This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

डायबिटीज के मरीज शुगर कंट्रोल रखने के लिए जरूर खाएं बिना स्टार्च वाली ये 5 सब्जियां

5 Photos Published Tue, 20 Oct 2020 12:14 PM (IST)
1/ 5बिना स्टार्च वाली सब्जियां रखती हैं शुगर कंट्रोल
बिना स्टार्च वाली सब्जियां रखती हैं शुगर कंट्रोल

कार्बोहाइड्रेट्स शरीर में एनर्जी बढ़ाने का काम करते हैं, मगर डायबिटीज के मरीज के खून में शुगर भी बढ़ा देते हैं। इसलिए डायबिटीज (मधुमेह) रोगियों को बिना स्टार्च वाली सब्जियां खाने की सलाह दी जाती है।

2/ 5खीरा है डायबिटीज़ मरीज के लिए बेहद फायदेमंद
खीरा है डायबिटीज़ मरीज के लिए बेहद फायदेमंद

गर्मियों में खीरा खाना सेहत के लिए अच्छा होता है, क्योंकि खीरे में पानी की मात्रा बहुत ज्यादा होती है। खीरे में भी स्टार्च बिल्कुल नहीं होता है। खीरा खाने से ब्लड शुगर कंट्रोल में रहता है, क्योंकि ये फाइबर से भरपूर होता है। इसके अलावा खीरे में 90% से ज्यादा वजन पानी का होता है इसलिए इसे खाने से पेट भी जल्दी और अच्छी तरह भर जाता है।

3/ 5पत्ता गोभी को अलग-अलग तरीकों से खाएं
पत्ता गोभी को अलग-अलग तरीकों से खाएं

पत्ता गोभी में एंटीऑक्सीडेंट्स और विाटमिन्स की मात्रा ज्यादा होती है, इसलिए दुनिया के तमाम देशों में सैकड़ों डिशेज में इसका इस्तेमाल किया जाता है। पत्ता गोभी में फाइबर भी भरपूर होता है, इसलिए डायबिटीज के मरीजों को इसका सेवन करना चाहिए। डायबिटीज के मरीज पत्ता गोभी को काटकर सलाद के रूप में खाएं या सब्जी बनाकर खाएं। इसके अलावा दूसरे खानों में ड्रेसिंग के तौर पर भी पत्ता गोभी का इस्तेमाल कर सकते हैं।

4/ 5भिंडी है फाइबर का अच्छा स्त्रोत
भिंडी है फाइबर का अच्छा स्त्रोत

भिंडी में भी स्टार्च नहीं होता है और डायबिटीज के मरीजों के लिए भिंडी बहुत फायदेमंद होती है। भिंडी में घुलनशील फाइबर होता है इसलिए ये आसानी से पचती है और शुगर को कंट्रोल रखती है। भिंडी में मौजूद तत्व इंसुलिन के उत्पादन को बढ़ाते हैं। इसके अलावा भिंडी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर को फ्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान से बचाते हैं।

राज्य चुनें Jagran Local News
  • उत्तर प्रदेश
  • पंजाब
  • दिल्ली
  • बिहार
  • उत्तराखंड
  • हरियाणा
  • मध्य प्रदेश
  • झारखण्ड
  • राजस्थान
  • जम्मू-कश्मीर
  • हिमाचल प्रदेश
  • छत्तीसगढ़
  • पश्चिम बंगाल
  • ओडिशा
  • महाराष्ट्र
  • गुजरात
आपका राज्य