थामस कप में इतिहास रचने उतरेगा भारत, खिताबी मुकाबले में 14 बार के चैंपियन इंडोनेशिया से होगा सामना

इंडोनेशिया का इस टूर्नामेंट में रिकार्ड शानदार रहा है और ये टीम मौजूदा टूर्नामेंट में अब तक अजेय रही है। भारतीय पुरुष टीम ने हालांकि मलेशिया और डेनमार्क जैसी टीम को हराकर पहली बार फाइनल में जगह बनाई है।

Sanjay SavernPublish: Sat, 14 May 2022 09:02 PM (IST)Updated: Sat, 14 May 2022 09:02 PM (IST)
थामस कप में इतिहास रचने उतरेगा भारत, खिताबी मुकाबले में 14 बार के चैंपियन इंडोनेशिया से होगा सामना

बैंकाक, प्रेट्र। आत्मविश्वास से भरी भारतीय पुरुष टीम रविवार को थामस कप बैडमिंटन टूर्नामेंट के फाइनल में 14 बार के चैंपियन इंडोनेशिया के खिलाफ एक बार फिर इतिहास रचने के इरादे से उतरेगी।

गत चैंपियन इंडोनेशिया का इस टूर्नामेंट में रिकार्ड शानदार रहा है और ये टीम मौजूदा टूर्नामेंट में अब तक अजेय रही है। भारतीय पुरुष टीम ने हालांकि मलेशिया और डेनमार्क जैसी टीम को हराकर पहली बार फाइनल में जगह बनाई है और दिखाया है कि वे किसी भी टीम को हराने की क्षमता रखते हैं। भारत के लिए यह एतिहासिक लम्हा है। अपने से बेहतर रैंकिंग वाली टीम के खिलाफ भारतीय खिलाड़ियों में आत्मविश्वास की कोई कमी नहीं दिखी और पिछले दो मैच में पिछड़ने के बावजूद टीम ने मानसिक मजबूती दिखाते हुए जीत दर्ज की। इंडोनेशिया की टीम ने टूर्नामेंट में अब तक कोई मुकाबला नहीं गंवाया है, जबकि भारत को एकमात्र शिकस्त का सामना ग्रुप चरण में चीनी ताइपे के खिलाफ करना पड़ा।

इंडोनेशिया ने नाकआउट चरण में चीन और जापान को हराया तो भारत ने पांच बार के पूर्व चैंपियन मलेशिया और 2016 के विजेता डेनमार्क को शिकस्त दी। भारत के स्टार पुरुष खिलाड़ियों किदांबी श्रीकांत और एसएस प्रणय ने जिम्मेदारी अपने कंधों पर उठाई है और अब तक अपने सभी पांच मुकाबले जीते हैं। सात्विकसाईराज रेंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की पुरुष डबल्स जोड़ी ने भी प्रभावी प्रदर्शन किया है। कृष्ण प्रसाद गारगा और विष्णुवर्धन गौड़ पंजाला की युवा जोड़ी कमजोर कड़ी साबित हुई है लेकिन मलेशिया और डेनमार्क के खिलाफ हार के दौरान इन्होंने कड़ी चुनौती पेश की।

भारत फाइनल में दूसरी डबल्स जोड़ी के रूप में एक बार फिर एमआर अर्जुन और ध्रुव कपिला को उतार सकता है। इस जोड़ी ने राउंड रोबिन प्रारूप में दो मुकाबले खेले जिसमें से एक में उन्होंने जीत दर्ज की, जबकि दूसरे में उन्हें हार का सामना करना पड़ा। दुनिया के नौवें नंबर के खिलाड़ी लक्ष्य सेन ने टुकड़ों में अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन पिछले दो मैच में टीम को सकारात्मक शुरुआत दिलाने में नाकाम रहे हैं। रविवार को लक्ष्य को दुनिया के चौथे नंबर के खिलाड़ी एंथोनी सिनिसुका गिनटिंग से भिड़ना पड़ सकता है और भारतीय खिलाड़ी इंडोनेशिया के खिलाड़ी के खिलाफ पिछले मैच में अपने प्रदर्शन से प्रेरणा लेना चाहेगा जब मार्च में जर्मन ओपन के दौरान उन्होंने सीधे गेम में आसान जीत दर्ज की थी। श्रीकांत के दुनिया के आठवें नंबर के खिलाड़ी जोनाथन क्रिस्टी से भिड़ने की उम्मीद है जो शानदार फार्म में चल रहे हैं। अगर मुकाबला करीबी रहता है तो फिर प्रणय को दुनिया के 24वें नंबर के खिलाड़ी शेसार हिरेन रुस्तावितो का सामना करना पड़ सकता है।

Edited By Sanjay Savern

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept