यीकरण किया जाएगा।

लोकसभा सत्र में कई बातों को रखा

सांसद ने बताया कि लोकसभा के शीतकालीन सत्र के दौरान उन्होंने कई विषयों को पटल पर रखा। इनमें डाक विभाग, आयुष मंत्रालय, रेल मंत्रालय, झारखंड केंद्रीय विवि, किसानों के मामले, महिला और बाल विकास से जुड़े मामले रहे। शून्यकाल के दौरान चांडिल डैम में वाटर फ्लोटिंग सोलर सिस्टम को शुरू कराने का आग्रह किया था। वहीं रांची स्थित खेलगांव को खेल विवि बनाना का प्रस्ताव रखा था। कहा कि 31 जनवरी से बजट सत्र शुरू होने वाला है। इस सत्र में भी राज्य की समस्याओं को उठाने का प्रयास होगा

Edited By Madhukar Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept