• पटना शहर में एक बार फिर 'जी आयां नूं' की गूंज, देखें तस्‍वीरें...

    1/5

    शहर में अब 'जी आयां नूं' की गूंज सुनाई देने लगी है। श्रीगुरु गोविंद सिंह महाराज की 350वीं जयंती समारोह के शुकराना के अवसर पर देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं के स्वागत के लिए अधिकारी और कर्मचारी पंजाबी भाषा में वार्तालाप करने लगे हैं।

  • पटना शहर में एक बार फिर 'जी आयां नूं' की गूंज, देखें तस्‍वीरें...

    2/5

    राजधानी में कई जगहों पर 'जी आया नूं' और 'पटना है फिर से तैयार' लिखे होर्डिंग लगने शुरू हो गए हैं। जैसे-जैसे समारोह की तैयारियां हो रही हैं, वैसे-वैसे 'जी आयां नूं, सतश्री अकाल, त्वाडा की हाल है, तुसी साडे मेहमान हो, मैं ठीक हां' आदि शब्दों की चर्चा शुरू हो गई है।

  • पटना शहर में एक बार फिर 'जी आयां नूं' की गूंज, देखें तस्‍वीरें...

    3/5

    अधिकारी समारोह में बाहर से आने वाले पंजाबियों के भव्य स्वागत की तैयारी में हैं। इसी कारण वे आपस में इस तरह की बातें करते मिल जाएंगे। अधिकारी-कर्मचारी आपस में पंजाबी भाषा में संवाद करने की आदत डालने लगे हैं। पंजाबी संवाद सीख श्रद्धालुओं की मेहमाननवाजी की तैयारियां जोरों पर चल रही हैं।

  • पटना शहर में एक बार फिर 'जी आयां नूं' की गूंज, देखें तस्‍वीरें...

    4/5

    16 पेज की एक बुकलेट तैयार कर अधिकारियों और कर्मचारियों को पंजाबी भाषा सिखाई जा रही है। कर्मचारियों व मातहत अधिकारियों के साथ जिलाधिकारी संजय कुमार अग्रवाल ने भी पुन: पंजाबी भाषा में बोलने का अभ्यास शुरू कर दिया है।

  • पटना शहर में एक बार फिर 'जी आयां नूं' की गूंज, देखें तस्‍वीरें...

    5/5

    बीते वर्ष प्रकाश पर्व में जिलाधिकारी पंजाबी भाषा में ही बातें करते मिलते थे। सिख श्रद्धालु जिलाधिकारी द्वारा पंजाबी भाषा में बोलने से काफी प्रभावित थे। इस बार भी प्रकाश पर्व यादगार बने, इसके लिए तमाम कोशिशें की जा रही है।