अपने पसंदीदा टॉपिक्स चुनें
Dainik Jagran Hindi News
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

भारत ही नहीं इस देश में भी होती है विद्या की देवी की पूजा, देखें सबसे उंची मंदिर की तस्वीरें

7 Photos Published Thu, 05 Oct 2017 11:36 AM (IST)
//www.jagranimages.com/images/goddess_saraswati_pic_2017_10_5_113636_s.jpg

सरस्वती हिंदू धर्म की प्रमुख देवियों में से एक हैं। वे ब्रह्मा की मानसपुत्री हैं जो विद्या की अधिष्ठात्री देवी मानी गई हैं। इनका नामांतर 'शतरूपा' भी है। इसके अन्य पर्याय हैं, वाणी, वाग्देवी, भारती, शारदा, वागेश्वरी इत्यादि। ज्ञान की देवी मानी जाने वाली सरस्वती देवी आराधना केवल भारत और नेपाल में ही नहीं, बल्कि इण्डोनेशिया, बर्मा (म्यांमार), चीन, थाईलैंड, जापान और अन्य देशों में भी होती है। यह भी आपके ध्यान में आया हो कि देवी सरस्वती का सबसे ऊंचा मंदिर भारत में नहीं है! शायद आपको इस बात पर भी हैरत नहीं हो कि संसार में वीणाधारिणी का सबसे खूबसूरत मंदिर भारत में नहीं है।

//www.jagranimages.com/images/saraswati-mandir_2017_10_5_113655_s.jpg

भारत में ज्ञान की देवी के रूप में जिन चित्रों की पूजा कई वर्षों से की जाती रही है, उसी देवी की पूजा एशियाई देश जापान में भी की जाती है। जापान में सरस्वती के कई मंदिर हैं। सनातन धर्म में पूजे जाने वाले कई देवी-देवताओं जैसे गणेश, इंद्र और लक्ष्मी की पूजा वहाँ वर्षों से की जाती रही है। जापान में उन देवों की भी पूजा की जाती है जिन्हें सनातन धर्म के लोग शायद बिसर चुके हैं।

//www.jagranimages.com/images/japan-saraswati_2017_10_5_11378_s.jpg

6वीं7वीं शताब्दी से जापान में बेंजाइटन देवी की पूजा शुरू हुई जो वर्तमान में भी जारी है। बेंजाइटन देवी विशाल कमल के फूल पर विराजित रहती हैं। उनके हाथ में जापान की परंपरागत वीणा जिसे 'वीवा'( वीणा जैसा ही वाद्य यंत्र) मौजूद रहता है। हिंदू देवी सरस्वती संगीत और बुद्धि की देवी हैं, तो जापानियों की बेंजाइटन देवी जल, समय, शब्द, भाषण, वाक्पटुता, संगीत और ज्ञान की देवी हैं।

//www.jagranimages.com/images/benzaiten_2017_10_5_113722_s.jpg

जापान में सरस्वती को 'बेंजाइटन' कहते हैं। जापान में उनका चित्रन हाथ में एक संगीत वाद्य लिए हुए किया जाता है। जापान में वे ज्ञान, संगीत तथा 'प्रवाहित होने वाली' वस्तुओं की देवी के रूप में पूजित हैं। जिस तरह सरस्वती के हाथों में वीणा होती है उसी तरह वो अपने हाथों में जापानी वाद्य यंत्र बिवा लिये होती है।

//www.jagranimages.com/images/eight-armed-benzaiten_2017_10_5_113741_s.jpg

देवी बेंजाइटन या सरस्वती जापान में दो रूपों में पूजी जाती है। एक रूप में उनके आठ हाथ हैं तो पूजी जाने वाली दूसरे रूप में उनके कवल दो हाथें हैं। दो हाथों वाले रूप में वो वीणा जैसी एक जापानी वाद्ययंत्र बिवा धारण किये हुए है।

//www.jagranimages.com/images/saraswati_2017_10_5_113753_s.jpg

माना जाता रहा है कि सरस्वती छठी से आठवीं शताब्दी के बीच जापान आई। वहां उनका आगमन चीन के रास्ते हुआ।

//www.jagranimages.com/images/shrineb-enzaiten_2017_10_5_11384_s.jpg

सरस्वती या बेंजाइटन की सबसे ऊंचा और आकर्षक माने जाने वाला मंदिर जापानी शहर ओसाका के बेनटेन्शु में है। तकरीबन सरस्वती की सौ मंदिरों में यह संसार की सबसे ऊंचा और आकर्षक मंदिर है।

राज्य चुनें
  • उत्तर प्रदेश
  • पंजाब
  • दिल्ली
  • बिहार
  • उत्तराखंड
  • हरियाणा
  • मध्य प्रदेश
  • झारखण्ड
  • राजस्थान
  • जम्मू-कश्मीर
  • हिमाचल प्रदेश
  • छत्तीसगढ़
  • पश्चिम बंगाल
  • ओडिशा
  • महाराष्ट्र
  • गुजरात
आपका राज्य