चारदीवारी तक सिमट कर रह गई कृषक बाजार मेगा परियोजना

कास के नाम पर सुंदरगढ़ जिले में करोड़ों रुपये की योजनाओं की घोषणा एवं शिलान्यास किया जा रहा है।

JagranPublish: Wed, 29 Dec 2021 09:01 AM (IST)Updated: Wed, 29 Dec 2021 09:01 AM (IST)
चारदीवारी तक सिमट कर रह गई कृषक बाजार मेगा परियोजना

जागरण संवाददाता, राउरकेला : विकास के नाम पर सुंदरगढ़ जिले में करोड़ों रुपये की योजनाओं की घोषणा एवं शिलान्यास किया जा रहा है। बाद में अधिकतर योजनाएं कागज कलम तक सीमित रह रही हैं। कुछ योजनाएं चारदीवारी निर्माण तक ही अटक गई हैं। नुआगांव ब्लॉक के फुलझर गांव में मेगा परियोजना का काम रुका हुआ है। यहां कोल्ड स्टोरेज निर्माण की योजना थी। इसमें पांच हजार मीट्रिक टन सामग्री रखी जा सकती थी। दो साल से यहां काम पूरी तरह से ठप है।

सुंदरगढ़ जिले में नुआगांव ब्लॉक सब्जी की खेती के लिए जाना जाता है। यहां से सब्जियां राज्य के विभिन्न जिलों को ही नहीं बल्कि अन्य राज्यों में भी भेजी जाती है। यहां कोल्ड स्टोरेज और गोदाम गृह नहीं होने के कारण भारी मात्रा में सब्जियां हर साल बर्बाद होती है। अधिक उत्पादन के कारण व्यापारी कम दाम पर सब्जी लेकर बाहर बेच रहे हैं। इससे किसानों को भारी नुकसान की हो रहा है। ऐसा भी समय आता है कि किसान अपनी सब्जियां बेचने के बजाय मवेशियों को खिला देते हैं। इस समस्या के समाधान के लिए फुलझर गांव में कोल्ड स्टोरेज और गोदाम गृह निर्माण की योजना थी। इसी तरह कुआरमुडा ब्लॉक में पांच एकड़, राउरकेला के बालू घाट में 13 एकड़, वेदव्यास में 1.92 एकड़, बिसरा के भालुलता में 2.76 एकड़, लाठीकटा ब्लॉक के सुइडीह में 2.81 एकड़ ,राउरकेला के सिविल टाउनशिप में 0.82 एकड़ जमीन सरकार की ओर से आरएमसी को मुहैया कराई गई है। जमीन के लिए तहसीलदार से एनओसी नहीं मिल रही है। वेदव्यास में 1.2 एकड़ जमीन में से तीन गोदाम निर्माण का काम हो चुका है जिस लक्ष्य को लेकर गोदाम गृह निर्माण किया जाना था वह पूरा नहीं हो पाया है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept