थामस कप विजेता खिलाड़ी चिराग शेट्टी ने कहा- अब कामनवेल्थ गेम्स है हमारा अगला लक्ष्य

चिराग ने कहा कि थामस कप में प्रतिस्पर्धा कहीं अधिक कड़ी होती है। इसलिए मेरे लिए वह ट्राफी जीतना भारतीय बैडमिंटन की अहम सफलता थी। राष्ट्रमंडल खेल मिक्स्ड टीम स्पर्धा है इसलिए स्वाभाविक रूप से आयाम बदल जाएंगे।

Sanjay SavernPublish: Tue, 31 May 2022 07:41 PM (IST)Updated: Tue, 31 May 2022 07:41 PM (IST)
थामस कप विजेता खिलाड़ी चिराग शेट्टी ने कहा- अब कामनवेल्थ गेम्स है हमारा अगला लक्ष्य

दिल्ली, प्रेट्र। थामस कप में भारत की खिताबी जीत में अहम भूमिका निभाने वाले खिलाड़ियों में शामिल रहे चिराग शेट्टी को पता है कि अब आगे बढ़ने और राष्ट्रमंडल खेलों रूप में अगली चुनौती पर ध्यान लगाने का समय है। भारत ने इसी महीने पहली बार डेविस कप का खिताब जीतकर इतिहास रचा था। टीम ने फाइनल में 14 बार के चैंपियन इंडोनेशिया को एकतरफा मुकाबले में 3-0 से हराया था।

सात्विकसाईराज रेंकीरेड्डी के साथ मिलकर भारत की सर्वश्रेष्ठ पुरुष डबल्स जोड़ी बनाने वाले चिराग ने कहा, 'उस हफ्ते के अहसास को मैं अब भी महसूस कर सकता हूं, लेकिन अब समय आ गया है कि ट्रेनिंग दोबारा शुरू की जाए और अगली चुनौती पर ध्यान लगाया जाए, इसकी शुरुआत राष्ट्रमंडल खेलों से होगी और फिर विश्व चैंपियनशिप तथा एशियाई खेल हैं। पिछली बार राष्ट्रमंडल खेलों में हमने अच्छा प्रदर्शन किया था और थामस कप की जीत से हमें आत्मविश्वास मिलेगा कि हम मिक्स्ड टीम स्पर्धा का स्वर्ण पदक बरकरार रख सकें।'

भारत ने 2018 राष्ट्रमंडल खेलों में पहली बार मिक्स्ड टीम स्वर्ण पदक जीता था और चिराग को लगता है कि भारतीय टीम इस साल भी उस प्रदर्शन को दोहरा सकती है। चिराग ने कहा, 'थामस कप में प्रतिस्पर्धा कहीं अधिक कड़ी होती है। इसलिए मेरे लिए वह ट्राफी जीतना भारतीय बैडमिंटन की अहम सफलता थी। राष्ट्रमंडल खेल मिक्स्ड टीम स्पर्धा है इसलिए स्वाभाविक रूप से आयाम बदल जाएंगे।' उन्होंने कहा, 'इस बार भी मलेशिया की टीम मजबूत होगी। बेहतर रैंकिंग वाले महिला डबल्स और मिक्स्ड डबल्स खिलाड़ियों के कारण उन्हें हमारे से बेहतर वरीयता मिल सकती है, लेकिन अगर हम एक बार फिर वही जोश और जीत की ललक दिखा पाएं तो हम स्वर्ण पदक बरकरार रख सकते हैं।'

चिराग और सात्विक की पुरुष डबल्स जोड़ी भी गोल्ड कोस्ट में जीते रजत पदक के रंग को बेहतर करते हुए स्वर्ण पदक जीतने का प्रयास करेगी। चिराग ने कहा, 'पिछली बार हम सर्किट पर काफी नए थे, लेकिन अब काफी चीजें बदल गई हैं। अब हम शीर्ष-10 में शामिल हैं, हमें शीर्ष खिलाडि़यों के खिलाफ प्रतिस्पर्धा पेश करने और जीतने का अनुभव है। इसलिए इस बार स्वर्ण पदक जीतना हमारी शीर्ष प्राथमिकता होगी।' राष्ट्रमंडल खेलों का आयोजन इस साल बर्मिंघम में 28 जुलाई से आठ अगस्त तक किया जाएगा। दुनिया की आठवें नंबर की भारतीय जोड़ी के सामने सबसे पहले जून में इंडोनेशिया ओपन सुपर 1000 और मलेशिया ओपन 750 टूर्नामेंट की चुनौती होगी।

चोट के कारण थाइलैंड ओपन से हटने वाले चिराग ने कहा, 'हमने इंडोनेशिया सुपर 1000 के लिए हमारी प्रविष्टियां भेजी हैं, लेकिन हम शत प्रतिशत सुनिश्चित नहीं हैं कि हम खेलेंगे क्योंकि सात्विक अब भी घुटने की चोट से उबर रहे हैं। कोई बड़ी समस्या नहीं है, लेकिन सावधानी के तौर पर हम बाहर रह सकते हैं क्योंकि राष्ट्रमंडल खेल अधिक महत्वपूर्ण हैं और हमें वहां सर्वश्रेष्ठ स्थिति में होना होगा। थामस कप के दौरान हम डेढ़ हफ्ता खेले और थके भी हुए थे। हम निश्चित तौर पर मलेशिया ओपन में खेलेंगे।'

Edited By Sanjay Savern

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept